RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

Rajasthan Board RBSE Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

RBSE Solutions for Class 7 Science

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

RBSE Class 7 Science पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन Intext Questions and Answers

पाठगत प्रश्न

पृष्ठ – 35

प्रश्न 1.
क्या सभी परिवर्तन एक जैसे या एक समान होते हैं?
उत्तर:
नहीं। होने वाले सभी परिवर्तन एक जैसे या एक समान नहीं होते हैं। ये दिखाई दिये जाने वाले या होने वाले परिवर्तन दो प्रकार के होते हैं –

  1. स्थायी परिवर्तन – इन्हें अनुत्क्रमणीय परिवर्तन भी कहते हैं।
  2. अस्थायी परिवर्तन – इन्हें उत्क्रमणीय परिवर्तन भी कहते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

पृष्ठ – 36

प्रश्न 2.
क्या आप बर्फ के पानी में बदलने पर इसे पुनः बर्फ में बदल सकते हैं?
उत्तर:
हाँ। बर्फ के पानी में बदल जाने पर इसे पुनः बर्फ में बदला जा सकता है। बर्फ को गर्म करने पर पानी में एवं ठण्डा करने पर पुनः बर्फ में बदला जा सकता है। यह पदार्थ का एक अवस्था से दूसरी अवस्था में परिवर्तन है, जो कि अस्थाई परिवर्तन है।

पृष्ठ – 37

प्रश्न 3.
रबड़ बैंड को खींचकर, छोड़ देने पर क्या यह पुनः पूर्व अवस्था में आ जाता है?
उत्तर:
रबड़ बैंड को खींचने पर लंबा हो जाता है। यदि इस रबड़ को वापस ढीला देकर छोड़ दिया जाये तो यह पुनः पूर्वावस्था में आ जाता है। यह भी एक अस्थाई परिवर्तन है।

प्रश्न 4.
निम्नलिखित सारणी में कुछ परिवर्तन दिए गए हैं। ये परिवर्तन स्थाई अथवा अस्थाई हैं, सारणी में अंकित कीजिए।
उत्तर:
सारणी-परिवर्तन की घटनाएँ
RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 1

पृष्ठ – 40

प्रश्न 5.
ऐसे परिवर्तन जिनमें पदार्थ का आन्तरिक रासायनिक संघटन बदल जाता है, ऐसे परिवर्तन कौनसे होते हैं?
उत्तर:
ऐसे परिवर्तन जिनमें पदार्थ का आन्तरिक रासायनिक संघटन बदल जाता है, उन्हें रासायनिक परिवर्तन कहते हैं।

RBSE Class 6 Social Science पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन Text Book Questions and Answers

सही विकल्प का चयन कीजिए – 

Question 1.
निम्नलिखित में से भौतिक परिवर्तन है …………………..
(अ) जंग लगना
(ब) बर्फ पिघलना
(स) दूध का दही बनना
(द) सेब कटने पर भूरा होना
उत्तर:
(ब) बर्फ पिघलना

Question 2.
निम्नलिखित में से कौनसा रासायनिक परिवर्तन हैं?
(अ) बल्ब का प्रकाशित होना
(ब) चूने के पानी का दूधिया होना
(स) पानी का वाष्प में बदलना
(द) घी का पिघलना
उत्तर:
(ब) चूने के पानी का दूधिया होना

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

Question 3.
घरों में लोहे के दरवाजों पर रंग-रोगन क्यों किया जाता है?
(अ) सूर्य की किरणों से बचाने के लिए
(ब) धूल रहित करने के लिए
(स) जंग लगने से रोकने के लिए
(द) पक्षियों से बचाने के लिए
उत्तर:
(स) जंग लगने से रोकने के लिए

Question 4.
जंग का रासायनिक सूत्र है …………………..
(अ) Fe2O3
(ब) Fe
(स) FeO
(द) FeSO4
उत्तर:
(अ) Fe2O3

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

  1. शक्कर का जलीय विलयन बनाना ……………………..परिवर्तन है।
  2. भौतिक परिवर्तन सामान्यतः ……………………. होते हैं।
  3. गेहूँ के दाने को पीसकर छोटे आकार में बदलना ……………………. परिवर्तन है।
  4. चूने के पानी में कार्बन डाई आक्साइड प्रवाहित होने पर दूधियापन का कारण ……………………. परिवर्तन है।

उत्तर:

  1. भौतिक
  2. अस्थाई
  3. अनुक्रमणीय
  4. रासायनिक

निम्नलिखित कॉलम (1) व कॉलम (2) को सुमेलित कीजिए –

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 2
उत्तर:
1. (ब)
2. (अ)
3. (स)

लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
मैग्नीशियम की ऑक्सीजन से क्रिया लिखिए।
उत्तर:
मैग्नीशियम के फीते के ऑक्सीजन की उपस्थिति में दहन से नया पदार्थ मैग्नीशियम ऑक्साइंड का निर्माण होता है। मैग्नीशियम (Mg) + ऑक्सीजन (O2) → मैग्नीशियम ऑक्साइड (MgO नया पदार्थ)

प्रश्न 2.
क्रिस्टलीकरण किसे कहते हैं?
उत्तर:
किसी पदार्थ के विलयन से उसके शुद्ध तथा बड़े आकार के क्रिस्टला प्राप्त करने की प्रक्रिया क्रिस्टलीकरण कहलाती है। क्रिस्टलीकरण एक भौतिक परिवर्तन है।

प्रश्न 3.
जंग लगने के लिए कौन-कौनसे घटक उत्तरदायी होते हैं?
उत्तर:
जंग लगने के लिए आवश्यक रूप से दो घटक उत्तरदायी होते हैं –

  • ऑक्सीजन
  • नमी (जलवाष्प)

प्रश्न 4.
स्टार्थ एवं आयोडीन की क्रिया से बना पदार्थ कौनसे रंग का होता है?
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 3
प्रश्न 5.
कागज को फाइना कौनसा परिवर्तन है?
उत्तर:
कागज को फाड़ना भौतिक परिवर्तन है क्योंकि कागज फाड़ने में केवल कागज की आकृति एवं आकार में परिवर्तन हो रहा है।

दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन को उदाहरण सहित समझाइए।
उत्तर:
1. भौतिक परिवर्तन – वह परिवर्तन, जिसमें किसी पदार्थ के केवल भौतिक गुणों में परिवर्तन होता है, भौतिक परिवर्तन कहलाता है। इन परिवर्तनों में पदार्थ की आकृति, आकार, अवस्था, ताप, दाब आदि में परिवर्तन होता है। इस प्रकार के परिवर्तन अस्थाई एवं उत्क्रमणीय होते हैं। ऐसे परिवर्तन में कोई नया पदार्थ नहीं बनता है। उदाहरण-बर्फ का पिघलना, नमक का जल में घुलना, बल्ब का प्रकाशित होना, ब्लेड को ज्याला पर गर्म करना, जल से वाष्प बनना, भाप का जल में बदलना आदि।

2. रासायनिक परिवर्तन – वे परिवर्तन, जिनमें पदार्थ. का रासायनिक आन्तरिक संघटन बदल जाता है, अर्थात् पदार्थ अपने मूल रूप से नये पदार्थ में परिवर्तित हो जाता है, रासायनिक परिवर्तन कहलाते हैं। इस परिवर्तन के पश्चात् पदार्थ को अपनी मूल या पूर्वावस्था में नहीं लाया जा सकता है। अतः ये परिवर्तन अनुक्रमणीय एवं स्थाई . होते हैं।

3. उदाहरण – मोमबत्ती का जलना, दूध का दही जमना, टायर जलना, भोजन का पाचन, लोहे पर जंग लगना, त्यौहारों पर पटाखे जलना, मैग्नीशियम के फीते का जलना। ये सभी रासायनिक परिवर्तन हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 2.
क्रिस्टलीकरण को नामांकित चित्र की सहायता से समझाइए।
उत्तर:
क्रिस्टलीकरण एक भौतिक परिवर्तन है। क्रिस्टलीकरण को समझने हेतु निम्न प्रयोग करते हैंप्रयोग-एक बीकर को जल से आधा भर दीजिए। इसमें फिटकरी का पाउडर डालिए। फिटकरी के इस विलयन को गर्म कीजिए। गर्म करते समय फिटकरी का पाउडर तब तक और डालते रहें जब तक वह घुलती है। जब फिटकरी जल में घुलना बन्द हो जाए तब गर्म विलयन को एक कीप में छन्ना कागज लगाकर कांच के बीकर या गिलास में छानिये। अब इसे ठण्डा होने दीजिए। बिलबन के ठंडा होते समय इसे हिलायें-बुलायें नहीं। कुछ समय बाद विलयन का अवलोकन कौजिए।

