RBSE Class 8 English Story Writing

RBSE Solutions for Class 8 English

Rajasthan Board RBSE Class 8 English Story Writing

आपके प्रश्न-पत्र में Story Writing के प्रश्न में Outlines देकर या चित्र देकर उस पर Story लिखवाने के लिए प्रश्न पूछा जाता है। Outlines या चित्र को समझकर आप आसानी से कहानी लिख सकते हैं।

1. Union is Strength (Four Bulls)

(Four bulls …….. always together……..a lion…….. wants to kill them …….. plan …….. kills the bulls …….. tells one bull …….. other bulls jealous of you …….. eat fresh grass …….. leave stale……..bull believes …….. goes alone…….. kills and eats up……..the same trick on others …….. kills them one by one.)
RBSE Class 8 English Story Writing - 1

Once there were four bulls n a forest. They always lived together. A lion wanted to kill them but could not succeed. According to his plan he went to one of them and praised him. He told him that other bulls were jealous of him. They always ate fresh grass and left stale for him. The foolish bull believed in it and the next day he went away to graze alone. The lion killed and ate him up. He repeated the same trick on other bulls. The other bulls, too, did the same foolish act. In this way, the lion killed all of them one by one.
Moral : Union is strength.

RBSE Class 8 English Story Writing

एकता ही शक्ति है (चार साँड़)

एक बार एक जंगल में चार साँड़ थे। वे हमेशा साथ रहते थे। एक शेर उन्हें मारना चाहता था परन्तु सफल नहीं हो सका।

अपनी योजना अनुसार वह उनमें से एक के पास गया और उसकी प्रशंसा की। उसने उससे कहा कि दूसरे साँड़ उससे ईर्ष्या करते हैं। वे हमेशा ताजी घास खाते हैं और उसके लिए खराब घास छोड़ देते हैं। मूर्ख साँड़ ने इस पर विश्वास किया और अगले दिन वह अकेला चरने के लिए चला गया। शेर ने उसे मार डाला और खा गया। उसने यही चालाकी दूसरे साँड़ों पर दोहराई। दूसरे साँड़ों ने भी वही मूर्खतापूर्ण कार्य किया। इस प्रकार शेर ने एक-एक करके उन सभी को मार डाला।
शिक्षा – एकता ही शक्ति है।

2. Two Friends and the Bear 

(Two friends …….. travel together …….. promise to help in danger …….. through a forest …….. see a bear …….. one climbs up a tree …….. the other does not know how to climb …….. thinks a plan …….. lies down on the ground …….. holds breath …….. bear smells him…… takes him for dead …… leaves….. friend comes down ……. asks what did bear say ….. don’t rely on false friends …… feels ashamed.)
RBSE Class 8 English Story Writing - 2
Once there lived two friends in a village. One day they travelled together through a forest. They promised to help each other. They saw a bear coming towards them. They were frightened. One of them climbed up a tree. The other one did not know how to climb a tree. He knew the danger. He thought of a plan. He lay down on the ground. He held his breath. The bear smelt him. It took him to be dead and left him. The first friend came down and asked what the bear had told him. The second friend replied, “The bear advised me not to rely on false friends.” The first friend felt ashamed.
Moral : A friend in need is a friend indeed.

RBSE Class 8 English Story Writing

दो मित्र और भालू

एक बार एक गाँव में दो मित्र रहते थे। एक दिन उन्होंने साथ-साथ एक जंगल से यात्रा की। उन्होंने एक-दूसरे की सहायता करने का वायदा किया। उन्होंने एक भालू अपनी ओर आते हुए देखा। वे भयभीत थे। उनमें से एक पेड़ पर चढ़ गया। दूसरा पेड़ पर चढ़ना नहीं जानता था। उसने खतरे को जाना। उसने एक योजना सोची। वह जमीन पर लेट गया। उसने अपनी साँस रोक ली। भालू ने उसे सूंघा। उसने उसे मृत समझा और चला गया। पहला मित्र नीचे आया और पूछा कि भालू ने उससे क्या कहा था। दूसरे मित्र ने उत्तर दिया,”भालू ने मुझे झूठे दोस्तों पर विश्वास न करने की सलाह दी ।” पहला मित्र शर्मिन्दा हुआ।
शिक्षा – जो जरूरत में काम आये, वास्तव में वही सच्चा मित्र है।

3. The Fox and the Grapes

(A fox …….. hungry …….. search of food …….. sees a vine of grapes …….. hanging high …….. goes there …….. jumps again and again …….. not reaches the grapes …….. jumps again …….. runs away saying, “The grapes are sour. They are not worth eating.”)

