RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

Rajasthan Board RBSE Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

RBSE Solutions for Class 8 Science

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

RBSE Class 8 Science कार्य एवं ऊर्जा Intext Questions and Answers

पाठगत प्रश्नोत्तर

पृष्ठ 97.

प्रश्न 1.
एक गेंद को फर्श पर रखकर धक्का दीजिए अर्थात् गेंद पर बल लगाइए। अपने हाथों से दीवार पर धक्का दीजिए। उक्त दोनों क्रियाओं में कौन-सी वस्तु एक स्थान से दूसरे स्थान तक स्थानान्तरित हुई?
उत्तर:
गेंद एक स्थान से दूसरे स्थान तक स्थानान्तरित हुई। यहाँ गेंद ने निश्चित दिशा में कुछ दूरी तय की है। वस्तु द्वारा निश्चित दिशा में तय दूरी को विस्थापन कहते हैं। अतः हम कहते हैं कि गेंद में बल लगाने पर विस्थापन हुआ है जबकि दीवार अपने स्थान पर ही स्थिर रही है, इस कारण दीवार में विस्थापन शून्य है। वस्तु पर बल लगाने पर उसमें विस्थापन उत्पन्न होने की क्रिया को कार्य कहते हैं। पहली वस्तु (गेंद) में विस्थापन हुआ है अतः इस क्रिया में कार्य किया गया है जबकि दूसरी वस्तु (दीवार) में विस्थापन नहीं हुआ है, अतः इस क्रिया को कार्य नहीं कहते हैं। हम कह सकते हैं कि दीवार पर बल लगाने पर किया गया कार्य शून्य है।

पृष्ठ 97.

प्रश्न 2.
वस्तु द्वारा निश्चित दिशा में तय दूरी क्या कहलाती है?
उत्तर:
विस्थापन।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

पृष्ठ 97.

प्रश्न 3.
यदि वस्तु पर बल लगाने पर विस्थापन शून्य हो तब वस्तु पर किया गया कार्य कितना होगा?
उत्तर:
शून्य।

पृष्ठ 98.

प्रश्न 4.
गत्ते के एक खाली कार्टून में केवल दो पुस्तकें रखकर बन्द कर दीजिए। अब इसे रस्सी से बाँधकर पहले दो मीटर तक फर्श पर खींचिए। इसके बाद चार मीटर तक फर्श पर खींचिए।
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 1
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 2
उत्तर:
वस्तु को चार मीटर तक फर्श पर खींचने पर अधिक कार्य किया गया।
स्पष्टत : जब वस्तु द्वारा तय किया गया विस्थापन अधिक होगा तो कार्य अधिक होगा।

पृष्ठ 98.

प्रश्न 5.
वस्तु को अधिक दूर खींचने पर अधिक कार्य क्यों किया गया?
उत्तर:
विस्थापन अधिक होने के कारण अधिक कार्य किया गया।

प्रश्न 6.
आप में कार्य करने की क्षमता होने के कारण आप कई कार्य कर सकते हैं। इसी प्रकार जानवरों में भी कार्य करने की क्षमता होने के कारण वे भी कई कार्य कर सकते हैं। चर्चा करके जन्तुओं के द्वारा किये जाने वाले कार्यों की सूची पाठ्यपुस्तक पृष्ठ संख्या 98 पर दिए गए चित्र की सहायता से बनाइए।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 3

प्रश्न 7.
जिस वस्तु में ऊर्जा होती है, उससे अन्य वस्तुओं पर कार्य किया जाता है। आगे दी गई सारणी में कुछ क्रियाएँ दी गई हैं। इस सारणी में कार्य करने वाली वस्तु तथा वह वस्तु जिस पर कार्य हुआ है, के नाम लिखि
सारणी
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 4
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 5

प्रश्न 8.
वस्तु पर कार्य करने पर वस्तु की ऊर्जा में क्या परिवर्तन होता है?
उत्तर:
वस्तु की ऊर्जा में वृद्धि होती है।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

प्रश्न 9.
कार्य करने वाली वस्तु की ऊर्जा में क्या परिवर्तन होता है?
उत्तर:
कार्य करने वाली वस्तु की ऊर्जा व्यय होती है अतः इसकी ऊर्जा में कमी आती है।

