RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

Rajasthan Board RBSE Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

RBSE Solutions for Class 7 Social Science

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

RBSE Class 7 Social Science वायुमंडल और जलवायु Intext Questions and Answers

आओ करके देखें

पृष्ठ संख्या  – 12

प्रश्न 1.
पाठ्यपुस्तक में दिये गये चित्र में वायुमण्डल में प्रमुख गैसों के अनुपात के चित्र को देखकर वायुमण्डल की गैसों एवं उनके प्रतिशत की सूची बनाइये।
उत्तर:

  1. नाइट्रोजन (78.08%)
  2. ऑक्सीजन (20.95%)
  3. ऑर्गन (0.93%)
  4. कार्बन डाइ
  5. ऑक्साइड (0.038%)
  6. क्रिप्टोन (0.0001%)
  7. हीलियम (0.0005%)
  8. हाइड्रोजन (0.00005%)
  9. नियॉन (0.0018%)
  10. जिनॉन (0.000009%)

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 2.
वायुमंडल में विद्यमान गैसों के हमारे जीवन में महत्त्व पर एक लघु निबंध लिखिये।
उत्तर:

  1. पृथ्वी पर जीव श्वसन के लिए वायुमंडल में विद्यमान गैसों पर निर्भर हैं। वायुमंडल में विद्यमान ऑक्सीजन गैस हमें सांस लेने के लिए आवश्यक होती है। इसे प्राणवायु भी कहा जाता है।
  2. जीवों द्वारा छोड़ी गई कार्बन – डाइ – ऑक्साइड का उपयोग पेड़ – पौधे अपना भोजन बनाने के लिए करते हैं जिससे वायुमंडल में गैसों का सन्तुलन बना रहता है।
  3. वायुमण्डल में विद्यमान गैसें, जलवाष्प और धूलकणों से मिलकर सूर्य से आने वाली दैनिक गर्मी और रात में पड़ने वाली ठंड से हमारी रक्षा करते हैं। इनके कारण ही पृथ्वी के धरातल का तापमान रहने योग्य बना है।

पृष्ठ संख्या – 13

प्रश्न 3.
वायुमण्डल की परतों का नामांकित चित्र बनाइये।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु 1

प्रश्न 4.
नीचे दिये गए रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु 2

पृष्ठ संख्या – 18

प्रश्न 5.
भारत के वर्षा वितरण को देखकर भारत के उन क्षेत्रों को पहचानकर सूची बनाइए। जहाँ 200 सेमी. से अधिक एवं 50 सेमी. से कम वर्षा होती है।
उत्तर:
भारत में 200 सेमी. से अधिक वर्षा वाले क्षेत्र हैंअसम, मेघालय तथा दक्षिण-पश्चिम समुद्र तटीय क्षेत्र तथा भारत में 50 सेमी. से कम वर्षा वाले क्षेत्र हैं-राजस्थान का पश्चिमी क्षेत्र, जम्मू-कश्मीर का कुछ क्षेत्र तथा दक्षिण का भीतरी भाग।

पृष्ठ संख्या – 19

प्रश्न 6.
स्थानीय समाचारपत्र से एक सप्ताह के तापमान के आँकड़ों को एकत्रित कर उनमें आने वाले बदलाव का अध्ययन कीजिए। पता लगाइये कि तापमान में लगातार बदलाव क्यों होता है।
उत्तर:
(नोट – विद्यार्थी स्वयं आँकड़े एकत्र करें।)

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 7.
अपने शिक्षक एवं परिवार के बड़े सदस्यों से पता लगाइये कि आपके क्षेत्र में सर्वाधिक वर्षा किस ऋतु में होती है और वह ऋतु किन महीनों में आती है?
उत्तर:
हमारे क्षेत्र में सर्वाधिक वर्षा वर्षा-ऋतु में होती है। और वह ऋतु जून से सितम्बर महीनों में आती है।