हमें फिटकरी के छोटे-छोटे क्रिस्टल दिखाई देंगे। इस प्रक्रिया में नया पदार्थ नहीं बनता बल्कि उसी पदार्थ का आकार/आकृति बदलती है यानि क्रिस्टल बनते हैं। अत: क्रिस्टलीकरण भौतिक परिवर्तन का एक उदाहरण यदि हम बड़ा क्रिस्टल प्राप्त करना चाहते हैं तो छोटे क्रिस्टल को धागे से बांधकर विलयन से स्पर्श करते हुए लटकायें।

इससे इस क्रिस्टल के आस-पास अन्य छोटे-छोटे क्रिस्टल आकर जुड़ जाते हैं और क्रिस्टल बड़ा हो जाता इस प्रकार किसी पदार्थ के विलवन से उसके शुद्ध तथा बड़े आकार के क्रिस्टल प्राप्त करने की प्रक्रिया क्रिस्टलीकरण कहलाती है।
RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 4

प्रश्न 3.
जंग लगने की प्रक्रिया को समझाइए एवं इससे बचाव कैसे किया जा सकता है? लिखिए।
उत्तर:
जंग लगने की प्रक्रिया-लौह धातु से बनी सामग्री फावड़े, कुल्हाड़ी, हथौड़ा आदि को नमी एवं वायु में कुछ दिनों तक खुला रख देने पर उनके ऊपर भूरे रंग के पदार्थ की एक परत जम जाती है। इस भूरे रंग के पदार्थ को जंग कहते हैं तथा यह क्रिया जंग लगना कहलाती है। जंग लोहा नहीं होता है।

इस क्रिया में लोहा एक नये पदार्थ जंग (लोहे का ऑक्साइड Fe2O3) में परिवर्तित हो जाता है। जंग लगने की प्रक्रिया को इस प्रकार प्रदर्शित करते हैं लोहा (Fe) + ऑक्सीजन (O2 वायु से) + जल (H2O) → लोहे का ऑक्साइड (Fe2O3) (जंग) गने के लिए ऑक्सीजन तथा नमी (जल वाष्प) दो अनिवार्य घटक हैं। जंग धीरे-धीरे लोहे को नष्ट कर देता

  1. जंग से बचाव – लोहा जहाज, कार, ट्रक, साईकिल, पुल, बड़ी-बड़ी इमारतों जैसे महत्वपूर्ण कार्यों में उपयोग होता है। अत: इसे जंग से बचाना आवश्यक है। इसके निम्न उपाय है –
  2. लोहे को नमी वाले स्थानों पर खुला न छोड़ें।
  3. लोहे पर पेंट, ग्रीस आदि की परत चढ़ायें।
  4. लोहे पर क्रोमियम और जिंक की परत भी चड़ाई जा सकती है।
  5. लोहे से बनी वस्तुओं को समय-समय पर साफ करें एवं काम में लेते रहें।
  6. लोहे में कार्बन, मैंगनीज, निकल एवं क्रोमियम मिलाने पर इस्पात (स्टेनलेस स्टील) प्राप्त होता है, जिसमें जंग नहीं लगता।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 4.
हमारे दैनिक जीवन से जुड़े भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तनों के कोई चार उदाहरणों का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
(1) भौतिक परिवर्तन – भौतिक परिवर्तन के उदाहरण हैं –

  • बर्फ का पिघलना – हम जानते हैं कि जल का ठोस रूप है बर्फ। बर्फ बब सामान्य तापक्रम में आती है तो धीरे-धीरे पिपलना शुरू हो जाती है और पानी बन जाती है।
  • नमक का जल में घुलना – नमक एक लवण है एवं ठोस रूप में होता है। नमक का जल में घुलना भी भौतिक परिवर्तन है। जल को उबालकर नमक पुनः प्राप्त. किया जा सकता है।
  • ब्लेड को ज्वाला पर गर्म करना – यह भी भौतिक परिवर्तन का अच्छा उदाहरण है। ज्वाला से हटाने पर थोड़ी देर में यह ठण्डी हो जाती है।
  • जल से वाष्प बनना – यह भी भौतिक परिवर्तन का उदाहरण है।