प्रश्न 10.
दैनिक जीवन में भी हम ऊर्जा को एक रूप से दूसरे रूप में बदलते हुए देखते हैं। अपने दैनिक अवलोकन के आधार पर निम्नांकित सारणी की पूर्ति कीजिए।
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 6
सारणी
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 7

पृष्ठ सं. 105

प्रश्न 11.
राजस्थान में कहाँ-कहाँ जल, ताप एवं परमाणु ऊर्जा विद्युत संयंत्र स्थापित हैं? पता लगाकर राजस्थान के मानचित्र पर अंकित कीजिए।
उत्तर:
राजस्थान में स्थापित जल विद्युत संयन्त्र:

  1. माही – जल विद्युत परियोजना, बाँसवाडा
  2. अनूपगढ़ – लघु जल परियोजना, श्रीगंगानगर
  3. मांगरोल – जल विद्युत परियोजना, बारां
  4. सूरतगढ़ लघु जल विद्युत परियोजना, श्रीगंगानगर
  5. पूगल – जलविद्युत परियोजना, बीकानेर
  6. चारणवाला – लघु जल विद्युत परियोजना, बीकानेर
  7. माही – दायीं मुख्य नहर जल विद्युत परियोजना, बाँसवाड़ा
  8. वीसलपुर – लघु जल विद्युत परियोजना, टोंक

राजस्थान में स्थापित तापीय संयन्त्र:

  1. कोटा – थर्मल पावर स्टेशन, कोटा
  2. सूरतगढ़ – तापीय परियोजना, श्रीगंगानगर

राजस्थान में परमाणु ऊर्जा संयन्त्र:

  1. राजस्थान परमाणु शक्ति केन्द्र कोटा
  2. परमाणु ऊर्जा संयन्त्र, रावतभाटा, चित्तौड़गढ़
    RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 8

RBSE Class 8 Science कार्य एवं ऊर्जा Text Book Questions and Answers

सही विकल्प का चयन कीजिए

Question 1.
कार्य का मात्रक है ……………..
(अ) न्यूटन
(ब) किलोग्राम
(स) जूल
(द) वाट।
उत्तर:
(स) जूल

Question 2.
कार्य करने की क्षमता कहलाती है ……………..
(अ) शक्ति
(ब) बल
(स) संवेग
(द) ऊर्जा
उत्तर:
(द) ऊर्जा

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

Question 3.
निम्नांकित में से जीवाश्म ईंधन नहीं है ……………..
(अ) पेट्रोल
(ब) लकड़ी
(स) प्राकृतिक गैस
(द) डीजल।
उत्तर:
(ब) लकड़ी

Question 4.
किस उपकरण में विद्युत ऊर्जा का ध्वनि ऊर्जा में रूपान्तरण होता है ……………..
(अ) विद्युत मोटर
(ब) विद्युत चुम्बक
(स) विद्युत हीटर
(द) विद्युत घंटी।
उत्तर:
(द) विद्युत घंटी।

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए

  1. वस्तुओं में गति के कारण ऊर्जा को …………….. ऊर्जा कहते हैं।
  2. गुलेल के रबर खींचने में उसमें …………….. ऊर्जा संचित हो जाती है।
  3. घरों में प्रयुक्त होने वाला विद्युत सेल में …………….. ऊर्जा का विद्युत ऊर्जा में रूपान्तरण होता है।
  4. ऊर्जा का मात्रक …………….. होता है।

उत्तर:

  1. गतिज ऊर्जा
  2. स्थितिज ऊर्जा
  3. रासायनिक
  4. जूल।

कॉलम (A) तथा कॉलम (B) सुमेलित कीजिए

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 13
उत्तर:
I. (द)
II. (स)
III. (ब)
IV. (अ)

लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
कार्य किसे कहते हैं?
उत्तर:
किसी वस्तु पर किया गया कार्य उस पर लगाए गए बल तथा बल की दिशा में हुए विस्थापन के गुणनफल के बराबर होता है।
कार्य = बल x विस्थापन
कार्य का अन्तर्राष्ट्रीय मात्रक ‘जूल’ है।

प्रश्न 2.
वस्तु पर किया गया कार्य किन – किन बातों पर निर्भर करता है?
उत्तर:

  1. वस्तु पर किया गया कार्य विस्थापन पर निर्भर करता है।
  2. वस्तु पर किया गया कार्य वस्तु पर लगाए गए बल के परिमाण पर निर्भर करता है।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

प्रश्न 3.
अपने दैनिक जीवन के प्रेक्षण के आधार पर दो-दो ऐसी वस्तुओं के उदाहरण दीजिए जिनमें स्थितिज एवं गतिज ऊर्जा होती है।
उत्तर:
स्थितिज ऊर्जा:

  1. चाबी वाले खिलौनों में स्थितिज ऊर्जा होती है।
  2. चाबी वाली घड़ी में स्थितिज ऊर्जा होती हैं।

गतिज ऊर्जा:

  1. बहते हुए जल में गतिज ऊर्जा होती है।
  2. बहती हुई वायु (पवन) में गतिज ऊर्जा होती है।

प्रश्न 4.
ऊर्जा रूपांतरण किसे कहते हैं? ऊर्जा रूपांतरण को तीन उदाहरणों द्वारा स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
ऊर्जा रूपांतरण (Energy Transformation) : ऊर्जा का एक रूप से दूसरे रूप में बदलना ऊर्जा रूपांतरण (Energy Transformation) कहलाता है।

उदाहरणार्थ:

  1. विद्युत हीटर में विद्युत ऊर्जा का ऊष्मीय ऊर्जा में रूपांतरण होता है।
  2. सोलर सेल में प्रकाश ऊर्जा का विद्युत ऊर्जा में रूपांतरण होता है।
  3. डायनमो में यांत्रिक ऊर्जा का रूपांतरण विद्युत ऊर्जा में होता है।

दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
विश्वव्यापी ऊर्जा संकट क्या है? विश्वव्यापी ऊर्जा संकट से बचने के लिए आप कौन – कौन से उपाय कर सकते हैं? वर्णन कीजिए।
उत्तर:
ऊर्जा संकट (Energy Crisis) जीवाश्म ईंधनों के सीमित स्रोत तथा बढ़ती जनसंख्या के लिए आवश्यक ऊर्जा आपूर्ति के कारण एक विश्वव्यापी संकट उत्पन्न हो गया है जिसे ऊर्जा संकट कहते हैं।

विश्वव्यापी ऊर्जा संकट से बचने के उपाय:

  1. विद्युत सम्बन्धित उपकरणों का आवश्यकतानुसार ही प्रयोग करना चाहिए तथा उनके अतिप्रयोग से बचना चाहिए।
  2. खाना पकाने के लिए सौर कुकर, उन्नत चूल्हे, प्रेशर कुकर आदि का प्रयोग करके ईंधन बचायें। रसोई गैस, केरोसिन, स्टोव, चूल्हों, अंगीठी आदि के ईंधन को व्यर्थ नहीं जलने दें।
  3. किसी स्थान पर रुकने या किसी की प्रतीक्षा करते समय वाहनों के इंजन बंद करके पेट्रोल, डीजल को व्यर्थ जलने से बचाएँ। वाहनों की
  4. समय पर जाँच एवं सर्विसिंगं कराएँ तथा उचित मात्रा में हवा एवं ऑयल का प्रयोग करें।
  5. सौर ऊर्जा का अधिकाधिक प्रयोग करके परम्परागत ईंधन को बचा सकते हैं।
  6. जैव अपशिष्ट पदार्थों व गोबर से बायो गैस बनाकर काम में लेने से परम्परागत ऊर्जा स्रोतों का संरक्षण किया जा सकता है।
  7. भवनों के निर्माण में ऐसी तकनीक का प्रयोग होना चाहिए जिससे वे सार्दियों में गर्म तथा गर्मियों में ठण्डे रहें। इस प्रकार हीटर या ए. सी. का प्रयोग कम से कम होगा तथा विद्युत की बचत होगी।
  8. दैनिक जीवन में उपयोगी वस्तुओं के निर्माण में विद्युत या अन्य ऊर्जा का उपयोग होता है। अतः इनका मितव्ययता से उपयोग करना चाहिए।
  9. घरों एवं प्रतिष्ठानों में साधारण बल्ब या ट्यूबलाइट के स्थान पर एल.ई.डी लाइट्स का प्रयोग करने से बिजली की बचत होती है।

