RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

Rajasthan Board RBSE Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

RBSE Solutions for Class 7 Social Science

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

RBSE Class 7 Social Science जैवमंडल और भू-दृश्य Intext Questions and Answers

आओ करके देखें

पृष्ठ संख्या  – 9

प्रश्न 1.
आप अपने गाँव या शहरं का भ्रमण कर पता लगाइये कि आपके क्षेत्र में कौन – कौनसे धरातलीय स्वरूप हैं।
उत्तर:
हमारे क्षेत्र में पहाड़, नदी बेसिन तथा मैदान हैं। हमारा शहर मैदान पर बसा है। हम मैदान में रहते हैं।

प्रश्न 2.
अपने आस – पास के पर्यावरण को देखकर जैवमण्डल में पाये जाने वाले वृक्षों एवं जीवों की सूची बनाइये।
उत्तर:
जैवमण्डल में पाये जाने वाले वृक्ष –

  1. बरगद
  2. पीपल
  3. नीम
  4. बबूल
  5. बील
  6. अशोक आदि

जैवमण्डल में पाये जाने वाले जीव –

  1. मनुष्य
  2. कुत्ता
  3. बिल्ली
  4. बन्दर
  5. चूहा
  6. शेर
  7. चीता
  8. लोमड़ी
  9. ऊँट
  10. गाय
  11. भैंस
  12. भेड़ – बकरी आदि

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 3.
आप नीचे दिये गये चित्रों को देखिए; विभिन्न स्थलाकृतियों को पहचानकर उनके नाम लिखिये और ये हमारे लिए किस प्रकार उपयोगी हैं, इसकी चर्चा कक्षा में अपने साथियों से कीजिए।
उत्तर:
प्रथम स्थलाकृति ‘द्वीप’ है, द्वितीय स्थलाकृति ‘नदी बेसिन’ है तथा तृतीय स्थलाकृति ‘मैदान’ है। इनकी उपयोगिताओं की चर्चा अपने साथियों से कक्षा में करें।

RBSE Class 7 Social Science जैवमंडल और भू-दृश्य Text Book Questions and Answers

पाठ्यपुस्तक के प्रश्न

प्रश्न 1.
सही विकल्प को चुनिए –
(i) निम्न में से कौनसी एक प्रमुख प्राकृतिक स्थलाकृति नहीं है?
(क) पर्वत
(ख) पठार
(ग) अधिवास
(घ) मैदान
उत्तर:
(ग) अधिवास

(ii) स्थलीय भाग जो चारों तरफ से जल से घिरा हो, उसे कहते हैं ………………..
(क) द्वीप
(ख) प्रायद्वीप
(ग) सागर
(घ) महासागर
उत्तर:
(क) द्वीप

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 2.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

  1. पृथ्वी पर चार महासागर हैं – (1) ……………….. महासागर, (2) ……………….. महासागर, (3) ……………….. महासागर, (4) ……………….. महासागर।
  2. हिमालय में गद्दी, बकरवाल एवं भोटिया जनजातियाँ रहती हैं जो वहां ……………….. ऋतु प्रवास करती हैं।
  3. स्थल का वह भू-भाग जहाँ नदी और सहायक नदी बहती है, उस नदी का ……………….. कहलाता है।
  4. स्थल पर एक प्राकृतिक धारा के रूप में बहने वाले ……………….. जल को ……………….. कहते हैं।

उत्तर:

  1. प्रशान्त, हिन्द, अटलांटिक, आर्कटिक
  2. मौसमी
  3. बेसिन
  4. नदी

प्रश्न 3.
जैवमण्डल किसे कहते हैं? यह केवल पृथ्वी पर ही क्यों पाया जाता है?
उत्तर:
पृथ्वी का वह समस्त भाग जहाँ जीवन विद्यमान है, जैवमण्डल कहलाता है। सौरमण्डल के अन्य ग्रहों से अलग पृथ्वी पर पर्याप्त मात्रा में वे तत्त्व विद्यमान हैं, जो जीवन के लिए आवश्यक हैं, जैसे – ऊर्जा, हवा, पानी और स्थल आदि इसलिए जैवमण्डल केवल पृथ्वी पर ही पाया जाता हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 4.
पारितंत्र और पर्यावरण की परिभाषा देकर उनमें अन्तर बताइये।
उत्तर:

