RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

RBSE Solutions for Class 8 Science

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

RBSE Class 8 Science संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक Intext Questions and Answers

पाठगत प्रश्नोत्तर

पृष्ठ 28.

प्रश्न 1.
बहुलक क्या होते हैं?
उत्तर:
संश्लेषित रेशे छोटी-छोटी इकाइयों से मिलकर एक लम्बी श्रृंखला बनाते है। इस लम्बी श्रृंखला को बहुलक कहते हैं।

पृष्ठ 27.

प्रश्न 2.
हमारे दैनिक जीवन में उपयोग में आने वाली कौन-सी वस्तुएँ प्राकृतिक तथा कौन-सी कृत्रिम रेशों से बनी होती है? वस्तुओं में प्रयुक्त विभिन्न रेशों को सारणीबद्ध कीजिए।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक 1

पृष्ठ 30.

प्रश्न 3.
विभिन्न रेशों से बने कपड़ों को बारी – बारी से अपनी मुट्ठी में दबायें। आप क्या देखते हैं?
उत्तर:
सूती कपड़े पर सिकुड़न दिखाई देती है परन्तु नायलॉन, पॉलिएस्टर व रेयॉन के कपड़ों पर नहीं।

पृष्ठ 31.

प्रश्न 4.
आप विभिन्न प्रकार के रेशे से बने धागों को खींचिए। आप क्या देखते हैं?
उत्तर:
हम देखते हैं नायलॉन पॉलिएस्टर, रेयॉन से बने धागे को सूती धागे की तुलना में खींचना कठिन होता है और ये अधिक मजबूत होते हैं। अत: हम कह सकते हैं कि संश्लेषित धागे मजबूत होते हैं और लम्बे समय तक काम आते हैं।

पृष्ठ 31.

प्रश्न 5.
नॉयलॉन पॉलिएस्टर, टेरीलीन एवं सूती रेशों से बने कपड़ों को पानी में भिगोकर उन्हें रस्सी पर सुखाएँ। आप क्या देखते हैं?
उत्तर:
हम देखते हैं कि नायलॉन, पॉलिएस्टर, टेरीलीन के कपड़े, सूती कपड़े की तुलना में जल्दी सूख जाते हैं अर्थात् संश्लेषित धागे जल को कम सोखते हैं जिससे जल्दी सूख जाते हैं।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

पृष्ठ 31.

प्रश्न 6.
विभिन्न रेशों से बने कपड़े के टुकड़ों को एक-एक कर जलाइए। आप क्या देखते हैं?
उत्तर:
हम देखते हैं कि नायलॉन, पॉलिएस्टर व रेयॉन के टुकड़े तेजी से आग पकड़ लेते हैं।

पृष्ठ 32.

प्रश्न 7.
आप प्लास्टिक की एक बाल्टी में गरम पानी डालकर उसे दबाकर देखिए। आप क्या महसूस करते हैं? अब प्रेशर कुकर में खाना पकाते समय उसके हत्थे को दबाकर देखिए। आप क्या देखते हैं?
उत्तर:

  1. हम महसूस करेंगे कि बाल्टी पहले की तुलना में नरम हो जाती है।
  2. हम देखते हैं कि हत्था न तो गर्म होता है न ही नरम अर्थात् बाल्टी व हत्था दोनों प्लास्टिक के बने होने पर भी अलग – अलग गुण दर्शाते
  3. हैं क्योंकि दोनों की आन्तरिक संरचना भिन्न – भिन्न होती है।

RBSE Class 8 Science संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक Text Book Questions and Answers

सही विकल्प का चयन कीजिए

Question 1.
वह पदार्थ जो सामान्यतः रसोई के नॉनस्टिंक बरतनों को बनाने के काम में लिया जाता है ……………..
(अ) पीवीसी
(ब) पॉलिथीन
(स) टेफ्लॉन
(द) रेयॉन
उत्तर:
(स) टेफ्लॉन