(2) रासायनिक परिवर्तन – रासायनिक परिवर्तन के उदाहरण निम्न प्रकार हैं –

  • दही का जमना – दूध में जावन (छाछ) की अल्प मात्रा डालने पर यह जमकर दही का रूप ले लेता है। यह एक रासायनिक परिवर्तन है, क्योंकि इस प्रक्रिया में नया पदार्थ दही बन गया है। यह स्थाई एवं अनुत्क्रमणीय है।
  • त्यौहारों पर पटाखे व फूलझड़ी का जलनात्यौहारों पर हम पटाखे एवं फूलझड़ी जलाते हैं। ये पटाखे एवं फूलझड़ी आवाज करने, छुटने या जलने के बाद राख हो जाते हैं। इसमें भी नया पदार्थ राख बनता है और यह स्थाई और अनुक्रमणीय है। अतः यह एक रासायनिक परिवर्तन है।
  • मोमबत्ती का जलना – मोमबत्ती जलने पर गैस में बदल जाती है, जिसे पुनः प्राप्त नहीं किया जा सकता।
  • मैग्नीशियम के फीते का जलना – मैग्नीशियम का फीता ऑक्सीजन के साथ क्रिया कर अर्थात् जल कर नया पदार्थ मैग्नीशियम ऑक्साइड (MgO) बनाता है।

RBSE Class 6 Social Science पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन Important Questions and Answers

वस्तुनिष्ठ प्रश्न

Question 1.
जल का वाध्य में बदलना कैसा परिवर्तन है?
(अ) स्थाई
(ब) अस्थाई
(स) अ व ब दोनों
(द) दोनों नहीं
उत्तर:
(ब) अस्थाई

Question 2.
निम्न में से उत्क्रमणीय परिवर्तन होते हैं …………………
(अ) अस्थाई
(ब) स्थाई
(स) अ व ब दोनों
(द) दोनों नहीं
उत्तर:
(अ) अस्थाई

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

Question 3.
अनुत्क्रमणीय परिवर्तन होते हैं …………………
(अ) अस्थाई
(ब) उदासीन
(स) स्थाई
(द) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(स) स्थाई

Question 4.
उत्क्रमणीय परिवर्तन कहलाते हैं …………………
(अ) भौतिक परिवर्तन
(ब) रासायनिक परिवर्तन
(स) उदासीन
(द) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(अ) भौतिक परिवर्तन

Question 5.
अनुक्रमणीय परिवर्तन कहलाते हैं …………………
(अ) भौतिक परिवर्तन
(ब) रासायनिक परिवर्तन
(स) उदासीन
(द) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(ब) रासायनिक परिवर्तन

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

Question 6.
निम्न में से स्थायी परिवर्तन का उदाहरण है …………………
(अ) बर्फ का जमना
(ब) भाप बनना
(स) दही का जमना
(द) पी पिपलना
उत्तर:
(स) दही का जमना

Question 7.
निम्न में से अस्थायी परिवर्तन का उदाहरण है …………………
(अ) केरोसीन जलना
(ब) बल्ब का जलना
(स) मोमबत्ती जलना
(द) कोयला जलना
उत्तर:
(ब) बल्ब का जलना

Question 8.
निम्न में लोहे के ऑक्साइड का रासायनिक सूत्र है …………………
(अ) Fe3O2
(ब) Fe2O3
(स) Fe2O2
(द) Fe3O4
उत्तर:
(ब) Fe2O3

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

Question 9.
लासोन यौगिक सूर्य के प्रकाश के सम्पर्क में आने पर किस रंग का यौगिक बनाता है …………………
(अ) हरा
(ब) लाल
(स) पीला
(द) काला
उत्तर:
(ब) लाल

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

  1. क्रिस्टलीकरण ………………….. परिवर्तन है। (भौतिक/रासायनिक)
  2. मैग्नीशियम फीते का दहन ……………….. परिवर्तन है। (भौतिक/रासायनिक)
  3. जंग से बचाव हेतु ……………….. की परत चढ़ाई जाती है। (लोहे/जस्ते)
  4. भौतिक परिवर्तनों में पदार्थों के ……………… गुण बदलते हैं। (भौतिक/रासायनिक)
  5. रासायनिक परिवर्तन में ………………….. पदार्थ बनता (नया/वही)

उत्तर:

  1. भौतिक
  2. रासायनिक
  3. जस्ते
  4. भौतिक
  5. नया।

कॉलम (1) को कॉलम (2) से मिलाकर सुमेलित कीजिए –

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 6
उत्तर:
1. (स)
2. (य)
3. (द)
4. (अ)
5. (ब)

अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
परिवर्तन क्या है?
उत्तर:
परिवर्तन का अर्थ है बदल जाना। पदार्थों की भौतिक एवं रासायनिक अवस्थाएँ बदलना परिवर्तन कहलाता है।

प्रश्न 2.
प्रकृति के आधार पर परिवर्तन कितने प्रकार के होते हैं?
उत्तर:
प्रकृति के आधार पर परिवर्तन दो प्रकार के होते हैं –