  1. पारितंत्र – जैविक और अजैविक पर्यावरण के पारस्परिक ये अन्तर्सम्बन्ध को पारितंत्र कहते हैं।
  2. पर्यावरण – जैविक एवं अजैविक दोनों प्रकार की चीजें, जिन्होंने हमें चारों ओर से घेर रखा है उसी को पर्यावरण कहते हैं।
  3. दोनों में अन्तर – जैविक और अजैविक वस्तुओं से निर्मित वातावरण को पर्यावरण कहते हैं जबकि इन दोनों के पारस्परिक अन्तर्सम्बन्ध को पारितंत्र कहते हैं।

प्रश्न 5.
खाद्य श्रृंखला क्या है? उदाहरण देकर स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
सभी जीव – जन्तुओं को जीवित रहने के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है और पृथ्वी पर निर्वासित हर जीव की ऊर्जा का प्रमुख स्रोत सूर्य है। सूर्य की ऊर्जा से पेड़-पौधे अपना भोजन बनाते हैं तथा मृदा के पोषक तत्त्व प्राप्त करते हैं। पेड़ – पौधों से एक कीट अपना भोजन प्राप्त करता है। उसी कीट को चूहा, चूहे को सांप एवं सांप को बाज खाता है। बाज के मरने के बाद अपघटक जीव उसे मिट्टी में मिला देते हैं। इस प्रकार ऊर्जा एक प्राणी से दूसरे प्राणी तक एक खाद्य-श्रृंखला के रूप में हस्तांतरित हो जाती है।

प्रश्न 6.
हमें पारितंत्र के संतुलन को बनाए रखने के लिए क्या – क्या करना चाहिए?
उत्तर:
हमें पारितंत्र के संतुलन को बनाए रखने के लिए अग्रलिखित कार्य करने चाहिए –

  1. हमें विकास कार्य इस प्रकार करने चाहिए जिससे पारितंत्र को किसी प्रकार का नुकसान न हो।
  2. हमें विकास में पर्यावरण के तत्त्वों का उपयोग संरक्षणात्मक दृष्टि से करना चाहिए अर्थात् हमें प्रकृति का दोहन लूट लेने की दृष्टि से नहीं
  3. करना चाहिए बल्कि उसका सहयोग कर, उसके साथ सामञ्जस्य बिठाने की कोशिश करते हुए सतत विकास की ओर अग्रसर होने का प्रयास करना चाहिए।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 7.
द्वीप किसे कहते हैं? क्या यह केवल समुद्र में ही मिलते हैं?
उत्तर:
एक ऐसा छोटा स्थलीय भाग जो चारों तरफ से जल से घिरा हो, द्वीप कहलाता है। द्वीप नदी, तालाब, समुद्र या महासागर में कहीं भी स्थित हो सकता है। उदाहरण के लिए अण्डमान व निकोबार द्वीप समूह महासागर में स्थित है तो ब्रह्मपुत्र नदी में स्थित माजुली द्वीप नदीय द्वीप है।

प्रश्न 8.
मैदान के दो प्रकार कौन – कौन से हैं? उदाहरण देकर उनकी प्रमुख विशेषताएँ बताइये।
उत्तर:
मैदान के दो प्रकार हैं –

  1. तटीय मैदान और
  2. आन्तरिक मैदान।

1. तटीय मैदान – वे मैदान जो समुद्र के किनारे स्थित होते हैं, तटीय मैदान कहलाते हैं। जैसे गोवा, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु के तटीय मैदान तटीय मैदान की चौड़ाई कम होती है। इन पर अच्छे बन्दरगाह मिलते हैं। इनका उपयोग मछली पालन के लिए किया जाता है। यहाँ लोग मनोरंजन हेतु आते हैं।

