RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम

Rajasthan Board RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम Textbook Exercise Questions and Answers.

These RBSE Solutions for Class 8 Science in Hindi Medium & English Medium are part of RBSE Solutions for Class 8. Students can also read RBSE Class 8 Science Important Questions for exam preparation. Students can also go through RBSE Class 8 Science Notes to understand and remember the concepts easily.

RBSE Class 8 Science Solutions Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम

RBSE Class 8 Science कोयला और पेट्रोलियम InText Questions and Answers


पृष्ठ 56 

प्रश्न 1. 
क्या हम अपने सभी प्राकृतिक संसाधनों का निरन्तर उपयोग कर सकते हैं? 
उत्तर:
नहीं, हम अपने सभी प्राकृतिक संसाधनों का निरन्तर उपयोग नहीं कर सकते हैं। वन, वन्यजीव, खनिज, कोयला, पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस आदि प्राकृतिक संसाधनों की प्रकृति में सीमित मात्रा है। ये मानवीय क्रियाकलापों द्वारा समाप्त हो सकते हैं।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम  

पृष्ठ 57  

प्रश्न 2. 
कोयला हमें कहाँ से प्राप्त होता है और यह कैसे बनता है? 
उत्तर:
कोयला हमें पृथ्वी के गर्भ से प्राप्त होता है। कोयले का बनना - कोयला उन वनस्पति अवशेषों (पेड़ - पौधों के अवशेषों) से बना है जो करोड़ों वर्षों तक पृथ्वी की सतह के नीचे गहरे दबे हुए थे। वनस्पति अवशेष धीरे - धीरे पृथ्वी के अन्दर दबते गए और उनके ऊपर कीचड़ तथा रेत जैसे तलछट (Sediments) जमा होते गए। ऑक्सीजन की अनुपस्थिति तथा दाब, ताप और जीवाणुओं के मिलेजुले प्रभाव से पेड़ - पौधों के दबे हुए अवशेष कोयले में परिवर्तित हो गए। मृत वनस्पति के धीमे प्रक्रम द्वारा कोयले में परिवर्तन को कार्बनीकरण कहते हैं। 

पृष्ठ 61 

प्रश्न 3. 
क्या प्रयोगशाला में मृत जीवों से कोयला, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस बनाई जा सकती है? 
उत्तर:
नहीं, नहीं बनाई जा सकती। कोयला, पेट्रोलियम तथा प्राकृतिक गैस का बनना एक बहुत धीमा प्रक्रम है तथा इनके बनने की परिस्थितियाँ प्रयोगशाला में उत्पन्न नहीं कीजा सकी।

RBSE Class 8 Science कोयला और पेट्रोलियम Textbook Questions and Answers 


प्रश्न 1. 
सीएनजी और एलपीजी का ईंधन के रूप में उपयोग करने के क्या लाभ हैं?
उत्तर:
सीएनजी तथा एलपीजी का ईंधन के रूप में उपयोग करने के लाभ:

  1. ये वायु प्रदूषण नहीं फैलाती।  
  2. इनका लगभग पूर्ण दहन होता है। 
  3. ये जलने पर कोई अवशेष (राख) नहीं छोड़ती हैं। 
  4. ये अपेक्षाकृत सस्ती तथा आसानी से उपलब्ध हैं। 
  5. इनका ज्वलन ताप कम होता है। 
  6. इन्हें आसानी से संग्रह तथा परिवहन किया जा
  7. इन्हें घरों तथा कारखानों में सीधा जलाया जा सकता है तथा आपूर्ति पाइप लाइनों के माध्यम से की जा सकती हैं। 

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम

प्रश्न 2. 
पेट्रोलियम का कौन - सा उत्पाद सड़क निर्माण हेतु उपयोग में लाया जाता है?
उत्तर:
पेट्रोलियम उत्पाद बिटुमेन का उपयोग सड़क निर्माण हेतु किया जाता है। 

प्रश्न 3. 
वर्णन कीजिए, मृत बनस्पति से कोयला किस प्रकार बनता है? यह प्रक्रम क्या कहलाता है? 
उत्तर:
कोयला उन वनस्पति अवशेषों (पेड़-पौधों के अवशेषों) से बना है जो करोड़ों वर्षों तक पृथ्वी की सतह के नीचे गहरे दबे हुए थे। वनस्पति अवशेष धीरे - धीरे पृथ्वी के अन्दर दबते गए और उनके ऊपर कीचड़ तथा रेत जैसे तलछट (Sediments) जमा होते गए। ऑक्सीजन की अनुपस्थिति तथा दाब, ताप और जीवाणुओं के मिलेजुले प्रभाव से पेड़ - पौधों के दबे हुए अवशेष कोयले में परिवर्तित हो गए। मृत वनस्पति के धीमे प्रक्रम द्वारा कोयले में परिवर्तन को कार्बनीकरण कहते हैं। 