Once there was a clever fox. He was very hungry. He went out in search of food. Suddenly he saw a vine of grapes. The sight of the grapes made his mouth full of water. He went there. They were hanging high above his head. He jumped again and again to get them. But he could not reach the grapes. He took some rest. He jumped again but it was in vain. He became very tired. He thought for some time then he ran away saying, “The grapes are sour. They are not worth eating.”
Moral : Grapes, out of reach, are said to be sour.
RBSE Class 8 English Story Writing - 3
नोट : ‘Fox’ पुल्लिंग (Masculine) है। अत: Fox के लिए Pronoun – He, him, his का प्रयोग होगा। Vixen स्त्रीलिंग है, इसके लिए She, her, hers का प्रयोग होता है। Fox (नर लोमड़ी/लोमड़), Vixen (मादा लोमड़ी)।।

RBSE Class 8 English Story Writing

लोमड़ी और अंगूर

एक बार एक चालाक लोमड़ी थी। वह बहुत भूखी थी। वह भोजन की तलाश में निकली। अचानक उसने अंगूरों की एक लता देखी। अंगूरों के दृश्य से उसके मुँह में पानी भर आया। वह वहाँ गई। वह उसके सिर के ऊपर ऊँचे लटक रहे थे। वह उन्हें प्राप्त करने के लिए बार-बार उछली। लेकिन वह अंगूरों तक नहीं पहुँच सकी। उसने कुछ आराम किया। वह दुबारा कूदी लेकिन यह सब व्यर्थ निकला। वह बहुत थक गई। उसने कुछ समय सोचा फिर वह यह कहते हुए चली गयी, “अंगूर खट्टे हैं। वे खाने योग्य नहीं हैं।”
शिक्षा – हाथ न आये अंगूर खट्टे बताये जाते हैं।

4. The Wolf and the Lamb

(A wolf……..hungry and thirsty ………sees a lamb drinking water in a stream ………..wants to eat ………….. invents an excuse to eat it…………. making water dirty ………. the lamb down stream ……… invented other pretext ………. lamb abuses last year ……… lamb six months ………. it must be your parents……….kills the lamb.)

One day a hungry and thirsty wolf saw a lamb drinking water in a stream. He wanted to eat the lamb so he went to the lamb and said, “Why are you making water dirty?” The lamb said, “Sir, the water is running from you to me. How can I make water dirty?” The wolf invented other pretext and asked, “Why did you abuse me last year?” The lamb said, “I am six months old, Sir. How could I abuse you?” “Then it must be your parents.” Saying this he killed the lamb.
Moral : Might is right.
RBSE Class 8 English Story Writing - 4

एक दिन एक भूखे-प्यासे भेडिये ने एक मेमने को एक धारा में पानी पीते हुए देखा। वह उसे खाना चाहता था इसलिये वह मेमने के पास गया और बोला, “तुम पानी गंदा क्यों कर रहे हो?” मेमने ने कहा, “श्रीमान् पानी आपकी तरफ से मेरी ओर बह रहा है। मैं पानी कैसे गंदा कर सकता हूँ?” भेड़िये ने अन्य बहाना खोजा और पूछा, “तुमने मुझे पिछले वर्ष गाली क्यों दी थी?” मेमना बोला, “मैं छ: माह का हूँ, श्रीमान्। मैं आपको गाली कैसे दे सकता था? “तब वह तुम्हारे माता-पिता होने चाहिए।” यह कहते हुए उसने मेमने को मार दिया।
शिक्षा – जिसकी लाठी उसकी भैंस।

RBSE Class 8 English Story Writing

5. The Capseller and the Monkeys

(A capseller ……. travels …….. place to place …….. it ………. a hot afternoon …… sleeps …….. under a tree …….. many monkeys …….. climb down …….. take away caps …….. awakes …….. bag empty…….. worried …….. thinks …….. throws away his own cap …….. monkeys do the same …….. collects ………… goes away.)