RBSE Class 7 Social Science वायुमंडल और जलवायु Text Book Questions and Answers

पाठ्यपुस्तक के प्रश्न

प्रश्न 1.
सही विकल्प को चुनिए –
(i) उष्ण कटिबंधीय चक्रवातों को संयुक्त राज्य अमेरिका में क्या कहा जाता है?
(क) हरिकेन
(ख) टोरनेडो
(ग) टाइफून
(घ) विलीविलीज
उत्तर:
(क) हरिकेन

(ii) वायुयान किस परत में उड़ते हैं …………………
(क) समताप मण्डल
(ख) क्षोभमण्डल
(ग) आयन मण्डल
(घ) बहिर्मण्डल
उत्तर:
(क) समताप मण्डल

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 2.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

  1. वायुमण्डल में सबसे अधिक मात्रा ………………….. गैस की है।
  2. पवन की गति मापने का यंत्र ………………….. मीटर कहलाता है।
  3. वायुमण्डल में रेडियो तरंगों का परावर्तन ………………….. मण्डल से होता है।
  4. ग्रीष्मकाल में चलने वाली गर्म पवनों को राजस्थान में ………………….. कहा जाता है।

उत्तर:

  1. नाइट्रोजन
  2. एनोमी
  3. आयन
  4. लू।

प्रश्न 3.
मौसम एवं जलवायु में क्या अन्तर है?
उत्तर:
किसी स्थान विशेष की अल्पकालीन पर्यावरणीय दशाओं को मौसम कहा जाता है और किसी स्थान विशेष की मौसमी दशाओं के दीर्घकालीन औसत को उस स्थान की जलवायु कहा जाता है। दूसरे, मौसम में कम समय में लगातार परिवर्तन होता रहता है जबकि जलवायु में परिवर्तन मंद गति से होता है।

प्रश्न 4.
वर्षा कितने प्रकार की होती है? नाम बताइये।
उत्तर:
वर्षा तीन प्रकार की होती है –

  1. संवहनीय वर्षा
  2. पर्वतीय वर्षा और
  3. चक्रवातीय वर्षा

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 5.
पवन का अर्थ बताते हुए इसके प्रकार को समझाइए
उत्तर:
पवन का अर्थ – उच्च दाब क्षेत्र से निम्न दाब क्षेत्र की ओर वायु की गति को पवन कहते हैं। पवन के प्रकार – मुख्य रूप से पवन तीन प्रकार की होती है। यथा –
1. स्थायी पवनें – ये तीन प्रकार की होती हैं – व्यापारिक, पछुआ एवं ध्रुवीय। ये वर्षभर लगातार एक ही निश्चित दिशा में चलती हैं। इसलिए इन्हें स्थायी पवनें कहा जाता है।

2. मौसमी पवनें – ये पवनें विभिन्न ऋतुओं/मौसम में अपनी दिशा बदलती रहती हैं, जैसे – भारत में मानसूनी पवनें। समुद्र तटीय प्रदेशों में रात्रि में चलने वाली स्थल समीर तथा । दिन में चलने वाली समुद्री समीर सामयिक पवनें हैं।

3. स्थानीय पवनें – ये पवनें किसी छोटे क्षेत्र में वर्ष या। दिन के किसी विशेष समय में चलती हैं, जैसे – राजस्थान में गर्मी की ऋतु में चलने वाली गर्म पवन जिसे लू कहा। जाता है।

प्रश्न 6.
चक्रवात एवं प्रतिचक्रवात में अन्तर स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
चक्रवात एवं प्रतिचक्रवात में अन्तर:

  1. चक्रवात के मध्य/केन्द्र में निम्न वायुदाब होता हैं जबकि प्रतिचक्रवात के मध्य में उच्च वायुदाब होता है।
  2. चक्रवात के परिधि की ओर उच्च वायुदाब होता है जबकि प्रतिचक्रवात की परिधि की ओर न्यून वायुदाब होता है।
  3. चक्रवात में हवाएँ बाहर से केन्द्र की ओर चलती हैं जबकि प्रतिचक्रवात में हवाएँ केन्द्र से बाहर की ओर चलती हैं।
  4. चक्रवात समुद्र पर विकसित होते हैं और तटीय भागों में वर्षा करते हैं, जबकि प्रतिचक्रवात के क्षेत्र में मौसम साफ व शुष्क रहता है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 7.
वायुमण्डल के संगठन को समझाइए
उत्तर:
वायुमण्डल का संगठन : वायुमण्डल अनेक गैसों, जलवाष्प एवं धूलकणों के मिश्रण से बना है। यथा –

  1. गैसें – वायुमण्डल में नाइट्रोजन, ऑक्सीजन, ऑर्गन, कार्बन – डाइ – ऑक्साइड, हीलियम, ओजोन, हाइड्रोजन, नियॉन, जिनॉन, क्रिप्टोन और मीथेन गैसें हैं। इनमें नाइट्रोजन एवं ऑक्सीजन की मात्रा कुल गैसों की लगभग 99 प्रतिशत होती है।
  2. जलवाष्प – गैसों के अतिरिक्त वायुमण्डल में जलवाष्प पाई जाती है। अधिक ताप के कारण जल भाप बनकर वायुमण्डल में चला जाता है तो वायुमण्डल में विद्यमान इसी गैसीय जल को जलवाष्प कहा जाता है। वर्षण सम्बन्धी सभी प्रक्रियाएँ वायुमण्डल में जलवाष्प की उपस्थिति के कारण ही होती हैं।
  3. धूलकण – वायुमण्डल का तीसरा महत्त्वपूर्ण तत्त्व धूलकण है जो वायुमण्डल में इधर – उधर उड़ते रहते हैं। संघनन में इनकी भूमिका महत्त्वपूर्ण होती है क्योंकि इन्हीं पर जल की छोटी-छोटी बूंदें जमकर बादलों का निर्माण करती हैं। आकाश का नीला रंग, सूर्योदय एवं सूर्यास्त की लालिमा आदि धूलकणों के कारण ही दिखाई पड़ते हैं।

प्रश्न 8.
वायुमण्डल की परतों का चित्र बनाकर उनकी मुख्य विशेषताएँ बताइए।
उत्तर:
वायुमण्डल की परतों की विशेषताएँ अग्र चित्र के द्वारा स्पष्ट की गई हैं –
RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु 1
1. क्षोभमण्डल – यह वायुमण्डल की सबसे निचली परत है। सभी मौसमी घटनाएँ इसी परत में घटित होती हैं। इस परत की औसत ऊँचाई 13 किलोमीटर है। ऑक्सीजन का अधिकांश भाग इसी परत में पाया जाता है जो सभी जीवों की श्वसन क्रिया के लिए उपयोगी है। इसकी ऊपरी सीमा को क्षोभ सीमा कहा जाता है।

2. समतापमण्डल – क्षोभ सीमा के ऊपर लगभग 50 किमी. की ऊँचाई तक समतापमण्डल स्थित है। इसमें ओजोन गैस पाई जाती है जो सूर्य से आने वाली पराबैंगनी किरणों का अवशोषण कर धरातल तक नहीं आने देती।

3. मध्यमण्डल – समताप सीमा के ऊपर लगभग 80 किमी. तक यह परत स्थित है। अन्तरिक्ष से आने वाले उल्कापिंड इस परत में जल जाते हैं।

4. आयनमण्डल – यह मध्यमण्डल के बाद 80 से 400 किलोमीटर की ऊँची परत है। पृथ्वी से प्रसारित होने वाली रेडियो संचार तरंगें इसी परत से परावर्तित होकर पुनः पृथ्वी पर लौटती हैं।

5. बहिर्मण्डल – यह वायुमण्डल की सबसे ऊपरी परत है। यह अत्यन्त पतली है। इसमें मुख्य रूप से हीलियम और हाइड्रोजन गैसें पाई जाती हैं।