2. आन्तरिक मैदान – वे मैदान जो मुख्य भूमि पर नदियों द्वारा मिट्टी का निक्षेप करने से बनते हैं, आंतरिक मैदान कहलाते हैं। जैसे गंगा – यमुना का मैदान आन्तरिक मैदान उपजाऊ मिट्टी से निर्मित होने के कारण कृषि कार्य के लिए उपयुक्त हैं। ये समतल तथा अधिक चौड़े होते हैं। इनमें सड़क व रेलमार्गों द्वारा परिवहन की सुविधा सुलभ होती| है। यहाँ जनसंख्या का घनत्व अधिक मिलता है।

RBSE Class 7 Social Science जैवमंडल और भू-दृश्य Important Questions and Answers

वस्तुनिष्ठ प्रश्न

Question 1.
जैविक और अजैविक पर्यावरण के पारस्परिक अन्तर्सम्बन्ध को कहते हैं …………………
(अ) पर्यावरण
(ब) पारितंत्र
(स) खाद्य जाल
(द) खाद्य श्रृंखला
उत्तर:
(ब) पारितंत्र

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

Question 2.
ऐसे स्थान जो प्राकृतिक रूप से आस-पास के स्थानों से 600 मीटर से अधिक ऊँचे होते हैं, उन्हें कहा जाता है …………………
(अ) पर्वत
(ब) पठार
(स) मैदान
(द) द्वीप
उत्तर:
(अ) पर्वत

Question 3.
कम ढाल वाले ऐसे ऊँचे एवं चौड़े भू – भाग, जो ऊपर से समतल होते हैं, कहलाते हैं …………………
(अ) पर्वत
(ब) पठार
(स) तटीय मैदान
(द) नदी बेसिन
उत्तर:
(ब) पठार

Question 4.
धरातल पर प्राकृतिक रूप से एक धारा के रूप में बहने वाले जल को कहा जाता है …………………
(अ) नदी
(ब) समुद्र
(स) तालाब
(द) द्वीप
उत्तर:
(अ) नदी

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

Question 5.
ऐसा स्थान जो तीन तरफ से पानी से घिरा हो, उसे कहते है …………………
(अ) नदी बेसिन
(ब) द्वीप
(स) प्रायद्वीप
(द) महाद्वीप
उत्तर:
(स) प्रायद्वीप

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

  1. जीवन की शुरुआत से पहले पृथ्वी भी चट्टानी पिंड थी जिस पर जल और ………………….. विद्यमान थीं। (गैसें/मछलियाँ)
  2. पृथ्वी की सतह पर सबसे ऊँची पर्वत चोटी ………………….. है। (माउण्ट एवरेस्ट/कंचनजंगा)
  3. पर्वतों के जिस तरफ बादल वर्षा करते हैं, उसे ………………….. भाग कहते हैं। (पवनमुखी/पवनविमुखी)
  4. जो नदियाँ वर्ष भर बहती हैं, उन्हें ………………….. नदियाँ कहा जाता है। (सदावाहिनी/मौसमी)
  5. कुछ नदियाँ ऐसी होती हैं, जो केवल वर्षा ऋतु में ही – बहती हैं, उन्हें ………………….. नदियाँ कहा जाता है। (सदावाहिनी/मौसमी)

उत्तर:

  1. गैसें
  2. माउण्ट एवरेस्ट
  3. हिमालय
  4. पवनमुखी
  5. सदावाहिनी
  6. मौसमी

निम्न में से सत्य/असत्य कथन छांटिये –

  1. पर्वतों के जिस तरफ बादल वर्षा करते हैं, उसे पवनमुखी भाग कहते हैं।
  2. पवनमुखी भाग को वृष्टि छाया प्रदेश भी कहा जाता है।
  3. कम ढाल वाले ऐसे ऊँचे एवं चौड़े भू-भाग, जो ऊपर से समतल होते हैं, पठार कहलाते हैं।
  4. केवल वर्षा ऋतु में बहने वाली नदी को नित्यवाहिनी – नदी कहा जाता है।
  5. लूनी नदी सदावाहिनी नदी है।