Once a capseller used to travel from place to place to sell caps. One hot afternoon he slept under a shady tree. There were many monkeys in that tree. They climbed down and took away all his caps. When the capseller woke up, he found his bag empty. By chance he looked up that every monkey had a cap on his head. He thought of a plan. He took off his cap and threw it away on the ground. All the monkeys did the same. The capseller collected his caps and went away.
Moral : Wit triumphs where physical strength fails.
RBSE Class 8 English Story Writing - 5

एक बार एक टोपी बेचने वाला टोपी बेचने के लिए स्थान-स्थान पर जाया करता था। एक गर्मी की दोपहर को वह एक छायादार पेड़ के नीचे सो गया। उस पेड़ पर बहुत-से बन्दर थे। वे नीचे आये और उसकी सारी टोपियों को ले गये। जब टोपी बेचने वाला जागा, उसने अपना थैला खाली पाया। अचानक उसने ऊपर देखा कि प्रत्येक बन्दर के सिर पर टोपी थी। उसने एक तरकीब सोची। उसने अपनी टोपी उतारी और उसे जमीन पर फेंक दिया। सारे बन्दरों ने ऐसा ही किया। टोपी बेचने वाले ने अपनी टोपियाँ इकट्ठी की और चला गया।
शिक्षा – जहाँ शारीरिक शक्ति असफल हो जाती है, वहाँ बुद्धि सफल हो जाती है।

6. The Hare and the Tortoise

(A hare ……. proud of his speed ……. laughs at the tortoise ……. show speed ……. challenges ……. run a race …… race begins …… hare runs fast …… tortoise left behind ……….. thinks to take rest ……. sleeps under a tree……. tortoise goes on……. reaches the goal………….. hare wakes up…………..runs fast ……………… loses the race.)
RBSE Class 8 English Story Writing - 6
Once a hare was proud of his speed. One day he laughed at the tortoise for his slow speed. The tortoise challenged the hare to run a race. Next morning the race began. The hare ran fast. The tortoise was left very far behind. On the way the hare thought to take some rest under a tree. So he lay down. He soon fell fast asleep. The tortoise went on slowly and steadily. He reached the goal. After some time the hare woke up and ran fast. When he reached the goal, he found the tortoise already there. The hare lost the race. He felt very ashamed.
Moral : Slow and steady wins the race.

RBSE Class 8 English Story Writing

खरगोश और कछुआ एक बार एक खरगोश को अपनी चाल पर गर्व था। एक दिन उसने कछुए की मन्द चाल के लिए हँसी उड़ाई। कछुए ने खरगोश को अपने साथ दौड़ने की चुनौती दी। अगली सुबह दौड़ प्रारम्भ हुई। खरगोश तेज दौड़ा। कछुआ बहुत पीछे रह गया। रास्ते में खरगोश ने एक पेड़ के नीचे आराम करने की सोची। इसलिए वह लेट गया। उसे जल्दी ही नींद आ गई। कछुआ धीरे-धीरे और लगातार चलता रहा। वह लक्ष्य तक पहुँच गया। कुछ समय पश्चात् खरगोश उठा और तेज दौड़ा। जब वह लक्ष्य तक पहुँचा, उसने कछुए को पहले ही वहाँ पाया। खरगोश दौड़ हार गया। वह बहुत लज्जित हुआ।
शिक्षा – निरन्तर प्रयत्नशील धीमी गति का धावक दौड़ जीतता है।

7. The Fox and the Crow

(A crow……. foolish …………… in a tree ………. a piece of bread …….. a for clever …….. notices the crow …….. wants to get the piece …….. thinks plan …….. praises ……. beauty ……. Sweet voice ……. requests …….. sing a song …….. flattered …….. begins singing …….. opens its beak …….. falls ground ……… picks up …….. runs away …….. Crow …….. sad.)

Or

(A fox ……. hungry ……. searches ……….. crow sitting ………. piece of bread in its beak …….. thinks of a plan ……. have sweet voice ……… a song …….. crow opens beak …….. bread falls …… fox picks it up ……. eats …….. runs away.)