Question 2.
निम्नलिखित में से कौनसे समूह में सभी संश्लेषित रेशे हैं ……………..
(अ) नायलॉन, टेरीलिन, रेयॉन
(ब) एक्रिलिक, रेशम, ऊन
(स) कपास, रेयॉन, ऊन
(द) पीवीसी, पॉलिथीन, बैकलाइट
उत्तर:
(अ) नायलॉन, टेरीलिन, रेयॉन

Question 3.
रसोई के बरतनों के हैण्डल बनाने में सबसे उपयुक्त पदार्थ है ……………..
(अ) पॉलिथीन
(ब) नायलॉन
(स) पीवीसी
(द) बैकेलाइट
उत्तर:
(द) बैकेलाइट

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

Question 4.
निम्नलिखित में से कौनसा सामान्य गुण प्लास्टिक का नहीं है ……………..
(अ) अक्रियाशील
(ब) टिकाऊ
(स) भार में हल्के
(द) विद्युत के सुचालक
उत्तर:
(द) विद्युत के सुचालक

Question 5.
थर्मोप्लास्टिक है ……………..
(अ) बैकेलाइट
(ब) मैलामाइन
(स) पॉलिथीन
(द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
उत्तर:
(स) पॉलिथीन

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिये

  1. संश्लेषित रेशे ……………. अथवा …………….. रेशे भी कहलाते हैं।
  2. रेयॉन को …………… भी कहते हैं।
  3. ऐसीटोनाइटाइल के बहुलकीकरण से …………….. प्राप्त होता है।
  4. संश्लेषित रेशे की भाँति प्लास्टिक भी एक …………….. है।

उत्तर:

  1. कृत्रिम रेशे, मानव निर्मित रेशे
  2. कृत्रिम रेशम
  3. आरलॉन
  4. बहुलक।

निम्नलिखित कॉलम 1 व कॉलम 2 का मिलान कीजिए
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक 2
उत्तर:
1. → ब
2. → द
3. → अ
4. → स।

लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
प्लास्टिक तथा संश्लेषित रेशों को जलाने की सलाह क्यों नहीं दी जाती है?
उत्तर:
प्लास्टिक तथा संश्लेषित रेशों को जलाने पर यह जहरीली गैस उत्पन्न करते हैं जिसके कारण पर्यावरण को काफी नुकसान होता है, वातावरण प्रदूषित होता है। अतः इनको जलाने की सलाह नहीं दी जाती है।

प्रश्न 2.
थर्मोप्लास्टिक किसे कहते हैं? उदाहरण सहित समझाइये।
उत्तर:
थर्मोप्लास्टिक-वे प्लास्टिक जो गर्म करने पर आसानी से मुलायम हो जाते हैं और ठंडा करने पर कठोर हो जाते हैं। इन्हें कई बार नयी आकृतियों में ढाला जा सकता है। जैसे-पॉलीथीन, पीवीसी पॉलिस्टाइरीन आदि। घरों में काम आने वाले मसालों के डिब्बे, पानी के पाइप आदि पीवीसी के बने होते हैं।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

प्रश्न 3.
टेरीकोट दो प्रकार के रेशों से मिलकर बनाये जाते हैं। उन रेशों का नाम लिखिये।
उत्तर:
टेरीकोट निम्न दो प्रकार के रेशों से मिलकर बनाया जाता है

  1. प्राकृतिक रेशे तथा
  2. संश्लेषित (कृत्रिम) रेशे

प्रश्न 4.
जैव अनिम्नीकरणीय पदार्थ किसे कहते हैं?
उत्तर:
जैव अनिम्नीकरणीय पदार्थ – वे पदार्थ जो प्राकृतिक प्रक्रियाओं द्वारा सरलता से विघटित नहीं होते हैं, जैव अनिम्नीकरणीय पदार्थ कहलाते हैं। जैसे टिन, एल्युमीनियम तथा अन्य धातुओं के डिब्बे, प्लास्टिक की थैलियाँ आदि।