उत्तर:

  1. सत्य
  2. असत्य
  3. सत्य
  4. असत्य
  5. असत्य

निम्नलिखित को सुमेलित कीजिए –

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य 1
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य 2

अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
पृथ्वी का वह भाग जहाँ जीवन है, क्या कहलाता हैं?
उत्तर:
जैवमण्डल।

प्रश्न 2.
जैविक तथा अजैविक पर्यावरण के पारस्परिक अन्तर्सम्बन्ध को क्या कहते हैं?
उत्तर:
पारितंत्र।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 3.
पारितंत्र की विभिन्न खाद्य शृंखलाओं के जटिल जाल को क्या कहते हैं?
उत्तर:
खाद्य जाल।

प्रश्न 4.
जैवमण्डल में पाए जाने वाले जीवों को हम किन दो वर्गों में बाँट सकते हैं?
उत्तर:

  1. वनस्पति जगत् और
  2. जीव जगत्।

प्रश्न 5.
मॉनाकी पर्वत किस महासागर की तली में स्थित हैं?
उत्तर:
प्रशान्त महासागर की तली में।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 6.
पृथ्वी की सतह पर स्थित सबसे ऊंची पर्वत चोटी कौनसी है?
उत्तर:
माउण्ट एवरेस्ट

प्रश्न 7.
पर्वतों पर जमी बर्फ के पिघलने से जो नदियाँ वर्षभर बहती हैं, उन्हें क्या कहते हैं?
उत्तर:
सदावाहिनी नदियाँ।

प्रश्न 8.
दुनिया का सबसे बड़ा नदीय द्वीप कौनसा है?
उत्तर:
ब्रह्मपुत्र नदी का माजुली द्वीप।

प्रश्न 9.
माउण्ट एवरेस्ट कहाँ पर स्थित है?
उत्तर:
माउण्ट एवरेस्ट धरती की विशालतम पर्वत श्रृंखला हिमालय में स्थित है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 10.
पर्वत श्रृंखला किसे कहते हैं?
उत्तर:
जब पर्वत एक रेखा के क्रम में होते हैं तो इसे पर्वत श्रृंखला कहते हैं।

प्रश्न 11.
पठार किसे कहते हैं?
उत्तर:
कम ढाल वाले ऐसे ऊँचे एवं चौड़े भू-भाग, जो ऊपर से समतल होते हैं, पठार कहलाते हैं।

प्रश्न 12.
मैदान किसे कहते हैं?
उत्तर:
सामान्यतः समतल भू – भाग को मैदान कहा जाता है| जिसकी समुद्रतल से औसत ऊँचाई 300 मीटर से कम होती है।

प्रश्न 13.
नदी बेसिन कौनसा स्थल कहलाता है?
उत्तर:
स्थल का वह भू – भाग जहाँ मुख्य नदी और उसकी सहायक नदियाँ बहती हैं, नदी बेसिन कहलाता है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 14.
समुद्र तटीय मैदान किसे कहा जाता है?
उत्तर:
समुद्रों के किनारे स्थित स्थल को समुद्रतटीय मैदान कहा जाता है।

प्रश्न 15.
द्वीप किसे कहते हैं?
उत्तर:
एक ऐसा स्थलीय भाग जो चारों तरफ से जल से घिरा हो द्वीप कहलाता है।

प्रश्न 16.
मॉनाकी पर्वत की स्थिति क्या है?
उत्तर:
प्रशान्त महासागर में मॉनाकी पर्वत समुद्र की तली से 10,205 मीटर ऊँचा है, लेकिन इसका अधिकांश भाग समुद्र में डूबा है।