RBSE Class 7 Social Science वायुमंडल और जलवायु Important Questions and Answers

वस्तुनिष्ठ प्रश्न

Question 1.
ग्लोबल वार्मिंग के लिए उत्तरदायी गैस है ………………
(अ) नाइट्रोजन
(ब) ऑक्सीजन
(स) ऑर्गन
(द) कार्बन डाइ – ऑक्साइड
उत्तर:
(द) कार्बन डाइ – ऑक्साइड

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

Question 2.
वायुमण्डल में धरातल से ऊपर की ओर जाने पर वायुदाब ………………
(अ) बढ़ेगा.
(ब) घटेगा
(स) समान रहेगा
(द) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(ब) घटेगा

Question 3.
सूर्योदय और सूर्यास्त के समय लालिमा किस कारण दिखाई देती है ………………
(अ) गैसों के कारण
(ब) धूलकणों के कारण
(स) जलवाष्प के कारण
(द) समुद्र के कारण
उत्तर:
(ब) धूलकणों के कारण

Question 4.
ओजोन गैस पायी जाती है ………………
(अ) क्षोभ मण्डल में
(ब) समताप मण्डल में
(स) मध्य मण्डल में
(द) आयन मण्डल में
उत्तर:
(ब) समताप मण्डल में

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

Question 5.
उष्णकटिबंधीय चक्रवातों को जापान में कहते हैं ………………
(अ) हरिकेन
(ब) टोरनेडो
(स) टायफून
(द) विलीविलीज
उत्तर:
(स) टायफून

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

  1. पृथ्वी की ……………. कारण ही यह वायुमण्डल उसके साथ टिका हुआ है। (गुरुत्वाकर्षण शक्ति/वायुमण्डल की शक्ति)
  2. ओजोन गैस की परत सूर्य से आने वाली ……………. से हमारी रक्षा करती है। (पराबैंगनी किरणों/किरणों)
  3. सभी मौसमी घटनाएँ (वर्षा, कोहरा, तड़ित चालन, ओलावृष्टि, पाला आदि) ……………. मण्डल में घटित होती है। (ओजोन/क्षोभ)
  4. उच्च दाब क्षेत्र से निम्न दाब क्षेत्र की ओर वायु की गति को ……………. कहते हैं। (पवन/आँधी)
  5. ……………. क्षेत्र विश्व में सर्वाधिक वर्षा वाला क्षेत्र है। (कर्क रेखीय/विषुवतरेखीय)

उत्तर:

  1. गुरुत्वाकर्षण शक्ति
  2. पराबैंगनी किरणों
  3. क्षोभ
  4. पवन
  5. विषुवतरेखीय

निम्न में से सत्य/असत्य कथन छांटिये –

  1. वायुमण्डल अनेक गैसों, जलवाष्प एवं धूलकणों के मिश्रण से बना है।
  2. वर्तमान में वायुमण्डल में ऑक्सीजन की मात्रा लगातार बढ़ती जा रही है, जिससे पृथ्वी का तापमान भी बढ़ रहा है।
  3. वायुमण्डल में व्याप्त धूलकणों द्वारा प्रकाश के प्रकीर्णन के कारण ही हमें आकाश का रंग नीला दिखाई देता है।
  4. पृथ्वी से प्रसारित होने वाली रेडियो संचार तरंगें मध्य मण्डल से परावर्तित होकर पुनः पृथ्वी पर लौटती हैं।
  5. वायुदाब को मापने की इकाई बेरोमीटर है।

उत्तर:

  1. सत्य
  2. असत्य
  3. सत्य
  4. असत्य
  5. असत्य

सुमेलित कीजिए –

नीचे दी गई वायुमण्डल की परतें और उनकी विशेषताओं को सही क्रम में सुमेलित कीजिए –
RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु 3
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु 4