प्रश्न 5.
बहुलकीकरण किसे कहते हैं?
उत्तर:
बहुलकीकरण – संश्लेषित रेशे भी छोटी-छोटी इकाइयों से मिलकर एक लम्बी श्रृंखला बनाते हैं। यह लम्बी श्रृंखला बहुलक है और यह प्रक्रिया बहुलकीकरण कहलाती है। इसको अंग्रेजी में पॉलीमर कहते हैं। जैसे-पॉलिथीन, पॉलिएस्टर, पीवीसी, सेलुलोज आदि।

दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
संश्लेषित रेशों का दैनिक जीवन में उपयोग लिखिये।
उत्तर:
मनुष्य द्वारा कृत्रिम विधियों द्वारा बनाये गये रेशे संश्लेषित रेशे कहलाते हैं। जैसे – रेयॉन, नायलॉन आदि। इनके दैनिक जीवन में निम्न उपयोग हैं:

  1. रेयॉन तथा कपास को मिलाकर चादरें तथा कालीन बनाये जाते हैं।
  2. नाइलॉन के द्वारा पैराशूट और चट्टानों पर चढ़ने के लिये रस्से बनाये जाते हैं।
  3. जुराब, ब्रुश, तंबू, परदे आदि नाइलॉन से बनाये जाते हैं।
  4. डेकरॉन का उपयोग वस्त्र बनाने में किया जाता है।
  5. संश्लेषित रेशे अधिक चमकदार तथा मुलायम होते हैं।
  6. संश्लेषित रेशे जल को कम सोखते हैं जिससे जल्दी सूख जाते हैं।

प्रश्न 2.
दैनिक जीवन में “जहाँ तक संभव हो प्लास्टिक के उपयोग से बचिए” इस कथन पर सलाह दीजिए।
उत्तर:
प्लास्टिक बहुत उपयोगी पदार्थ होते हुए भी पर्यावरण हितैषी नहीं है। यह न तो जलकर नष्ट होता है और न ही सूक्ष्मजीवों द्वारा आसानी से अपघटित होता है। लापरवाही के कारण इधर-उधर फेंकी गई पॉलिथीन की थैलियाँ नालियों को रोक देती हैं, उदाहरण के लिए लोग चिप्स, बिस्कुट और अन्य रैपरों में आने वाले खाद्य सामानों के उपयोग के बाद प्लास्टिक को सड़क, उद्यान या पिकनिक स्थल पर फेंक देते हैं। खाद्य अपशिष्ट खाने के प्रक्रम में पशु इन पॉलिथीन की थैलियों और रैपर्स को निगल जाते हैं, ये प्लास्टिक पदार्थ इन पशुओं के श्वसन तन्त्र में बाधा उत्पन्न करते हैं अथवा आमाशय में जमकर एक अस्तर बनाते हैं, जिससे यह उनकी मृत्यु का कारण भी बन सकते हैं। इस समस्या से बचने के लिए प्लास्टिक के प्रयोग से बचें, कपास, कपड़े या जूट से बने थैलों का प्रयोग करें।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

प्रश्न 3.
संश्लेषित रेशा नाइलॉन कैसे बनाया जाता है? नाइलॉन के विभिन्न गुणधर्म लिखिये।
उत्तर:
नाइलॉन ऐडिपिक अम्ल और हेक्सामेथिलीन डाईएमीन से मिलकर बनाया जाता है। यह पूर्ण रूप से संश्लेषित रेशा है। इसके निम्न गुण हैं

  1. नाइलॉन रेशा प्रबल, प्रत्यास्थ और हल्का होता है।
  2. यह चमकीला तथा आसानी से साफ हो जाता है।
  3. इससे बने कपड़ों में सलवटें नहीं पड़ती तथा अधिक समय तक स्थायी रहते हैं।
  4. यह बहुत मजबूत होता है।
  5. यह कम पानी सोखते हैं और जल्दी सूख जाते हैं।
  6. नाइलॉन से बने कपड़ों में कीड़ा नहीं लगता है।
  7. इनकी ज्यादा देखभाल नहीं करनी पड़ती।