Once there was a foolish crow sitting in a tree. It had a piece of bread in its beak. A clever fox noticed the crow with a piece of bread. He wanted to get it. He thought of a plan. He praised the crow, “You are a beautiful bird. Your voice is very sweet. Please sing a song for me.” The silly crow felt flattered. It opened its beak to sing. The piece of bread fell down on the ground. The fox picked it up and ran away. Now the crow was sad.
Moral : Beware of flatterers.
RBSE Class 8 English Story Writing - 7

लोमड़ी और कौआ एक बार एक मूर्ख कौआ पेड़ पर बैठा हुआ था। उसकी चोंच में रोटी का टुकड़ा था। एक चालाक लोमड़ी ने कौए को रोटी के टुकड़े के साथ देखा। वह इसे प्राप्त करना चाहती थी। उसने एक तरकीब सोची। उसने कौए की प्रशंसा की, “तुम एक सुन्दर पक्षी हो। तुम्हारी आवाज बड़ी मधुर है। कृपया मेरे लिए एक गीत गाओ।” मूर्ख कौआ झूठी प्रशंसा में आ गया। उसने अपनी चोंच गाने के लिए खोली। रोटी का टुकड़ा जमीन पर गिर पड़ा। लोमड़ी ने उसे उठाया और भाग गई। अब कौआ दुःखी था। शिक्षा – चापलूसों से सावधान रहो।

RBSE Class 8 English Story Writing

8. The Lion and the Mouse

(a lion ………. sleeping under a tree ………. a mouse comes ………… starts jumping on lion’s body ………… wakes up …….. catches ………… gets angry ……….. prays for mercy ……….. leaves ………. hunter ………… caught in a net ………… roars ……… mouse comes ………… cut the net ………… freed ………. happy.)
RBSE Class 8 English Story Writing - 8
One hot day a lion was sleeping under a shady tree. A mouse climbed on his body and started moving there. The lion woke up. He got angry. He caught the mouse in his paw. He was ready to kill it. The mouse begged for mercy. The mouse promised to help him in need. The lion laughed at this. He, however, let the mouse go off. One day the lion was caught in a net. He tried to free himself but in vain. At last he roared loudly. The mouse heard it and came there. It began to cut the net with its teeth. The lion became free. Thus he was rewarded for his kindness.
Moral : Do good, find good.

शेर और चूहा गर्मी के एक दिन एक शेर एक छायादार पेड़ के नीचे सो रहा था। एक चहा उसकी पीठ पर चढ़ा और वहाँ पर घूमने लगा। शेर जाग गया। वह नाराज हो गया। उसने चूहे को अपने पंजे में पकड़ लिया। वह चूहे को मारने के लिए तैयार था। चूहे ने दया के लिए प्रार्थना की। चूहे ने उसकी आवश्यकता के समय मदद करने का वायदा किया। शेर इस पर हँसा। फिर भी उसने चूहे को जाने दिया। एक दिन शेर को जाल में पकड़ लिया गया। उसने स्वतन्त्र होने की कोशिश की, किन्तु व्यर्थ रही। अंत में वह जोर से दहाड़ा। चूहे ने इसे सुना और वहाँ आया। उसने अपने दाँतों से जाल काटना शुरू किया। शेर मुक्त हो गया। इस प्रकार उसे अपनी दयालुता के लिए पुरस्कार मिल गया।
शिक्षा – कर भला, होगा भला।

9. River god and the Woodcutter

(A woodcutter………vert honest……..cutting wood……..tree near the bank of a stream……..axe falls………begins to cry…….. water-god appears…….. brings, an axe of gold…….. refuses to take……..an axe of silver……..refuses…….. an axe of iron…….. happily accepts …….. water-god pleased……..gives away all the three axes.)
RBSE Class 8 English Story Writing - 9
There was a very honest woodcutter. Once he was cutting a tree on the bank of a river. By chance, his axe fell into the water. He began to cry and pray to the river god. The river god appeared there and asked him the reason. The poor woodcutter told him the whole story. The god dived into the river and brought an axe of gold. The woodcutter refused to take it. Then the god brought a silver axe. The woodcutter refused to take it either. Then the god brought an iron axe. He accepted it happily. The god was pleased with his honesty and gave him all the three axes as a reward. Moral : Honesty is the best policy.