अतिलघुत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
विश्व की औसत वार्षिक वर्षा क्या है?
उत्तर:
117 सेंटीमीटर

प्रश्न 2.
विश्व में सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान कौनसा है?
उत्तर:
मेघालय राज्य में स्थित मासिनराम व चेरापूँजी।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 3.
वायु की दिशा बताने वाले यंत्र को क्या कहते हैं?
उत्तर:
वायु दिग्सूचक यंत्र।

प्रश्न 4.
वायु की गति बताने वाले यंत्र को क्या कहते हैं?
उत्तर:
एनिमोमीटर।

प्रश्न 5.
तापमान को मापने की इकाई क्या है?
उत्तर:
सेंटीग्रेड या फारेनहाइट।

प्रश्न 6.
तापमान मापने के यंत्र को क्या कहते हैं?
उत्तर:
तापमापी या धर्मामीटर।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 7.
समुद्रों के तटवर्ती इलाकों में जलवायु कैसी रहती है?
उत्तर:
समुद्रों के तटवर्ती इलाकों में जलवायु सम बनी रहती है।

प्रश्न 8.
मौसम किसे कहते हैं?
उत्तर:
किसी स्थान पर अल्पकालीन पर्यावरणीय दशाओं को मौसम कहते हैं।

प्रश्न 9.
वायुमण्डल किसे कहते हैं?
उत्तर:
पृथ्वी के चारों ओर कई सौ किलोमीटर की मोटाई में व्याप्त गैसीय आवरण को वायुमण्डल कहा जाता है।

प्रश्न 10.
जलवायु किसे कहते हैं?
उत्तर:
किसी स्थान विशेष के मौसम की दीर्घकालीन दशाओं के औसत को उस स्थान की जलवायु कहते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 11.
वायुदाब किसे कहते हैं?
उत्तर:
पृथ्वी की सतह पर ऊपरी वायुमण्डल की परतों में स्थित वायु का जो भार पड़ता है, उसे वायुदाब कहा जाता है।

प्रश्न 12.
ग्लोबल वार्मिंग का प्रमुख कारण क्या है?
उत्तर:
वायुमण्डल में कार्बन – डाइ ऑक्साइड में वृद्धि ग्लोबल वार्मिंग का प्रमुख कारण है।

लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
ग्लोबल वार्मिंग ( भूमंडलीय तपन ) किसे कहते है?
उत्तर:
वर्तमान समय में अधिक ईंधन के उपयोग करने के फलस्वरूप वायुमण्डल में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा बढ़ती जा रही है जिसके फलस्वरूप पृथ्वी का तापमान भी बढ़ रहा है। इसी को भूमंडलीय तपन कहा जाता है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 2.
हमें आकाश नीला क्यों दिखाई देता है?
उत्तर:
वायुमण्डल में धूलकण इधर-उधर उड़ते रहते हैं। इन धूलकणों द्वारा प्रकाश के प्रकीर्णन के कारण ही हमें आकाश का रंग नीला दिखाई देता है।

प्रश्न 3.
तापमान के आधार पर वायुमण्डल को कितनी परतों में बाँटा गया है?
उत्तर:
तापमान के आधार पर वायुमण्डल को पांच परतों में बाँटा गया है –

  1. क्षोभमण्डल (13 किलोमीटर तक)
  2. समतापमण्डल (13 से 50 किलोमीटर तक)
  3. मध्यमण्डल (50 से 80 किमी. तक)
  4. आयनमण्डल (80 से 400 किमी. तक) तथा
  5. बहिर्मण्डल (400 किमी. से ऊपर)