  • भौतिक एवं
  • रासायनिक परिवर्तन।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 3.
चशद लेपन या गैल्वेनीकरण किसे कहते हैं?
उत्तर:
लोहे एवं इस्पात को जंग से सुरक्षित रखने के लिए लोहे पर जस्ते (जिंक) धातु की परत चढ़ाने की प्रक्रिया को यशद लेपन या गैल्वेनीकरण कहते हैं।

प्रश्न 4.
क्रिस्टलीकरण से क्या अभिप्राय है?
उत्तर:
किसी पदार्थ के शुद्ध तथा बड़ी आमाप के क्रिस्टल उसी के विलयन से प्राप्त करना क्रिस्टलीकरण कहलाता है।

प्रश्न 5.
भौतिक परिवर्तनों में पदार्थों में क्या-क्या परिवर्तन होते हैं?
उत्तर:
भौतिक परिवर्तनों में पदार्थों की आकृति, आकार, अवस्था, ताप, दाब में परिवर्तन होता है।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 6.
पदार्थों में कौन-कौन से भौतिक गुण होते हैं?
उत्तर:
पदार्थों में आकृति, आकार, अवस्था, ताप, दाव आदि भौतिक गुण उपस्थित होते हैं।

प्रश्न 7.
रासायनिक परिवर्तनों में पदार्थों में क्या-क्या परिवर्तन होते हैं?
उत्तर:
पदार्थों के आन्तरिक रासायनिक संगठन में परिवर्तन होता है एवं नया पदार्थ बनता है।

प्रश्न 8.
रासायनिक परिवर्तनों में पदार्थों के आन्तरिक रासायनिक संगठन बदल जाने पर क्या होता है?
उत्तर:
नया पदार्थ बनता है।

प्रश्न 9.
कुछ भौतिक परिवर्तनों के उदाहरण दीजिए।
उत्तर:

  • बर्फ का पिघलना
  • नमक का जल में पुलंना
  • बल्ब प्रकाशित होना
  • जल से वाष्प ‘बनना
  • भाप का जला में बदलना आदि।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 10.
बल्ब का प्रकाशित होना एक भौतिक परिवर्तन है, क्यों?
उत्तर:
क्योंकि बल्ब के प्रकाशित होने पर इसका ताप बदलता है। अतः यह भौतिक परिवर्तन है।

प्रश्न 11.
क्रिस्टलीकरण एक भौतिक परिवर्तन है, क्यों?
उत्तर:
क्योंकि क्रिस्टलीकरण में उसी मूल पदार्थ से उसी के क्रिस्टल बनते हैं।

प्रश्न 12.
जंग लगने की अभिक्रिया को समीकरण द्वारा प्रदर्शित कीजिए।
उत्तर:
लोहा (Fe) + ऑक्सीजन (O2 वायु से) + जल (H2O) → लोहे का ऑक्साइड (Fe2O2) नया पदार्थ हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 13.
क्या आप चाक के चूर्ण को फिर से चाक बना सकते हैं? ‘
उत्तर:
हाँ। यह एक भौतिक/उत्क्रमणीय परिवर्तन है।

प्रश्न 14.
Fe2O3 किसका रासायनिक सूत्र है?
उत्तर:
लोहा का ऑक्साइड (जंग) का रासायनिक सूत्र हैं।

प्रश्न 15.
स्टेनलेस स्टील के निर्माण में काम आने वाले अवयवों के नाम लिखिए।
उत्तर:
मैंगनीज, कार्बन, निकिल, क्रोमियम, लोहा आदि अवयव काम आते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 16.
खाद्य वस्तुओं का सड़ना, कौनसा परिवर्तन हैं।
उत्तर:
रासायनिक परिवर्तन।

प्रश्न 17.
खाद्य वस्तुओं का सड़ना रासायनिक परिवर्तन है। क्यों?
उत्तर:
सड़ने से खाद्य वस्तुओं का आन्तरिक रासायनिक संगठन बदल जाता है।

प्रश्न 18.
आलू को काटने पर खुला छोड़ देने से इसकी कटी सतह का रंग कुछ देर बाद लाल/भूरा हो जाता है। यह कौनसा परिवर्तन है?
उत्तर:
यह रासायनिक परिवर्तन है।

लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
उत्क्रमणीय तथा अनुक्रमणीय परिवर्तनों को उदाहरण सहित समझाइए।
उत्तर:
परिवर्तन स्थायी या अस्थायी के आधार पर दो प्रकार के होते हैं –
1. उत्क्रमणीय परिवर्तन – ऐसे परिवर्तन जो पुनः विपरीत दिशा में भी किये जा सकते हैं, उत्क्रमणीय परिवर्तन कहलाते हैं। जैसे-जल से बर्फ बनना एवं बर्फ से पुन: जाल बनना।