RBSE Class 8 English Story Writing

जल-देवता और लकड़हारा एक बहुत ईमानदार लकड़हारा था। एक बार वह एक नदी के किनारे एक पेड़ काट रहा था। संयोग से उसकी कुल्हाड़ी पानी के अन्दर गिर गयी। वह रोने लगा और नदी के देवता से प्रार्थना करने लगा। नदी के देवता वहाँ प्रकट हुए और उन्होंने लकड़हारे से कारण पूछा। निर्धन लकड़हारे ने उन्हें सारी कहानी सुनाई। देवता ने नदी में डुबकी लगाई और एक सोने की कुल्हाड़ी लाए। लकड़हारे ने इसे लेने से इन्कार कर दिया। फिर नदी के देवता एक चाँदी की कुल्हाड़ी लेकर आये। लकड़हारे ने इसे भी लेना अस्वीकार कर दिया। तब नदी के देवता एक लोहे की कुल्हाड़ी लाए। उसने इसे प्रसन्नता से ले लिया। देवता उसकी ईमानदारी से प्रसन्न हुए और पुरस्कार के रूप में तीनों कुल्हाड़ियाँ उसे (लकड़हारे को) दे दी।
शिक्षा – ईमानदारी सर्वोत्तम नीति है।

10. The Tailor and the Elephant

(An elephant ……… goes to drink water……… passes by a tailor’s shop ……….. gives a loaf daily ………. one day his son at shop ………. pricks a needle in his trunk ……… elephant gets angry ………. goes to the river ……….. fills dirty water ……… throws in tailor’s shop ………. spoils all the clothes.)
RBSE Class 8 English Story Writing - 10
There was an elephant in a town. He used to go to the river to drink water. On the way he used to pass by a tailor’s shop. The tailor used to give him a loaf daily. One day the tailor was not at the shop. His son was sitting at the shop. He did not give anything to the elephant but pricked a needle in his trunk. The elephant got angry. He went to the river bank. He filled dirty water in his trunk. He came to the tailor’s shop. He sprayed dirty water in the tailor’s shop. He spoiled all the clothes.
Moral : Tit for tat.

RBSE Class 8 English Story Writing

दर्जी और हाथी एक कस्बे में एक हाथी था। वह नदी पर पानी पीने जाया करता था। रास्ते में वह एक दर्जी की दुकान के पास से गुजरता था। दर्जी उसे प्रतिदिन एक रोटी दे दिया करता था। एक दिन दर्जी दुकान पर नहीं था। उसका पुत्र दुकान पर बैठा हुआ था। उसने हाथी को कुछ नहीं दिया बल्कि उसकी सूंड़ में एक सुई चुभा दी। हाथी क्रोधित हो गया। वह नदी के किनारे गया। उसने अपनी सूंड़ में गन्दा पानी भरा। वह दर्जी की दुकान पर आया। उसने गन्दा पानी दर्जी की दुकान में छिड़क दिया। उसने सारे कपड़े खराब कर दिये।
शिक्षा : जैसे को तैसा।

11. The Hare and the Lion

(A lion ………. kills many animals daily ………. agreement among him and other animals ……….. one animal to go to him daily …….. one day a hare’s turn ………. goes late ………. lion angry ………… hare says another ………. lion detains it ………. shows the lion ………. in the well ……….. sees reflection ………. lion jumps into the well ……… drowned.)
RBSE Class 8 English Story Writing - 10

A lion used to kill many animals daily. Then an agreement was made among him and other animals. One animal would go to him daily for his food. One day it was a hare’s turn. The hare went to the lion very late. The lion was very angry. He asked the hare why it was so late. The hare said that it was detained by another lion. The lion asked the hare to show him that lion. The hare took him to a well. The lion saw his own image in the well. He jumped into it and was drowned to death.
Moral : Wit is greater than might.