क्रियात्मक कार्य

प्रश्न 1.
अपने आस – पास की प्लास्टिक की वस्तुएँ एकत्र कर ताप सुनम्य और ताप दृढ़ प्लास्टिक का चार्ट तैयार कीजिए।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक 3

प्रश्न 2.
संश्लेषित रेशों से बने विभिन्न प्रकार के वस्त्रों के नमूने एकत्रित कर स्क्रेप बुक में लगाइए।
उत्तर:
पुराना कालीन का टुकड़ा, जुराब, तंबू का टुकड़ा, स्लीपिंग बैग का टुकड़ा, पॉलीएस्टर की कमीज का टुकड़ा लेकर विद्यार्थी उन्हें स्क्रेप बुक में लगाएँ।

RBSE Class 8 Science संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक Important Questions and Answers

बहुविकल्पीय प्रश्न

Question 1.
कृत्रिम रेशम है ………………
(अ) नाइलॉन
(ब) रेयॉन
(स) एक्रिलिक
(द) पॉलिएस्टर
उत्तर:
(ब) रेयॉन

Question 2.
प्लास्टिक जो गर्म करने पर आसानी से विकृत हो जाता है और सरलतापूर्वक मुड़ जाता है, कहलाता है ………………
(अ) थर्मोस्लास्टिक
(ब) बैकेलाइट
(स) नाइलॉन
(द) रेयॉन
उत्तर:
(अ) थर्मोस्लास्टिक

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

Question 3.
निम्नलिखित में से जैव अनिम्नीकरणीय पदार्थ है ………………
(अ) कपड़ा (सूती)
(ब) कागज
(स) लकड़ी
(द) प्लास्टिक का बैग
उत्तर:
(द) प्लास्टिक का बैग

Question 4.
बैकलाइट ऐसी प्लास्टिक है जिसे एक बार साँचे में ढाल दिया जाता है तो इसे ऊष्मा देकर गर्म नहीं किया जा सकता है। निम्नलिखित में से ऐसी ही अग्निरोधक प्लास्टिक है ………………
(अ) पी. वी. सी.
(ब) पॉलिथीन
(स) मेलामाइन
(द) नाइक्रोम
उत्तर:
(स) मेलामाइन

Question 5.
प्लास्टिक के प्रकार होते हैं ………………
(अ) 1
(ब) 2
(स) 3
(द) 4
उत्तर:
(ब) 2

निम्नलिखित रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिये

  1. पीवीसी एक ……………… प्लास्टिक है।
  2. बैकेलाइट ऊष्मा तथा विद्युत का ……………… है।
  3. संश्लेषित रेशे की तरह प्लास्टिक भी एक ……. है।
  4. संश्लेषित धागे ……………… होते हैं।
  5. पानी के पाइप ……….. से बनते हैं।

उत्तर:

  1. थर्मोसेंटिग
  2. कुचालक
  3. बहुलक
  4. मजबूत
  5. पीवीसी

सुमेलित कीजिए
RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक 4
उत्तर:
1 → F
2 → C
3. → E
4. → B
5. → D
6. → A

यदि कथन सत्य हो, तो T और गलत है तो कोष्ठक में F लिखिए

  1. ऐसीटोनाइट्राइल के बहुलीकरण से प्राप्त रेशा नाइलॉन
  2. प्लास्टिक एक प्रकार का संश्लेषित बहुलक है।
  3. टेफ्लॉन का उपयोग नॉनस्टिक बरतन बनाने में किया जाता है।
  4. जल निकास व्यवस्था में प्लास्टिक बाधक अपशिष्ट

उत्तर:

  1. False
  2. True
  3. True
  4. True

अतिलघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
प्लास्टिक पर्यावरण के लिये लाभदायक है या हानिकारक?
उत्तर:
हानिकारक।