2. अनुक्रमणीय परिवर्तन – ऐसे परिवर्तन जो पुनः विपरीत दिशा में नहीं किये जा सकते हैं, अनुक्रमणीय परिवर्तन कहलाते हैं। जैसे-दूध से दही बनना (दही से पुनः दूध नहीं बनाया जा सकता है)

प्रश्न 2.
जल की विभिन्न अवस्थाओं के परिवर्तन को आरेख द्वारा प्रदर्शित कीजिए।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 7

प्रश्न 3.
लौह पदार्थों के कई बार जंग क्यों लग जाती है?
उत्तर:
लोहे के एक टुकड़े को कुछ दिनों के लिए खुले में छोड़ देने पर इसके ऊपर भूरे रंग की एक परत जम जाती है। इस भूरे रंग के पदार्थ को जंग कहते हैं। जंग लगने का मुख्य कारण लोहे का ऑक्सीजन तथा नमी के सम्पर्क में आना है। लोहा खुली हवा एवं नमी के सम्पर्क में आने पर क्रिया कर लोह ऑक्साइड में परिवर्तित हो जाता है जो कि जंग लगना कहलाता है।

प्रश्न 4.
जंग लगने से बचाव के तरीके बताइए।
उत्तर:

  • जंग लगने से बचाने के लिए लोहे की वस्तुओं को ऑक्सीजन एवं जल के सम्पर्क से बचाना चाहिए।
  • लोहे की गीली या नम वस्तुओं को सूखे कपड़े से पोछकर, सुखाकर सुरक्षित स्थान पर रखना चाहिए।
  • लोहे की वस्तुओं पर नियमित रूप से पेन्ट (colour) अथवा ग्रीस की परत चढ़ानी चाहिए।
  • लोहे के ऊपर क्रोमियम या. जस्ते की परत चढ़ानी चाहिए।
  • लोहे की वस्तुओं को काम में लेते रहना चाहिए।

प्रश्न 5.
स्टेनलेस स्टील क्या है? इसकी विशेषताएं बताइए।
उत्तर:
लोहा, कार्बन, क्रोमियम, निकिल तथा मैंगनीज आदि धातुओं को मिलाकर जो नया पदार्थ तैयार किया जाता है वह स्टेनलेस स्टील कहलाता है। स्टेनलेस स्टील के जंग नहीं लगती है, वजन में हल्का एवं उपयोग में आसान होता है। इससे रसोई घर में काम आने वाले बर्तन एवं अन्य घरेलू उत्पाद तथा मशीनें बनायी जाती हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 6.
अपने आस – पास देखे जाने वाले कुछ परिवर्तनों के नाम बताइए।
उत्तर:

  • दूध से दही बनना
  • पानी में नमक का
  • घुलना
  • दही का खट्टा होना
  • जल का भाप बनना
  • दिन-रात का होना
  • जल का बर्फ बनना
  • लोहे में जंग लागना
  • पंखे का चलना
  • बल्ब प्रकाशित होना
  • आसमान में बिजली चमकना
  • भोजन का पाचन होना।

प्रश्न 7.
कटे आलू की सतह पर आयोडीन विलयन डालने से क्या होता है? यह कौनसा परिवर्तन है?
उत्तर:
कटे आलू की सतह पर आयोडीन विलयन डालने पर आलू की सतह का रंग नीला बैंगनी हो जाता हैं।
आलू (स्टार्च) + आयोडीन → बैंगनी पदार्थ (नया पदार्थ) इस क्रिया में नए पदार्थ का निर्माण हुआ है। अतः यह परिवर्तन रासायनिक परिवर्तन है।

प्रश्न 8.
रासायनिक परिवर्तन के कुछ उदाहरणों के रासायनिक समीकरण लिखिए।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 8

(ii) स्टार्च (आलू) + आयोडीन → बैंगनी पदार्थ (नया पदार्थ)

(iii) मैग्नीशियम (Mg) + ऑक्सीजन (O2) → मैग्नीशियम ऑक्साइड (MgO) (नया पदार्थ)

(iv) लोहा (Fe) + ऑक्सीजन (O2 वायु से) + जल (H2O) → Fe2O3 (लोहे का आक्साइड) (नया पदार्थ) उपरोक्त सभी अभिक्रियाओं में उत्पाद के रूप में नया पदार्थ बन रहा है। इससे निष्कर्ष निकलता है कि ये सभी रासायनिक परिवर्तन हैं।