RBSE Class 8 English Story Writing

खरगोश और सिंह एक सिंह प्रतिदिन अनेक जानवरों को मारा करता था। तब उसके और अन्य जानवरों के बीच एक समझौता हआ। एक जानवर प्रतिदिन उसके पास उसके भोजन के रूप में जायेगा। एक दिन एक खरगोश की बारी थी। खरगोश सिंह के पास बहुत देर से गया। सिंह बहुत नाराज था। उसने खरगोश से पूछा कि वह इतनी देर से क्यों आया। खरगोश ने कहा कि एक अन्य सिंह द्वारा उसे रोक लिया गया था। सिंह ने खरगोश को वह सिंह दिखाने को कहा। खरगोश सिंह को एक कुएँ के पास ले गया। सिंह ने कुएँ में अपनी ही परछाईं देखी। वह कुएँ में कूद पड़ा और डूबकर मर गया।
शिक्षा : बल से बड़ी बुद्धि होती है।

12. The Hen That Laid Golden Eggs

(A farmer ……………. wonderful hen ……………. a golden egg daily ……………… thinks to get all eggs ………… takes a knife ………… kills ………… cuts stomach ………… looks for eggs ………… no eggs………… Very sad ………… repents.)
RBSE Class 8 English Story Writing - 11
Once there was a farmer. He had a wonderful hen because it laid a golden egg daily. The farmer was very greedy. One day the farmer thought of a plan to get all the eggs. He wanted to be rich very soon. He thought there must be a lot of eggs in the hen’s body. He took a knife and killed the hen. He cut the stomach of the hen. He opened it. He looked for the eggs in its body, but there were no eggs. The foolish farmer was very sad now. He repented for his folly very much.
Moral : Greed is a curse.

सोने के अण्डे देने वाली मुर्गी एक किसान था। उसके पास एक अद्भुत मुर्गी थी क्योंकि वह प्रतिदिन सोने का एक अण्डा देती थी। किसान बड़ा लालची था। एक दिन किसान ने सारे अण्डे पाने के लिए
एक योजना बनाई। वह बहुत जल्दी अमीर बनना चाहता – था। उसने सोचा कि मुर्गी के शरीर में बहुत सारे अण्डे होंगे। उसने एक चाकू लिया और मुर्गी को मार दिया। उसने मुर्गी के पेट को काट दिया। उसने उसको खोला। उसने उसके शरीर में अण्डों को तलाशा किन्तु वहाँ अण्डे नहीं थे। मूर्ख किसान अब बड़ा दुःखी था। उसे अपनी मूर्खता पर बड़ा पछतावा हुआ।
शिक्षा – लालच बुरी बला है।

RBSE Class 8 English Story Writing

13. The Vain Stag

A stag……drinking water in a pool ……….. sees his reflection……feels proud ……… beautiful horns ………. ashamed ugly legs ………. hounds ……… stag runs ……… horns get stuck in bush ……….. the dogs kill him ………… realizes ………. legs save him ……… horns cause death ………. the hounds………….kills him.

One fine morning a stag was drinking water in a pool. By chance he saw his reflection in the water. He felt proud of his beautiful horns. But he was ashamed of his ugly legs.

Suddenly a hunter set his hounds after the stag. The stag ran fast to save his life. But his horns got stuck in the bush. He tried hard to free himself but in vain.

Now the stag realised that his ugly legs could have saved him but his beautiful horns caused his death. In the meantime, the hounds came there and killed him.
Moral : All that glitters is not gold.

घमण्डी बारहसिंगा एक सुहावनी सुबह एक बारहसिंगा एक सरोवर पर पानी पी रहा था। अकस्मात् उसने पानी में अपना प्रतिबिम्ब देखा। उसे अपने सुन्दर सींगों पर गर्व हुआ। लेकिन उसे अपनी भद्दी टाँगों पर लज्जा महसूस हुई।

अचानक एक शिकारी ने अपने शिकारी कुत्ते बारहसिंगे के पीछे छोड़ दिये। बारहसिंगा अपना जीवन बचाने के लिए तेज दौड़ा। लेकिन उसके सींग झाड़ी में फँस गये। उसने स्वयं को मुक्त करने के लिए जोर लगाया लेकिन सब व्यर्थ था।

अब बारहसिंगे ने महसूस किया कि उसकी भद्दी टाँगें उसे बचा लेतीं परन्तु उसके सुन्दर सींग उसकी मृत्यु का कारण बने। इसी बीच शिकारी कुत्ते वहाँ आ पहुँचे और उसे मार दिया।
शिक्षा : हर चमकने वाली वस्तु सोना नहीं होती।

RBSE Class 8 English Story Writing

14. Robert Bruce and the Spider

Robert Bruce ………. king of Scotland ………. loses repeatedly on battlefield ……….. notices a spider ……… climbing up to the roof ………. at last it reaches the roof ………. learns a lesson ……….. fights against the English ………. wins back the liberty of Scotland.