प्रश्न 2.
प्लास्टिक ऊष्मा और विद्युत की सुचालक है या कुचालक?
उत्तर:
प्लास्टिक ऊष्मा तथा विद्युत दोनों की कुचालक है।

प्रश्न 3.
जैव अनिम्नीकरणीय पदार्थों के दो उदाहरण लिखिए।
उत्तर:

  1. एल्युमिनियम के डिब्बे
  2. प्लास्टिक।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

प्रश्न 4.
रेयॉन क्या है?
उत्तर:
रेयॉन प्राकृतिक स्रोत काष्ठ लुगदी से तैयार किया जाता है, इसे मानव द्वारा निर्मित किया जाता है।

प्रश्न 5.
थर्मोप्लास्टिक के दो उदाहरण लिखिए।
उत्तर:

  1. पी.वी.सी. (PVC)
  2. पॉलिथीन

प्रश्न 6.
बैकलाइट के दो उपयोग लिखिये।
उत्तर:

  1. बिजली के स्विच बनाने में।
  2. बर्तनों के हत्थे बनाने में।

प्रश्न 7.
विस्कोस किसे कहते हैं?
उत्तर:
सेल्युलोज को शुद्ध करके सोडियम हाइड्रॉक्साइड और कार्बन डाइ-आक्साइड मिश्रित कर गाढ़ा द्रव बनाया जाता है। जिसे विस्कोस कहते हैं।

प्रश्न 8.
नाइलॉन के उपयोग बताइये?
उत्तर:
जुराब, दाँत साफ करने के ब्रश, तंबू, स्लीपिंग बैग, पर्दे आदि नाइलॉन से बनाये जाते हैं।

प्रश्न 9.
डेकरॉन किस प्रकार प्राप्त किया जाता है?
उत्तर:
डेकरॉन एथिलीन ग्लाइकॉल तथा टेरीफ्थैलिक अम्ल के बहुलकीकरण से प्राप्त किया जाता है।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

प्रश्न 10.
संश्लेषित रेशों की दो कमियाँ बताइए?
उत्तर:

  1. संश्लेषित रेशे जल्दी आग पकड़ लेते हैं।
  2. संश्लेषित रेशों से बने कपड़े प्राकृतिक रेशों की तरह पसीना नहीं सोखते।

प्रश्न 11.
पॉलीमर किसे कहते हैं?
उत्तर:
बहुलक को अंग्रेजी में पॉलीमर कहते हैं। जो ग्रीक शब्द पॉली (Poly) तथा (Mer) से मिलकर बना है, जहाँ पाली का तात्पर्य ‘अनेक’ तथा ‘मर’ से तात्पर्य ‘इकाई’ अर्थात् ‘अनेक’ इकाई से बना हुआ है।

प्रश्न 12.
आरलॉन कैसे प्राप्त किया जाता है?
उत्तर:
आरलॉन ऐसीटोनाइट्राइल के बहुलीकरण से तैयार किया जाता है। इसका रेशा ऊन के रेशे के समान होता है।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
“संश्लेषित रेशों का औद्योगिक निर्माण वास्तव में वनों के संरक्षण में सहायक हो रहा है।” टिप्पणी कीजिए।
उत्तर:
प्राकृतिक रेशे प्राकृतिक स्रोतों से मिलते हैं, किन्तु संश्लेषित रेशों का निर्माण पेट्रोरसायन से प्राप्त कच्चे माल से होता है। इससे स्पष्ट होता है कि संश्लेषित रेशों के निर्माण में वनों से प्राप्त कच्चा माल प्रयुक्त नहीं होता है। अत: ये वनों के संरक्षण में सहायक हैं। इसके लिए जानवरों का शिकार भी नहीं करना पड़ता है।

प्रश्न 2.
उदाहरण देकर – प्रदर्शित कीजिए कि प्लास्टिक की प्रकृति असंक्षारक होती है।
उत्तर:
प्लास्टिक की प्रकृति असंक्षारक होती है क्योंकि प्लास्टिक जल या नमी के साथ क्रिया नहीं करती है। उदाहरण