प्रश्न 17.
वृष्टि छाया प्रदेश क्या है?
उत्तर:
पर्वतों के पवनविमुखी ढाल वर्षा रहित रह जाते हैं जिसे वृष्टि छाया प्रदेश कहते हैं।

लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
जैवमण्डल किसे कहते हैं? इसकी रचना कब ‘होती है?
उत्तर:
पृथ्वी का वह समस्त भाग जहाँ जीवन विद्यमान है, जैवमण्डल कहलाता है। इसमें सूक्ष्म से सूक्ष्म बैक्टीरिया से लेकर विशालकाय जीव, विस्तृत और विविध वनस्पति, जीव-जन्तु और मनुष्य शामिल हैं। जब पृथ्वी के तीनों मण्डलस्थलमण्डल, जलमण्डल और वायुमण्डल – एकदूसरे के सम्पर्क में आते हैं तो जैवमण्डल की रचना होती है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 2.
क्या समग्र पृथ्वी पर जैवमण्डल है?
उत्तर:
नहीं, समग्र पृथ्वी पर जैवमण्डल नहीं है। हमारी पृथ्वी अत्यन्त विशाल है और इसके समग्र भू – भाग पर जीवन नहीं है। पृथ्वी के कुल विस्तार के एक छोटे हिस्से तक ही जैवमण्डल सीमित है।

प्रश्न 3.
पृथ्वी पर जैवमण्डल होने के क्या कारण हैं?
उत्तर:
पृथ्वी पर जैवमण्डल होने के प्रमुख कारण ये हैं –

  1. यहाँ विशाल मात्रा में जल उपलब्ध है।
  2. यहाँ पर सूर्य से लगातार ऊर्जा प्राप्त होती रहती है।
  3. यहाँ पर तरल, गैस और ठोस पदार्थ के तीनों स्वरूपों का एक अच्छा समन्वय है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 4.
मानव के किन कार्यों के द्वारा पारितंत्र का संतुलन लगातार बिगड़ता जा रहा है?
उत्तर:
वर्तमान में मानव आर्थिक विकास के नाम पर अपने स्वार्थों की पूर्ति के लिए पारितंत्र को बहुत हानि पहुँचा रहा है। मानव के इन कार्यों, जैसे

  1. प्राकृतिक वनस्पति एवं जीवों का विनाश करना
  2. मूल जन्तुओं और वनस्पति के स्थान पर विदेशी जन्तुओं और वनस्पतियों को स्थापित करना
  3. पारितंत्र के संघटकों में परिवर्तन करना
  4. उर्वरकों और कीटनाशकों का प्रयोग करना
  5. वायुमण्डल की गैसों के अनुपात बदलना
  6. पर्यावरण को प्रदूषित करना आदि से पारितंत्र का संतुलन लगातार बिगड़ता जा रहा है।

प्रश्न 5.
हमारी पृथ्वी पर कितने प्रकार की स्थलाकृतियाँ पायी जाती हैं?
उत्तर:
हमारी पृथ्वी पर निम्नलिखित प्रकार की स्थलाकृतियाँ पायी जाती हैं –

  1. पर्वत
  2. पठार
  3. मैदान
  4. नदी बेसिन
  5. समुद्र व तटीय मैदान
  6. द्वीप

प्रश्न 6.
पर्वत किसे कहते हैं?
उत्तर:
पृथ्वी पर स्थित ऐसे स्थान जो प्राकृतिक रूप से आस – पास के स्थानों से 600 मीटर से अधिक ऊँचे एवं सैकड़ों किलोमीटर लम्बे होते हैं, उन्हें पर्वत कहते हैं। ये नीचे से चौड़े और ऊपर की तरफ संकरे और नुकीले होते जाते हैं। ऊपर के नुकीले भू-भाग को पर्वत की चोटी कहते हैं। जब पर्वत एक रेखा के क्रम में होते हैं तो इसे पर्वत श्रृंखला कहते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 7.
पर्वत की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर:
पर्वत की प्रमुख विशेषताएँ निम्नलिखित हैं –