Robert Bruce was the king of Scotland. He fought very hard to free his country from the English. But he failed many times. He was badly defeated. He ran away into the forest and hid in a cave. One day he noticed a spider. It was rying to reach he ceiling. It climbed and fell. But the spider did not lose heart. The spider began to climb up again. It went up steadily inch by inch. At last it reached the roof in the seventh attempt. The king learnt a lesson. He once again raised a strong army. He fought against the English. He won back the liberty of his country.
Moral : Try and try again till you succeed.

रॉबर्ट ब्रूस और मकड़ा रॉबर्ट ब्रूस स्कॉटलैण्ड का राजा था। उसने अंग्रेजों से अपने देश को स्वतंत्र कराने के लिए लड़ाई लड़ी। लेकिन वह कई बार असफल हुआ। उसे बुरी तरह हरा दिया गया। वह जंगल में भाग गया और एक गुफा में छिप गया। एक दिन उसने एक मकड़ा देखा। वह छत पर पहुँचने का प्रयास कर रहा था। वह चढ़ा और गिरा। लेकिन मकड़े ने साहस नहीं खोया। मकड़ा फिर चढ़ने लगा। वह इंच दर इंच लगातार ऊपर चलता गया। आखिर में वह सातवें प्रयास में छत पर पहुँच गया। राजा ने एक सबक सीखा। उसने एक बार पुनः एक सशक्त सेना का गठन किया। वह अंग्रेजों के विरुद्ध लड़ा। उसने अपने देश को पुनः आजाद करा लिया।
शिक्षा – सफलता प्राप्त होने तक प्रयास जारी रखो।

RBSE Class 8 English Story Writing

15. The Old Farmer and His Sons

(An old farmer ………. four sons ……….. quarrelling ……….. the farmer advises ……….. all in vain ………… thinks a plan …….. gives a bundle of sticks ……… none can break ………. unties the bundle ……… gives a stick …….. breaks ……… teaches a lesson …….. realize ……… give up quarrelling.)

Once an old farmer had four quarrelling sons. The father often advised them not to quarrel but all in vain. The farmer was very sad. One day he thought of a plan to teach them a lesson. He gave each of them a bundle of sticks and asked them to break it. Each of them tried his best but no one could break it.

Then the farmer untied the bundle. He gave each a stick to break. Now each of them broke the sticks easily. The farmer taught them to live united like the bundle of sticks. They realized their mistake. Now they gave up quarrelling.
Moral : Union is strength.

वृद्ध कृषक और उसके पुत्र

एक बार एक वृद्ध किसान के चार झगड़ालू पुत्र थे। पिता प्रायः उनको न लड़ने की सलाह देता था किन्तु सब बेकार था। किसान बहुत दु:खी था।

एक दिन उन्हें सबक सिखाने के लिए उसने एक तरकीब सोची। उसने उनमें से प्रत्येक को लकड़ी का एक गट्ठर दिया व इसे तोड़ने को कहा। उनमें से प्रत्येक ने भरसक प्रयास किया लेकिन कोई भी इसे नहीं तोड़ सका। तब किसान ने गट्ठर खोल दिया। उसने प्रत्येक को एक लकड़ी तोड़ने के लिए दी। अब उनमें से प्रत्येक ने लकड़ी को आसानी से तोड़ दिया। किसान ने उनको लकड़ियों के गट्ठर की तरह संगठित होकर रहना सिखाया। उन्होंने अपनी गलती मानी। अब उन्होंने झगड़ना छोड़ दिया।
शिक्षा – संगठन ही शक्ति है।

RBSE Class 8 English Story Writing

Leave a Comment