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 4.
तापमान से आप क्या समझते हैं? तापमान में बदलाव किस कारण होते हैं?
उत्तर:
तापमान का अर्थ है –
वायु कितनी गरम है। दिनरात एवं ऋतुओं के अनुसार वायु के तापमान में निरंतर बदलाव होते रहते हैं। रात की अपेक्षा दिन में, शीत ऋतु की अपेक्षा ग्रीष्म ऋतु में, गाँवों की अपेक्षा शहरों में तथा महासागरों की अपेक्षा महाद्वीपों का तापमान अधिक होता है। सामान्यतः भूमध्य रेखा से जैसे-जैसे ध्रुवों की ओर जाते हैं तापमान लगातार कम होता जाता है क्योंकि भूमध्य रेखा पर सूर्य की किरणें सीधी एवं ध्रुवों पर तिरछी पड़ती हैं।

प्रश्न 5.
वायुदाब किसे कहते हैं? इसकी विशेषताएँ बताइये।
उत्तर:
वायुदाब – पृथ्वी की सतह पर ऊपरी वायुमण्डल की परतों में स्थित वायु का जो भार पड़ता है, उसे वायुदाब कहा जाता है। विशेषताएँ –

  1. धरातल पर एक वर्ग सेंटीमीटर पर लगभग एक किलोग्राम वायुभार पड़ता है।
  2. सर्वाधिक वायुदाब समुद्र तल पर होता है।
  3. वायुमण्डल में ऊपर की ओर जाने पर वायुदाब तेजी से कम होता जाता है।
  4. वायुदाब को मापने की इकाई मिलीबार है जबकि वायुदाब मापने के यंत्र को वायुदाबमापी या बेरोमीटर कहते हैं।

प्रश्न 6.
विश्व में वर्षा के वितरण को संक्षेप में बताइये।
उत्तर:
विश्व में वर्षा का वितरण – विश्व में सभी स्थानों पर वर्षा एकसमान नहीं होती है क्योंकि वर्षा का वितरण कई कारकों द्वारा प्रभावित होता है, जैसे पर्वतों की दिशा, समुद्र से दूरी, धरातल का स्वरूप, पवन आदि। सर्वाधिक वर्षा क्षेत्र – विषुवत रेखीय क्षेत्र विश्व में सर्वाधिक वर्षा वाला क्षेत्र है, जहाँ 200 सेमी. से अधिक वर्षा होती है। मध्यम वर्षा – क्षेत्र – उष्ण – शीतोष्ण के तटीय क्षेत्र मध्यम वर्षा वाले क्षेत्र हैं, जहाँ 100 – 200 सेमी. वर्षा होती है। कम वर्षा-क्षेत्र-उष्ण कटिबंधीय क्षेत्रों के मध्य भाग व शीतोष्ण प्रदेशों के पूर्वी भाग में कम वर्षा (25 – 100 सेंटीमीटर | तक) होती है। ध्रुवीय क्षेत्र में भी कम वर्षा होती है।

प्रश्न 7.
समुद्रों व जंगलों का जलवायु पर क्या प्रभाव पड़ता है?
उत्तर:
समद्रों के तटवर्ती क्षेत्र की जलवायु वर्ष भर सम बनी रहती है। समुद्रों से अधिक वाष्पीकरण के कारण उसके तटवर्ती क्षेत्रों में अधिक वर्षा होती है। पेड़ – पौधों से भी वाष्पोत्सर्जन होता है। इसलिए जंगलों में भी वर्षा अधिक होती है। अतः अधिक वनस्पति वाले क्षेत्रों की जलवायु भी सम बनी रहती है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 8.
चक्रवात किसे कहते हैं? इसके प्रकारों को समझाइये।
उत्तर:
चक्रवात – चक्रवात निम्न दाब के केन्द्र होते हैं जिनके चारों ओर उच्च वायुदाब होता है जिससे हवाएँ परिधि से केन्द्र की ओर चलती हैं। चक्रवात के प्रकार – चक्रवात दो प्रकार के होते हैं –

  1. शीतोष्ण कटिबंधीय चक्रवात – ये चक्रवात धीमी गति से चलते हैं इसलिए इनसे जान – माल का नुकसान कम होता है।
  2. उष्ण कटिबंधीय चक्रवात – ये चक्रवात बहुत तीव्र गति से चलते हैं जिनसे विश्व के विभिन्न भागों में प्रतिवर्ष भारी नुकसान होता है।