  1. पर्वतों की जलवायु आस – पास के क्षेत्रों से ठंडी होती है क्योंकि ऊँचाई के साथ – साथ तापमान गिरता रहता है।
  2. ऊँचे – ऊँचे पर्वतों से टकराकर बादल वर्षा करते हैं।
  3. पर्वतीय क्षेत्रों में ढाल तेज होने से कृषि भूमि कम ही उपलब्ध होती है तथा यहाँ लोग कम ही रहते हैं तथा यहाँ के अधिकांश लोग पशुपालन करते हैं।
  4. ये पर्वत प्राकृतिक वन्य जीवों को भी आश्रय प्रदान करते हैं।

प्रश्न 8.
पठार किसे कहते हैं? इसकी विशेषताएँ लिखिए।
उत्तर:
पठार – कम ढाल वाले ऐसे ऊँचे एवं चौड़े भू – भाग, जो ऊपर से समतल होते हैं, पठार कहलाते हैं।
विशेषताएँ –

  1. पठार सैकड़ों मीटर से हजारों मीटर तक ऊँचे हो सकते हैं।
  2. इनका उपयोग अधिकांशतः चरागाहों के रूप में किया जाता है, निचले पठारों पर कृषि भी की जाती है।
  3. पठारों में खनिजों के भण्डार अधिक होते हैं, जैसेलोहा, कोयला आदि।

प्रश्न 9.
मैदान किसे कहते हैं? इनका निर्माण कैसे होता है?
उत्तर:
सामान्यतः समतल भू-भाग को मैदान कहा जाता – है। औसत समुद्रतल से इनकी ऊँचाई 300 मीटर से कम होती है। मैदान नदियों द्वारा पोषित होते हैं और नदियों द्वारा बहाकर लाई गई मृदा के जमने से इनका निर्माण होता है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 10.
मैदान की विशेषताएँ लिखिये।
उत्तर:
मैदान की विशेषताएँ – मैदान की प्रमुख विशेषताएँ अग्रलिखित हैं –

  1. मैदान बड़े उपजाऊ होते हैं और कृषि यहाँ अधिक मात्रा में होती है।
  2. सपाट भूमि होने के कारण यहाँ परिवहन आसान होता है और सड़क तथा रेलमार्ग बनाने में आसानी होती है।
  3. यहाँ पर जनसंख्या का घनत्व भी अधिक होता है।
  4. ये दो प्रकार के होते हैं –
    तटीय मैदान – जो समुद्र के किनारे होते हैं और
    आंतरिक मैदान – जो मुख्य भूमि पर नदियों द्वारा मिट्टी एकत्रित करने से बनते हैं।

प्रश्न 11.
नदी किसे कहते हैं? ये कितने प्रकार की होती हैं?
उत्तर:
धरातल पर एक प्राकृतिक धारा के रूप में बहने वाले जल को नदी कहा जाता है। ये दो प्रकार की होती हैं –

  1. सदावाहिनी नदियाँ – ये नदियाँ ऊँचे पर्वतों से निकलती हैं और पर्वतों पर जमी बर्फ के पिघलने से वर्षभर बहती हैं, जैसे गंगा तथा यमुना नदी।
  2. मौसमी नदियाँ – ये नदियाँ केवल बरसात के मौसम में ही बहती हैं, जैसे राजस्थान की लूनी नदी।

निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
समुद्र व तटीय मैदान पर एक निबन्ध लिखिए।
उत्तर:
समुद जल का भंडार-समुद्र जल का अथाह भण्डार है। इसका जल खारा होता है। कई छोटे-छोटे सागरों से मिलकर महासागरों का निर्माण होता है जो अत्यन्त विस्तृत एवं विशाल होते हैं।
प्रमुख महासागर – पृथ्वी पर प्रमुख रूप से चार महासागर हैं –