प्रश्न 2.
ऊर्जा के परम्परागत एवं गैर परम्परागत स्रोतों में उदाहरणों की सहायता से अंतर स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 9

RBSE Class 8 Science कार्य एवं ऊर्जा Important Questions and Answers

वस्तुनिष्ठ प्रश्न

Question 1.
कार्य का परिमाण निर्भर करता है …………………
(अ) बल पर
(ब) विस्थापन पर
(स) बल तथा विस्थापन दोनों पर
(द) किसी पर नहीं।
उत्तर:
(स) बल तथा विस्थापन दोनों पर

Question 2.
किसी वस्तु में स्थिति विशेष के कारण निहित ऊर्जा कहलाती है …………………
(अ) स्थितिज ऊर्जा
(ब) वैद्युत ऊर्जा
(स) यांत्रिक ऊर्जा
(द) रासायनिक ऊर्जा
उत्तर:
(अ) स्थितिज ऊर्जा

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

Question 3.
डीजल, पेट्रोल आदि में निहित ऊर्जा होती है …………………
(अ) रासायनिक ऊर्जा
(ब) प्रकाश ऊर्जा
(स) विद्युत ऊर्जा
(द) परमाणु ऊर्जा।
उत्तर:
(अ) रासायनिक ऊर्जा

Question 4.
पृथ्वी के गर्भ के तापान्तर के कारण प्राप्त ऊर्जा कहलाती है …………………
(अ) महासागरीय ऊर्जा
(ब) भूगर्भीय ऊर्जा
(स) परमाणु ऊर्जा
(द) जीवाश्म ऊर्जा
उत्तर:
(ब) भूगर्भीय ऊर्जा

Question 5.
ऊर्जा संकट से बचाव का प्रमुख उपाय है …………………
(अ) जीवाश्म ईंधनों का अधिकाधिक प्रयोग करना।
(ब) वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों का अधिकाधिक प्रयोग करना।
(स) वाहनों का अधिकाधिक उपयोग करना।
(द) उपर्युक्त में से कोई नहीं।
उत्तर:
(ब) वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों का अधिकाधिक प्रयोग करना।

रिक्त स्थानों की पर्ति कीजिए

  1. किया गया कार्य आरोपित बल तथा बल की दिशा में विस्थापन का …………….. होता है।
  2. कार्य तथा …………….. का मात्रक जूल होता है।
  3. ध्वनि (कम्पन) में निहित ऊर्जा …………….. कहलाती है।
  4. पेट्रोल, डीजल, प्राकृतिक गैस, कोयला, जीवाश्म ईंधन ऊर्जा के …………….. स्रोत हैं।

उत्तर:

  1. गुणनफल
  2. ऊर्जा
  3. ध्वनि ऊर्जा
  4. परम्परागत।

सुमेलित कीजिएकॉलम

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 10
उत्तर:
1. → E
2. → B
3. → F
4. → A
5. → D
6. → C

अतिलघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
कार्य तथा विस्थापन किस प्रकार निर्भर करते हैं?
उत्तर:
कार्य तथा विस्थापन परस्पर समानुपाती होते हैं। अर्थात् विस्थापन कम होने पर कार्य कम तथा विस्थापन अधिक होने पर कार्य अधिक होता है।

प्रश्न 2.
ऊर्जा किसे कहते हैं? इसका मात्रक लिखिए।
उत्तर:
वस्तु की कार्य करने की क्षमता ऊर्जा कहलाती है। इसका मात्रक जूल होता है।

प्रश्न 3.
ऊष्मीय ऊर्जा किसे कहते हैं?
उत्तर:
जलती हुई वस्तु या गर्म वस्तु में निहित ऊर्जा ऊष्मीय ऊर्जा कहलाती है।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

प्रश्न 4.
रासायनिक ऊर्जा किसे कहते हैं?
उत्तर:
ईंधन में निहित ऊर्जा रासायनिक ऊर्जा कहलाती है।

प्रश्न 5.
विद्युत ऊर्जा किसे कहते हैं?
उत्तर:
आवेशों के प्रवाह से प्राप्त ऊर्जा विद्युत ऊर्जा कहलाती है।