प्रश्न 9.
कटे सेब को वायु में खुला छोड़ने पर रंग क्यों बदल जाता है?
उत्तर:
सेब (Apple) में लौह तत्व होता है, जिसके कारण सेब को काटने के पश्चात् उसे वायु में थोड़ी देर खुला पड़ा रहने दें तो, सेब में उपस्थित लोहा, वायु की ऑक्सीजन से क्रिया करके लोहे का ऑक्साइड (आयरन ऑक्साइड) बनाता है। फलस्वरूप उसकी कटी हुई सतह का रंग बदल कर लाल भूरा हो जाता है। यह एक रासायनिक परिवर्तन है।

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 10.
मेंहदी हाथों पर किस गुण के आधार पर रचकर रंग देती है?
उत्तर:
मेंहदी में क्वीनान, नेपथाक्वीनान तथा लासोन जैस प्रमुख रासायनिक यौगिक होते हैं। लासोन स्वयं रंगहीन होता है, किन्तु यह जब वायु या सूर्य के प्रकाश के सम्पर्क में आता है तो लाल रंग का एक यौगिक बनाता है। इसी कारण के आधार पर मेंहदी रचती है। यह एक रासायनिक परिवर्तन है।

प्रश्न 11.
जादूगर जादू से गहरा सफेद घुओं कैसे निकालता है?
उत्तर:
इसमें जादूगर के पास एक गिलास में अमोनियम हाइड्रॉक्साइड का विलयन तथा दूसरे गिलास में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल का विलयन होता है। जब जादूगर इन दोनों विलयनों को आपस में मिलाता है तो इनकी आपस की अभिक्रिया से अमोनियम क्लोराइड का सफेद धुआँ बनता है।
अमोनियम हाइड्रॉक्साइड + हाइड्रोक्लोरिक अम्ल → अमोनियम क्लोराइड (सफेद धुआँ) + पानी

RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 12.
जादूगर पानी से भरे गिलास में आग कैसे लगा देता है?
उत्तर:
इस जादू में जादूगर आपकी नजर बचाकर पानी में सोडियम का टुकड़ा डालता है। वह सोडियम पानी से अभिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस बनाता है। इस अभिक्रिया में ऊष्मा भी उत्पन्न होती है। इस ऊष्मा से हाइड्रोजन गैस जलने के कारण आग की चिंगारी पैदा होती है। हमें लगता है कि जादूगर ने जादू से पानी में आग लगा दी।
सोडियम + पानी → सोडियम हाइड्रॉक्साइड हाइड्रोजन गैस + ऊष्मा

प्रश्न 13.
अपने आसपास के परिवेश में होने वाले भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तनों के उदाहरण बताइए।
उत्तर:
हमारे आसपास के परिवेश में हम प्रतिदिन कई प्रकार के परिवर्तन देखते एवं महसूस करते हैं। इनमें से कई भौतिक परिवर्तन तो कई रासायनिक परिवर्तन होते हैं। अतः इन दोनों प्रकार के परिवर्तनों के उदाहरण निम्न प्रकार हैं –

  1. भौतिक परिवर्तन – पानी से बर्फ का जमना, बल्ब का जलना, नमक का जल में घुलना, जल से वाप बनना आदि।
  2. रासायनिक परिवर्तन – मोमबत्ती का जलना, दुध से दही जमना, भोजन का पाचन, लोहे पुर जंग लगना आदि।

निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
परिवर्तन कितने प्रकार के होते हैं? वर्णन कीजिए।
उत्तर:
पदार्थों में परिवर्तनों की प्रकृति के आधार पर व्यापक रूप से इन्हें दो भागों में वर्गीकृत कर सकते हैं –

1. भौतिक परिवर्तन – पदार्थ की आकृति, आकार, अवस्था, ताप, दाब आदि को किसी पदार्थ के भौतिक गुण कहते हैं। वे परिवर्तन जिनमें केवल पदार्थों के भौतिक गुण बदलते हैं, भौतिक परिवर्तन कहलाते हैं। भौतिक परिवर्तन अस्थाई एवं उत्क्रमणीय होते हैं। ऐसे परिवर्तनों के परिणामस्वरूप कोई नया पदार्थ उत्पाद के रूप में नहीं बनता है। जैसे-बर्फ का पिघलना, नमक का जल में घुलना, बल्ब का प्रकाशित होना, ब्लेड को. ज्वाला पर गर्म करना, जल से वाष्प बनना, भाप का जल में बदलना आदि भौतिक परिवर्तन हैं। क्रिस्टलीकरण भी एक भौतिक परिवर्तन है।