पानी प्लास्टिक की बोतलों में रखा जाता है।
अचार तथा अन्य खाने योग्य पदार्थ प्लास्टिक से निर्मित पात्रों में रखे जाते हैं।
अनेक औषधियों तथा रसायनों को भी प्लास्टिक में संचित किया जाता है।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

प्रश्न 3.
थर्मोप्लास्टिक और थर्मोसेटिंग प्लास्टिक के मध्य अन्तर को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
थर्मोप्लास्टिक गर्म करने पर नरम हो जाते हैं अतः इन्हें किसी भी सांचे में ढाला जा सकता है, जिससे इसका उपयोग पुनः किया जा सकता है। उदाहरणपी. वी. सी. (PVC), पॉलिथीन। किन्तु थर्मोसेटिंग प्लास्टिक केवल एक ही बार सांचे में ढाले जा सकते हैं। ये गर्म करने पर नरम नहीं होते हैं अतः इनका उपयोग दुबारा नहीं किया जा सकता है। उदाहरण – बैकेलाइट, मैलामाइन।

प्रश्न 4.
खाद्य पदार्थों का संचयन करने हेतु प्लास्टिक पात्रों के उपयोग के तीन प्रमुख लाभ बताइए।
उत्तर:
प्लास्टिक पात्रों के मुख्य लाभ निम्नलिखित हैं

  1. ये हल्के, मजबूत तथा लम्बे समय तक चलने वाले होते हैं।
  2. ये सभी सम्भव आकारों व रंग-रूप में होते हैं।
  3. प्लास्टिक पात्र ऊष्मा व विद्युत के कचालक होते हैं

और ये भोजन, पानी और वायु से अभिक्रिया नहीं करते।

प्रश्न 5.
प्लॉस्टिक के प्रकार बताते हुए प्रत्येक के दो-दो उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
प्लास्टिक दो प्रकार की होती है

  1. थर्मो-प्लास्टिक
  2. थर्मोसेटिंग प्लास्टिक

थर्मोप्लास्टिक के उदाहरण:

  • पॉलीविनाइल क्लोराइड (PVC)
  • पॉलीथीन

थर्मो सेटिंग प्लास्टिक के उदाहरण:

  • मैलामाइन
  • बैकलाइट

प्रश्न 6.
पॉलिएस्टर के महत्वपूर्ण उपयोग लिखिए।
उत्तर:
पॉलिएस्टर के उपयोग:

  1. पॉलिएस्टर एक संश्लेषित – रेशा है। इस रेशे से बने कपड़े में आसानी से सिलवटें नहीं पड़ती हैं।
  2. इसका उपयोग बोतलों, बर्तन आदि उत्पादों के निर्माण में किया जाता है।
  3. पॉलिकॉट, पॉलिएस्टर तथा कपास का मिश्रण है जिससे कपड़े निर्मित किए जाते हैं।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

प्रश्न 7.
रेयॉन क्या है? रेयॉन के उपयोग पर प्रकाश डालिए।
उत्तर:
रेयॉन रेशम के गुणों वाला एक रेशा है जो मानव द्वारा निर्मित होता है। इसे काष्ठ लुग्दी के रासायनिक उपचार से प्राप्त किया जाता है। इसे कृत्रिम रेशम भी कहते हैं। उपयोग”

  1. रेयॉन को कपास के साथ मिलाकर रेशम की चादर बना सकते हैं।
  2. ऊन के साथ रेयॉन को मिलाकर कालीन या गलीचा तैयार किया जाता है।

प्रश्न 8.
4R का सिद्धान्त क्या है?
उत्तर:
4R के सिद्धान्त से निम्न आशय है

  1. उपयोग कम करिए (Reduce)
  2. पुन: उपयोग करिए (Reuse)
  3. पुनः चक्रित करिए (Recycle)
  4. पुनः प्राप्त कीजिए (Recover)