प्रश्न 6.
चुम्बकीय ऊर्जा को परिभाषित कीजिए।
उत्तर:
चुम्बकीय क्षेत्र में निहित ऊर्जा चुम्बकीय ऊर्जा कहलाती है।

प्रश्न 7.
ध्वनि ऊर्जा किसे कहते हैं?
उत्तर:
ध्वनि (कम्पन) में निहित ऊर्जा ध्वनि ऊर्जा कहलाती है।

प्रश्न 8.
परमाणु ऊर्जा किसे कहते हैं?
उत्तर:
नाभिकों के विखण्डन. या संलयन से प्राप्त ऊर्जा परमाणु ऊर्जा कहलाती है।

प्रश्न 9.
विद्युत उत्पादन के लिए किन ऊर्जाओं का प्रयोग किया जाता है?
उत्तर:
विद्युत उत्पादन के लिए जल की गतिज ऊर्जा, कोयले की ऊष्मीय ऊर्जा, पवन ऊर्जा तथा परमाणु ऊर्जा का प्रयोग किया जाता है।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

प्रश्न 10.
ऊर्जा के परम्परागत स्रोतों के उदाहरण लिखिए।
उत्तर:
पेट्रोल, डीजल, प्राकृतिक गैस, कोयला, काष्ठ ईंधन आदि।

प्रश्न 11.
विस्थापन किसे कहते हैं?
उत्तर:
वस्तु द्वारा निश्चित दिशा में तय दूरी को विस्थापन कहते हैं।

प्रश्न 12.
कार्य किसे कहते हैं?
उत्तर:
वस्तु पर बल लगाने पर उसमें विस्थापन उत्पन्न होने की क्रिया को कार्य कहते हैं।

प्रश्न 13.
वस्तु पर किया गया कार्य किन तथ्यों पर निर्भर करता है?
उत्तर:

  1. वस्तु में उत्पन्न विस्थापन एवं
  2. वस्तु पर लगाये गये बल के परिमाण पर।

प्रश्न 14.
यांत्रिक ऊर्जा किसे कहते हैं?
उत्तर:
गतिज ऊर्जा और स्थितिज ऊर्जा को सम्मिलित रूप से यांत्रिक ऊर्जा कहते हैं।

प्रश्न 15.
कार्य एवं ऊर्जा में क्या सम्बन्ध है?
उत्तर:
कार्य एवं ऊर्जा एक दूसरे के तुल्य हैं।

प्रश्न 16.
कार्य एवं ऊर्जा को एक – दूसरे का तुल्य क्यों कहा जाता है?
उत्तर:
जब एक वस्तु द्वारा दूसरी वस्तु पर कार्य किया जाता है तब कार्य करने वाली वस्तु को ऊर्जा खर्च करनी पड़ती है। इस कारण पहली वस्तु की ऊर्जा में कमी आ जाती है और किया गया कार्य दूसरी वस्तु में संचित ऊर्जा के रूप में प्रकट हो जाता है।

प्रश्न 17.
गतिज ऊर्जा किसे कहते हैं?
उत्तर:
गतिशील वस्तुओं में गति के कारण जो ऊर्जा होती है, उसे गतिज ऊर्जा कहते हैं।

प्रश्न 18.
क्या निर्जीव वस्तुओं में भी कार्य करने की क्षमता होती है?
उत्तर:
हाँ, निर्जीव वस्तुओं में भी कार्य करने की क्षमता होती है। तेज हवा से पवन चक्की चलती है जिससे विद्युत ऊर्जा उत्पन्न की जाती है।

लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
कार्य तथा ऊर्जा परस्पर किस प्रकार सम्बन्धित होते हैं? इनका मात्रक समान क्यों होता है?
उत्तर:
किसी वस्तु की कार्य करने की क्षमता उस वस्तु की ऊर्जा कहलाती है। कार्य तथा ऊर्जा एक – दूसरे के समतुल्य होते हैं इसलिए इनका मात्रक ‘जूल’ होता है।

प्रश्न 2.
ऊर्जा के विभिन्न रूप लिखिए।
उत्तर:

  1. ऊष्मा ऊर्जा
  2. रासायनिक ऊर्जा
  3. प्रकाश ऊर्जा
  4. विद्युत ऊर्जा
  5. चुम्बकीय ऊर्जा
  6. ध्वनि ऊर्जा
  7. परमाणु ऊर्जा