2. रासायनिक परिवर्तन – वे परिवर्तन, जिनमें पदार्थ का रासायनिक आन्तरिक संघटन बदल जाता है, अर्थात् अपने मूल रूप से नए पदार्थ में परिवर्तित हो जाता है, रासायनिक परिवर्तन कहलाते हैं। इस परिवर्तन के पश्चात् पदार्थ को अपनी मूल या पूर्वावस्था में पुन: नहीं लाया जा सकता है अतः ये परिवर्तन स्थाई व अनुत्क्रमणीय होते हैं। जैसे-मोमबत्ती का जलना, दूध से दही जमना, टायर का जलाना, भोजन का पाचन, लोहे पर जंग लगना, पटाखेफूलझड़ी छोड़ना, मैग्नीशियम के फीते का जलना आदि रासायनिक परिवर्तन हैं।

प्रश्न 2.
स्पष्ट कीजिए कि अवस्था परिवर्तन एक अस्थायी परिवर्तन है।
अथवा
पदार्थों की अवस्था परिवर्तन को उदाहरण एवं चित्र सहित समझाइए।
उत्तर:
ठोस से द्रव में बदलना पदार्थ का अवस्था परिवर्तन है और द्रव को ठोस में बदलना भी अवस्था परिवर्तन है। पदार्थों की अवस्था परिवर्तन को निम्न प्रयोग से समझते हैंप्रयोग-एक कटोरी में थोड़ा सा मोम लेकर इसे धीरेधीरे गर्म कीजिए, अब पिघले हुए मोम की कटोरी को ज्वाला से हटाकर ठण्डा होने दीजिए।

कुछ समय बाद हम देखते हैं कि पिघला हुआ द्रव मोम पुनः ठोस अवस्था में आ जाता है। अतः हम देखते हैं कि ठोस से द्रव में बदलना अवस्था परिवर्तन है एवं द्रव का पुनः ठण्डा होने ” पर ठोस में बदलना भी अवस्था परिवर्तन है। अतः हम कह सकते हैं कि पदार्थ का अवस्था परिवर्तन एक अस्थाई परिवर्तन होता है।
RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 9

प्रश्न 3.
चूने के पानी का दूधिया हो जाना कौनसा परिवर्तन ? प्रयोग द्वारा सचित्र बताइए।
उत्तर:
प्रयोग-एक मोमबत्ती को जलाकर मेज पर रखिए। एक कीप लेकर उसे रबड़ की ट्यूब से जोड़ते हुए इसके अग्न भाग पर काँच की नली लगाइए। काँच की नली को चूने के पानी से भरे बीकर में डुबो दीजिए। मोमबत्ती की ज्वाला को नली लगे हुए कीप से डकिये, ताकि मोमबत्ती के जलाने से बनने वाली गैस नली में से होते हुए चूने के पानी से भर बीकर में जाए।

हम देखते हैं कि कुछ समय पश्चात् चूने का पानी दृधिया हो जाता है। इस अभिक्रिया में चूने के पानी में कार्बनडाई-ऑक्साइड गैस प्रवाहित करने पर नए पदार् CaCO3 (दूधिया पानी) का निर्माण हो रहा है अतः यह एक रासायनिक परिवर्तन है।
RBSE Solutions for Class 7 Science Chapter 4 पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन 10

प्रश्न 4.
महरौली स्तम्भ पर विशेषताएँ बताते हुए एक लेख लिखिए।
उत्तर:
दिल्ली के पास महरौली में एक लौह स्तम्भ है, जिसे लगभग 400 ईसा पूर्व भारत के लौह कर्मियों ने बनाया। यह बृहद् लौह स्तम्भ 8 मीटर ऊंचा तथा इसका भार 6 टन (6000 किग्रा.) है। इतने वर्षों बाद भी इस पर जंग नहीं लगा है। शोध से ज्ञात हुआ है कि इसके पृष्ठ पर आयरन ऑक्साइड (Fe3O4) की पतली परत बनी हुई है। जंग से बचाने के लिए इसके निर्माण के समय इसमें फास्फोरस भी मिलाया होगा।

इसे विभिन्न पदार्थों के मिश्रण से रंगा होगा तथा फिर इसे तेज गर्म किया गया होगा। यह इस बात का प्रतीक है कि प्राचीन भारत के हमारे पूर्वजों ने लोहे को जंग से बचाने के लिए बेहतरीन तकनीक विकसित कर ली थी।

Leave a Comment