प्रश्न 9.
प्रतिचक्रवात को संक्षेप में समझाइये।
उत्तर:
प्रतिचक्रवात-हवाओं के द्वारा निर्मित वृत्ताकार, अण्डाकार आदि लहरनुमा आकार जिसके मध्य में उच्च वायुदाब तथा परिधि की ओर कम वायुदाब होता है, प्रतिचक्रवात कहलाता है।
इसमें हवाएँ केन्द्र से बाहर की ओर चक्राकार वलय में चलती हैं जिनकी दिशा उत्तरी गोलार्द्ध में घड़ी की सुई के अनुरूप तथा दक्षिणी गोलार्द्ध में घड़ी की सुई के विपरीत होती है। इसमें प्रायः मौसम साफ रहता है तथा वर्षा नहीं होती है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 2 वायुमंडल और जलवायु

प्रश्न 10.
वायुमण्डल में धूलकणों का क्या महत्त्व है?
उत्तर:
धूलकणों द्वारा सूर्य की किरणों का प्रकीर्णन होता है और इसी से आकाश का रंग नीला दिखाई देता है। सूर्योदय एवं सूर्यास्त के समय की लालिमा, इन्द्रधनुष आदि धूलकणों के कारण बनते हैं। धूलकणों के चारों ओर जल की छोटीछोटी बूंदें इकट्ठा होकर बादलों का निर्माण करती हैं। इस प्रकार संघनन की क्रिया धूलकणों के कारण ही सम्भव हो पाती है।

निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
वायुमण्डल के तत्त्वों का संक्षेप में परिचय दीजिए।
उत्तर:
वायुमण्डल के मुख्य तत्त्व : वायुमण्डल के मुख्य तत्त्व निम्नलिखित हैं –
1. तापमान – तापमान का अर्थ है – वायु कितनी गरम है। दिन – रात एवं ऋतुओं के अनुसार तापमान बदलाव होते रहते हैं। सर्वाधिक तापमान भूमध्य रेखा पर होता है। सामान्यतः भूमध्य रेखा से जैसे-जैसे ध्रुवों की ओर जाते हैं, तापमान लगातार कम होता जाता है। तापमान को मापने की इकाई सेन्टीग्रेड अथवा फारेनहाइट है और इसे मापने के यंत्र को तापमापी अथवा थर्मामीटर कहते हैं।

2. वायुदाब – पृथ्वी की सतह पर ऊपरी वायुमण्डल की परतों में स्थित वायु का जो भार पड़ता है, उसे वायुदाब कहते हैं। सर्वाधिक वायुदाब समुद्र तल पर होता है तथा वायुमण्डल में ऊपर की ओर जाने पर यह तेजी से कम होता जाता है।

3. पवन – उच्च दाब क्षेत्र से निम्न दाब क्षेत्र की ओर वायु की गति को पवन कहते हैं। पवन मुख्यतः तीन प्रकार की होती हैं:

4. आर्द्रता – वायु में उपस्थित नमी या जलवाष्प को आर्द्रता कहते हैं। जब जलाशयों और पेड़-पौधों का जल वाष्पित होता है तो यह आर्द्रता बन जाता है।

  • स्थायी
  • सामयिक या मौसमी तथा
  • स्थानीय।
  • आर्द्रता – वायु में उपस्थित नमी या जलवाष्प को आर्द्रता कहते हैं। जब जलाशयों और पेड़-पौधों का जल वाष्पित होता है तो यह
  • आर्द्रता बन जाता है।

5. वर्षा – पृथ्वी पर जल का बूंदों में गिरना वर्षा कहलाता है। यह तीन प्रकार की होती है – संवहनीय, पर्वतीय और चक्रवातीय।

Leave a Comment