RBSE Class 7 Sanskrit व्याकरण उपसर्ग ज्ञानम

RBSE Solutions for Class 7 Sanskrit

Rajasthan Board RBSE Class 7 Sanskrit व्याकरण उपसर्ग ज्ञानम

उपसर्ग मूल धातुओं तथा शब्दों के पहले लगने वाले ऐसे शब्द या शब्दांश होते हैं, जिनके लगने से धातु या शब्द के अर्थ में परिवर्तन या विशेषता आ जाती है। जैसेहार शब्द के पहले ‘प्र’ उपसर्ग लगाने से ‘प्रहार’ शब्द बनता है। इसी प्रकार विहार, संहार, उपहार या आहार शब्द बनते हैं। जैसा कि कहा भी गया है-
उपसर्गेण धात्वों बलादन्यत्र नीयते।
विहारहारसंहारप्रहारपरिहारवत्॥

RBSE Class 7 Sanskrit व्याकरण उपसर्ग ज्ञानम

यथा – वि + हृ = विहरति
सम् + हृ = संहरति
उप + हू = उपहरति
परि + हृ = परिहरति

उपसर्ग के प्रकार-

संस्कृत में कुल बाईस उपसर्ग होते हैं। उन्हें यहाँ अर्थ सहित दिया जा रहा है-

  1. प्र – अधिक
  2. परा – उल्टा, तिरस्कार
  3. अप – बुरा, अभाव
  4. सम् – उत्तम, सम्पूर्ण
  5. अनु – पीछे, समान
  6. अव – हीन, नीचे।
  7. निस् – रहित, विपरीत
  8. निर् – निषेध, रहित
  9. दुस् – बुरा, कठिन
  10. दुर् – बुरा, कठिन
  11. वि – विशेष, अभाव
  12. आङ् (आ) – तक
  13. नि – रहित, विशेष
  14. अधि – प्रधान, ऊपर
  15. अपि – हीन
  16. अति – अधिक, ऊपर
  17. सु – अधिक, श्रेष्ठ
  18. उत् – ऊपर, श्रेष्ठ
  19. अभि – पास, इच्छा
  20. प्रति – सामने, अनेक
  21. परि – चारों ओर, पूर्ण
  22. उप – निकट, गौण

RBSE Class 7 Sanskrit व्याकरण उपसर्ग ज्ञानम

अभ्यासार्थ प्रश्नोत्तर

वस्तुनिष्ठप्रश्नाः

प्रश्न 1.
‘वि’ उपसर्ग युक्त पद है
(अ) विषयाणाम्
(ब) विज्ञानम्
(स) विश्वम्
(द) विद्यालयम्
उत्तर:
(ब) विज्ञानम्

प्रश्न 2.
‘अनुरूप’ शब्द में प्रयुक्त उपसर्ग है
(अ) अप
(ब) उप
(स) अनु
(द) वि
उत्तर:
(स) अनु

RBSE Class 7 Sanskrit व्याकरण उपसर्ग ज्ञानम

प्रश्न 3.
‘प्रस्थानम्’ पद में प्रयुक्त उपसर्ग है
(अ) परा
(ब) सम्
(स) आ
(द) प्र
उत्तर:
(द) प्र

प्रश्न 4.
‘सम् उपसर्ग से बनने वाला पद है
(अ) सदाचारः
(ब) सरोवरः
(स) सम्पूर्ण:
(द) सत्कारः
उत्तर:
(स) सम्पूर्ण:

RBSE Class 7 Sanskrit व्याकरण उपसर्ग ज्ञानम

प्रश्न 5.
‘उप’ उपसर्ग युक्त पद नहीं है
(अ) उपकारः
(ब) उपाचार्य:
(स) उपर्युक्तः
(द) उपचारः
उत्तर:
(स) उपर्युक्तः

RBSE Class 7 Sanskrit व्याकरण उपसर्ग ज्ञानम

Leave a Comment