प्रश्न 4. 
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए:
(क) ........................... तथा ........................... जीवाश्म ईधन हैं।
(ख) पेट्रोलियम के विभिन्न संघटकों को पृथक् करने का प्रक्रम ........................... कहलाता है। 
(ग) वाहनों के लिए सबसे कम प्रदूषक ईधन ...........................
उत्तर:
(क) कोयला, पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस 
(ख) परिष्करण 
(ग) सी.एन.जी.। 

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम

प्रश्न 5. 
निम्नलिखित कथनों के सामने सत्य/असत्य लिखिए:
(क) जीवाश्म ईधन प्रयोगशाला में बनाए जा सकते हैं। (सत्य / असत्य) 
(ख) पेट्रोल की अपेक्षा सी.एन.जी. अधिक प्रदूषक ईंधन (सत्य / असंत्य) 
(ग) कोक, कार्बन का लगभग शुद्ध रूप है। (सत्य / असत्य) 
(घ) कोलतार विभिन्न पदार्थों का मिश्रण है। (सत्य / असत्य) 
(ङ) मिट्टी का तेल एक जीवाश्म ईधन नहीं है। (सत्य / असत्य) 
उत्तर:
(क) असत्य, 
(ख) असत्य, 
(ग) सत्य, 
(घ) सत्य, 
(ङ) असत्य। 

प्रश्न 6. 
समझाइए, जीवाश्म ईंधन (Fossil Fuels) समाप्त होने वाले प्राकृतिक संसाधन क्यों हैं? 
उत्तर:
जीवाश्म ईंधन सजीवों के मृत अवशेष से बनते हैं और इन्हें बनने में करोड़ों वर्ष लग जाते हैं। प्रकृति में ये संसाधन सीमित है। इनके बनने की प्रक्रिया अत्यन्त धीमी है जबकि वर्तमान में इनका उपयोग तीव्र गति से हो रहा है। अतः जीवाश्म इंधन समाप्त होने वाले प्राकृतिक संसाधन हैं। 

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम

प्रश्न 7. 
कोक के अभिलक्षणों और उपयोगों का वर्णन कीजिए। 
उत्तर:
कोक के अभिलक्षण:

  • यह एक कठोर, सरंध और काला पदार्थ है। 
  • यह कार्बन का लगभग शुद्ध रूप होता है। 


कोक के उपयोग:

  • कोक का उपयोग बहुत से धातुओं के निष्कर्षण में किया जाता है। इस्पात के औद्योगिक निर्माण में यह उपयोगी है। 
  • कोक का उपयोग एक ईधन के रूप में होता है। कोक बिना धुआँ छोड़े जलता है, इसलिए यह एक अच्छा इंधन है। 
  • कोक का उपयोग जल गैस तथा प्रोड्यूसर गैस जैसे गैसीय इंधन बनाने के लिए होता है।

प्रश्न 8. 
पेट्रोलियम - निर्माण के प्रक्रम को समझाइए। 
उत्तर:
पेट्रोलियम, समुद्र में रहने वाले उन छोटे - छोटे पौधों तथा जन्तुओं के अवशेषों के विघटन से बनता है जो लाखों - करोड़ों वर्ष पहले समुद्र में दब गए थे। समुद्र में रहने वाले छोटे - छोटे जीव, मरने के पश्चात् डूबकर समुद्र की तली पर पहुंच जाते हैं और धीरे - धीरे रेत तथा मिट्टी से ढक जाते हैं।

समुद्र में गहरे दबे हुए ये जीव - अवशेष, दाब तथा ताप के प्रभाव से और बैक्टीरिया की उत्प्रेरक क्रिया के कारण धीरे - धीरे हाइड्रोकार्यनों में परिवर्तित हो जाते हैं जिसे हम पेट्रोलियम कहते हैं। जीव अवशेषों का पेट्रोलियम में परिवर्तन, ऑक्सीजन (या बायु) की अनुपस्थिति में होता है और इसमें लाखों वर्ष का लम्बा समय लगा है। 

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम

प्रश्न 9. 
निम्नलिखित सारणी में 2004 से 2010 तक भारत में विद्युत की कुल कमी को दिखाया गया है। इन आँकड़ों को ग्राफ द्वारा आलेखित करिए। वर्ष में कमीप्रतिशतता को Y-अक्ष पर तथा वर्ष कोX-अक्ष पर आलेखित करिए।

वर्ष

कमी (%)

2004

7.8

2005

8.6

2006

9.0

2007

9.5

2008

9.9

2009

11.2

2010

10.0

उत्तर:

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 5 कोयला और पेट्रोलियम 1

Bhagya
Last Updated on May 17, 2022, 9:36 a.m.
Published May 13, 2022