प्रश्न 9.
डेगची के हत्थे, विद्युत बोर्ड/स्विच आदि थर्मोसेटिंग प्लास्टिक से ही क्यों बनाये जाते हैं?
उत्तर:
डेगची के हत्थे व विद्युत बोर्ड थर्मोसेटिंग प्लास्टिक के बनाये जाते है क्योंकि यह विद्युत के कुचालक होते हैं तथा ऊष्मा और अग्नि को आसानी से सह लेते हैं। ऊष्मारोधी व विद्युतरोधी होने के कारण इनका प्रयोग किया जाता है।

प्रश्न 10.
आरलॉन तथा पॉलिस्टर किस प्रकार बनाये जाते हैं? इनके गुण लिखिये।
उत्तर:
आरलॉन ऐसीटोनाइट्राइल के बहलकीकरण से प्राप्त किया जाता है। इसका रेशा ऊन के रेशों के समान होता है। पॉलिएस्टर एथिलीन ग्लाइकॉल और टेरीफ्थैलिक अम्ल के बहुलकीकरण से प्राप्त किया जाता है। इनसे बने कपड़ों में सलवटें नहीं पड़ती।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
दैनिक क्रिया-कलाप के तरीके बताइये जिनके द्वारा आप पर्यावरण को प्रदूषित होने से रोक सकते हैं।
उत्तर:
हम 4R सिद्धान्त का अनुसरण कर पर्यावरण को प्रदूषित होने से रोक सकते हैं।
1. उपयोग कम करिये (Reduce) – कमरे या घर से बाहर जाते समय हमें बल्ब, टीवी, पंखे इत्यादि को स्विच ऑफ करके बिजली का खर्च कम कर सकते हैं।

2. पुनः उपयोग करिये (Reduce) – बाजार से लायी गई प्लास्टिक या काँच की बॉटलें जैम, सास, च्यवनप्राश की बोटलों को खाली होने पर साफ कर रसोई में मसाले इत्यादि के लिए (Reuse) कर सकते हैं। प्रयोग में लाए गये लिफाफे को फेंकने की बजाय पलटकर Reuse किया जा सकता है।

3. पुनः चक्रित (Recycle) – घर में लोहे एवं प्लास्टिक के टूटे-फूटे सामान को कबाड़ी दे सकते हैं। जो कि कबाड़ को एकत्र कर फैक्ट्री में पुनः चक्रण के लिए ले जाते हैं।

4. पुनः प्राप्त करिये (Recover) – कूड़े-कचरे में फेंकी गयी उपयोगी वस्तुओं को पुनः प्राप्त कर उपयोग में लाना।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

प्रश्न 2.
नाइलॉन के प्रमुख गुण एवं उपयोग लिखिए।
उत्तर:
नाइलॉन के गुण:

  • नाइलॉन के रेशे बहुत अधिक हल्के तथा मजबूत होते हैं।
  • इससे बने कपड़ों में सिलवटें नहीं पड़ती हैं तथा अधिक समय तक स्थायी रहते हैं।
  • ये कम पानी सोखते हैं तथा जल्दी सूख जाते हैं।

नाइलॉन के उपयोग:

  • नाइलॉन रेशों के उपयोग मछली पकड़ने के जाल, पैराशूट का कपड़ा तथा वस्त्र आदि बनाने में किया जाता है।
  • नाइलॉन के रस्से इस्पात से बने तारों से मजबूत होते हैं अत : इनका उपयोग चट्टानों पर चढ़ने के लिए रस्सियों के निर्माण में किया जाता है।
  • नाइलॉन रेशों का उपयोग दाँत साफ करने के ब्रुश, कारों की सीट के पट्टे आदि बनाने में किया जाता है।