  1. प्रशान्त महासागर
  2. अटलांटिक महासागर
  3. हिन्द महासागर तथा
  4. आर्कटिक महासागर

जीवन – इन सागरों और महासागरों में जीवन का एक अथाह संसार है। इसमें अनगिनत जीव, जैसे – मछलियाँ, केंकड़े, कछुए आदि पाए जाते हैं।

उपयोग:

  1. जल के नीचे महासागरों में भी कई स्थल रूप पाये जाते हैं, जैसे पर्वत, पठार, मैदान, खाइयाँ आदि।
  2. ये हमारे लिए भोजन व खनिजों के भी महत्त्वपूर्ण स्रोत हैं।
  3. इन सागरों का उपयोग परिवहन के सस्ते साधन के रूप में किया जाता रहा है। सागरों में नावों तथा बड़े-बड़े जहाजों की सहायता से
  4. बिना कोई सड़क या रेल मार्ग का निर्माण किए, सामान को दूर-दराज के इलाकों तक पहुँचाया जा सकता है।

समुद्र तट:
समुद्रों के किनारे स्थित स्थल को समुद्र-तट कहा जाता है। इनका इस्तेमाल लोग मनोरंजन व सैर-सपाटे के लिए करते हैं। समुद्र के किनारे रहने वाले लोग मछली पालन भी करते, हैं तथा तट से थोड़ी दूर कृषि भी होती है।

RBSE Solutions for Class 7 Social Science Chapter 1 जैवमंडल और भू-दृश्य

प्रश्न 2.
पर्यावरण और पारितंत्र से आप क्या समझते हैं? पर्यावरण को प्रभावित करने वाले प्रमुख कारकों को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
पर्यावरण – जैविक और अजैविक दोनों प्रकार की चीजों ने हमें घेर रखा है, उन सबको मिलाकर पर्यावरण कहा जाता है।
पारितंत्र – जैविक और अजैविक पर्यावरण के पारस्परिक अन्तर्सम्बन्धों की जटिल व्यवस्था को पारितंत्र कहते हैं। इसमें सभी जीव परस्पर प्रभावित होते हैं। साथ ही वे अपने पर्यावरण से न केवल प्रभावित होते हैं, बल्कि स्वयं पर्यावरण को भी प्रभावित करते हैं।

पर्यावरण को प्रभावित करने वाले तत्त्व – पर्यावरण को प्रभावित करने वाले प्रमुख तत्त्व ये हैं:
1. ऊर्जा – सभी जीव-जन्तुओं को जीवित रहने के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है जो उन्हें परस्पर निर्भर होने से तथा पर्यावरण से प्राप्त होती है। पृथ्वी पर ऊर्जा का प्रमख स्रोत सूर्य है, जिसकी सहायता से पेड़ – पौधे अपना भोजन बनाते हैं। यही ऊर्जा एक प्राणी से दूसरे प्राणी तक एक खाद्य श्रृंखला तथा खाद्य – जाल के रूप में हस्तांतरित होती है।

2. भौगोलिक कारक – पृथ्वी के अण्डाकार होने तथा ऊबड़| खाबड़ सतह के कारण भूमध्य रेखा से ध्रुवों तक जलवायु में परिवर्तन होता रहता है। ये सभी भौगोलिक परिस्थितियाँ पर्यावरणीय भिन्नताएँ व्यक्त करती हैं जिनके परिणामस्वरूप पृथ्वी के हर कोने में भाँति-भाँति के जीव हैं।

3. जीव – केवल ऊर्जा और भौगोलिक कारक ही नहीं जीव भी पर्यावरण को प्रभावित करते हैं।

4. मानव – मानव भी पर्यावरण को प्रभावित करते हैं। मानव ने अपने पर्यावरण में सही और गलत बहुत परिवर्तन किये हैं। जैसे सिंचाई की सहायता से रेगिस्तान में कृषि |करना, जंगलों को काटना आदि।

Leave a Comment