प्रश्न 3.
जीवाश्म ईंधन किसे कहते हैं? जीवाश्म ईंधनों के उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
लाखों वर्ष पूर्व पृथ्वी की भूगर्भ हलचल से अनेक जीव – जन्तु और पेड़ – पौधे भूमि के अन्दर दब गए थे। लम्बे समय उपरान्त भूगर्भ के अत्यधिक दाब व ताप के कारण ये पेड़-पौधे पेट्रोलियम एवं खनिज कोयले में बदल गये। इन्हें जीवाश्म ईंधन (Fossil Fuels) कहते हैं। पेट्रोल, डीजल, प्राकृतिक गैस, कोयला आदि ईंधन जीवाश्म ईंधन हैं।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

प्रश्न 4.
भविष्य के विश्वव्यापी ऊर्जा संकट से बचने के लिए क्या आवश्यक है?
उत्तर:
भविष्य के विश्वव्यापी ऊर्जा संकट से बचने के लिए यह आवश्यक है कि ऊर्जा के परम्परागत स्रोतों का: मितव्ययतापूर्वक उपयोग करें। ऊर्जा के वैकल्पिक साधनों को खोजकर उनके उपयोग को बढ़ावा दें।

प्रश्न 5.
परमाणु ऊर्जा संयन्त्र क्या है? इनका क्या उपयोगहै?
उत्तर:
परमाणु या नाभिकीय भट्टी से भी विद्युत का निर्माण किया जाता है। इस प्रकार के संयन्त्र को परमाणु ऊर्जा संयन्त्र कहते हैं। राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले के रावतभाटा में परमाणु ऊर्जा संयन्त्र से विद्युत का उत्पादन किया जा रहा है। परमाणु ऊर्जा के उपयोग से पनडुब्बी भी चलायी जा रही है।

प्रश्न 6.
जल विद्युत संयन्त्र किसे कहते हैं? इनका क्या उपयोग है?
उत्तर:
नदियों पर बड़े – बड़े बाँध बनाकर इसके पानी को ऊँचाई से टरबाइन पर गिराया जाता है। टरबाइन विद्युत जनित्र (जेनरेटर) से जुड़ा होता है जिससे विद्युत ऊर्जा प्राप्त होती है। इस व्यवस्था को जल विद्युत संयन्त्र कहते हैं। इन संयन्त्रों से उत्पादित विद्युत ऊर्जा को बड़े शहरों से लेकर सुदूर गाँवों तक विद्युत आपूर्ति हेतु उपयोग में लिया जा रहा है।

प्रश्न 7.
जैव – मात्रा ऊर्जा किसे कहते हैं? इसका क्या उपयोग है?
उत्तर:
गोबर तथा अन्य जैव अपशिष्टों से प्राप्त ऊर्जा जैव – मात्रा ऊर्जा (Biomass energy) कहलाती है। इसे बायोगैस संयन्त्रों की सहायता से प्राप्त किया जाता है। इसका उपयोग घरेलू ईंधन तथा प्रकाश व्यवस्था करने में किया जाता है।

प्रश्न 8.
निम्नलिखित को परिभाषित कीजिए

  1. महासागरीय ऊर्जा
  2. भूगर्भीय ऊर्जा

उत्तर:

  1. महासागरीय ऊर्जा – महासागरों में आने वाले ज्वार भाटा, तेज लहरों तथा धाराओं से प्राप्त विद्युत ऊर्जा महासागरीय ऊर्जा कहलाती है।
  2. भू – गर्भीय ऊर्जा – पृथ्वी के गर्भ में जाने पर ताप में वृद्धि होती है। इस तापीय ऊर्जा को भी विद्युत में रूपांतरित किया जा सकता है जिसे भूगर्भीय ऊर्जा कहते हैं।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा

प्रश्न 9.
चुम्बकीय स्थितिज ऊर्जा को परिभाषित कीजिए।
उत्तर:
यदि चुम्बकीय क्षेत्र में कोई धारावाही चालक अथवा कोई आवेश गतिमान हो तो उस पर लगने वाले चुम्बकीय बल के कारण उसमें जो कार्य करने की क्षमता उत्पन्न होती है उसे चुम्बकीय स्थितिज ऊर्जा कहते हैं।