प्रश्न 3.
बहुलीकरण क्या है? उदाहरण सहित समझाइए।
उत्तर:
प्रकृति में विभिन्न प्रकार के रेशे पाए जाते हैं जिन्हें प्राकृतिक रेशे कहते हैं, जबकि संश्लेषित रेशों का निर्माण मनुष्य द्वारा प्रयोगशाला में किया जाता है। सभी रेशे चाहे वे प्राकृतिक हों या मानव निर्मित, छोटी – छोटी इकाइयों से मिलकर निर्मित होते हैं। इन छोटी – छोटी इकाइयों को एकलक कहते हैं तथा जब ये मिलकर बड़ी इकाई बनाते हैं तब इस बड़ी इकाई को बहुलक कहते हैं। एकलक इकाइयों द्वारा बहुलक के निर्माण की क्रिया को ही बहुलीकरण कहते हैं। सामान्यतः सभी रेशे बहुलीकरण की प्रक्रिया द्वारा बनते हैं। इनके कुछ उदाहरण निम्नलिखित हैं

  1. पॉलिथीन – यह एथीन नामक एकलक इकाइयों से मिलकर बनता है।
  2. पॉलिएस्टर – इसका निर्माण एस्टर नामक इकाइयों से होता है।
  3. पॉली विनाइल क्लोराइड – यह विनाइल क्लोराइड नामक एकलक इकाइयों से निर्मित होता है।
  4. सेलुलोज – यह ग्लूकोज नामक इकाइयों से निर्मित होता है।

RBSE Solutions for Class 8 Science Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

प्रश्न 4.
प्लास्टिक क्या है? इसके उपयोगों पर प्रकाश डालिये।
उत्तर:
प्लास्टिक – छोटे कार्बनिक अणु मिलकर उच्च अणुभार वाली संरचनाएँ बनाते हैं, उन्हें प्लास्टिक कहते हैं। इसके निम्न उपयोग हैं

  1. बिजली के तारों पर प्लास्टिक का आवरण लगाकर उसे विद्युतरोधी बनाते हैं।
  2. आग बुझाने वाले कर्मचारियों की पोशाक पर मेलामाइन प्लास्टिक की परत चढ़ी होती है जो कि अग्निरोधक है।
  3. नॉनस्टिक तवे व कढ़ाई पर विशिष्ट प्लास्टिक टेफ्लॉन की परत चढ़ी होती है।
  4. सिंचाई हेतु उपयोग में लाये गये पाइप प्लास्टिक के बने होते हैं।
  5. माइक्रोवेव ओवन में विशिष्ट प्लास्टिक वाले पात्रों का प्रयोग किया जाता है।
  6. खाना बनाने के पात्र, कुकर आदि अनेक वस्तुओं के हेन्डिल, प्लास्टिक के बने होते हैं।
  7. घर, दुकान आदि पर वस्तुओं के रखने के लिये डिब्बे आदि सभी प्लास्टिक के बने होते हैं।

प्रश्न 5.
प्राकृतिक रेशों तथा संश्लेषित रेशों में अन्तर स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
प्राकृतिक रेशों तथा संश्लेषित रेशों में अन्तर
प्राकृतिक रेशे:

  • प्राकृतिक रेशे पादपों या जन्तुओं से सीधे प्राप्त होते हैं जैसे रुई, ऊन, रेशम आदि।
  • प्राकृतिक रेशे कम मजबूत होते हैं।
  • प्राकृतिक रेशे अधिक पानी सोखते हैं जिस कारण इन रेशों से निर्मित वस्त्र धोने के पश्चात् सूखने में ज्यादा समय लेते हैं।
  • प्राकृतिक रेशों पर साधारण रसायनों का प्रभाव पड़ता है।

संश्लेषित रेशे:

  • संश्लेषित रेशे रसायनों द्वारा निर्मित किये जाते हैं। जैसे – नाइलॉन, पॉलिएस्टर आदि।
  • संश्लेषित रेशे अधिक मजबूत होते हैं।
  • संश्लेषित रेशे बहुत कम पानी सोखते हैं, इसलिए इनसे बने कपड़े धोने के पश्चात् जल्दी सूख जाते हैं।
  • संश्लेषित रेशों पर रसायनों का कम असर होता है।

Leave a Comment