प्रश्न 10.
ऊर्जा रूपान्तरण के दो उदाहरण दीजिए।
उत्तर:

  1. जब हम विद्युत स्विच को ऑन करते हैं तो विद्युत बल्ब प्रकाश देने लगता है। इससे विद्युत ऊर्जा का रूपान्तरण ऊष्मीय ऊर्जा तथा प्रकाश ऊर्जा में होता है।
  2. विद्युत हीटर में विद्युत ऊर्जा का रूपान्तरण ऊष्मीय ऊर्जा में होता है।

निबन्धात्मक प्रश्न   

प्रश्न 1.
ऊर्जा के विभिन्न रूपों का संक्षिप्त विवरण उदाहरण सहित सारणीबद्ध कीजिए।
उत्तर:
ऊर्जा के विभिन्न रूप
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 11

प्रश्न 2.
ऊर्जा के विभिन्न स्रोतों का वर्गीकरण चार्ट रूप में प्रस्तुत कीजिए। वर्णन की आवश्यकता नहीं है।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 9 कार्य एवं ऊर्जा 12

प्रश्न 3.
ऊर्जा के गैर परम्परागत या वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों पर प्रकाश डालिए।
उत्तर:
1. सौर ऊर्जा, जल, पवन ऊर्जा, भू – तापीय ऊर्जा, जैव ऊर्जा, महासागरीय ऊर्जा, ऊर्जा के ऐसे स्रोत हैं जिनको गैर परम्परागत या वैकल्पिक ऊर्जा स्रोत कहते हैं। ये ऐसे स्रोत हैं जिनको बार-बार उपयोग किया जा सकता है। इसलिए इनको नवकरणीय ऊर्जा स्रोत भी कहते हैं।

2. सौर ऊर्जा – यह ऊर्जा का कभी न समाप्त होने वाला स्रोत है। सौर ऊर्जा से विद्युत प्राप्त करने, पानी गर्म करने तथा खाना पकाने वाले उपकरण सोलर कुकर, सोलर हीटर बाजार में उपलब्ध हैं।

3. पवन ऊर्जा – पवन ऊर्जा से चलने वाली पवन चक्कियाँ लगाई जा रही हैं। जिनसे आटा चक्की, पानी निकालने एवं विद्युत उत्पादन के लिए पंप-मोटर चलाए जा सकते हैं।

4. जैव ऊर्जा – गोबर एवं अन्य जैव अपशिष्ट से बायो गैस प्राप्त की जाती है। इससे प्राप्त ऊर्जा जैव मात्रा ऊर्जा कहलाती है। जिसको बल्ब जलाने, गैस चूल्हा चलाने में प्रयुक्त किया जाता है।

5. जल ऊर्जा – नदियों पर बड़े – बड़े बाँध बनाकर इसके पानी को ऊँचाई से टरबाइन पर गिराया जाता है। टरबाइन विद्युत जनरेटर से जुड़ा होता है। जिससे विद्युत ऊर्जा प्राप्त होती है।

6. परमाणु भट्टी – परमाणु भट्टी या नाभिकीय भट्टी से विद्युत उत्पादन किया जाता है। इस प्रकार के संयंत्र को परमाणु ऊर्जा संयंत्र कहते हैं। राजस्थान में चित्तौड़गढ़ जिले के रावतभाटा में परमाणु ऊर्जा संयंत्र से विद्युत उत्पादन किया जाता है।

7. भू – गर्भीय ऊर्जा-पृथ्वी के गर्भ में पायी जाने वाली तापीय ऊर्जा को भी विद्युत उत्पादन में प्रयोग किया जाता है।

8. महासागरीय ऊर्जा – महासागरों में आने वाले ज्वारभाटा तेज लहरों तथा धाराओं की ऊर्जा को भी विद्युत उत्पादन के लिए प्रयोग किया जा सकता है। वैकल्पिक ऊर्जा के स्रोत कभी न खत्म होने वाले, प्रदूषण मुक्त, सस्ते, प्रयोग करने में आसान स्रोत हैं, इसलिए परम्परागत ऊर्जा स्रोत की जगह इनका प्रयोग ज्यादा उपयुक्त

Leave a Comment