RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

RBSE Solutions for Class 7 Hindi

Rajasthan Board RBSE Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ (कविता)

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ पाठ्य-पुस्तक के प्रश्नोत्तर

पाठ से

सोचें और बताएँ –

प्रश्न 1.
कविता में किसे जगाने के लिए कहा गया है?
उत्तर:
कविता में आलसी, झूठे सपने देखने वाले एवं असावधान व्यक्ति को जगाने के लिए कहा गया है।

प्रश्न 2.
पंछी से क्या आग्रह किया गया है?
उत्तर:
पंछी से आग्रह किया गया है कि वह सोये हुए व्यक्ति के कानों में जोर से चिल्लाये, उसे जगाये।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

प्रश्न 3.
पवन से क्या आग्रह किया गया है?
उत्तर:
पवन से आग्रह किया गया है कि वह सोते हुए आलसी व्यक्ति को हिलाये, तेज हवा से उसे जगा दे।

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ लिखेंबहुविकल्पी प्रश्न

प्रश्न 1.
भई, सूरज में ‘भई’ संबोधन किस प्रकार का है?
(क) औपचारिक
(ख) आत्मीय
(ग) आदरसूचक
(घ) श्रद्धासूचक।
उत्तर:
(ख) आत्मीय

प्रश्न 2.
कविता में ‘क्षिप्र’ किसे कहा गया है?
(क) जो घबरा कर भागता है।
(ख) जो तेज गति से चलता है।
(ग) जो अवसर नहीं चूकता है।
(घ) जो क्षण भर को सजग रहता है।
उत्तर:
(ख) जो तेज गति से चलता है।

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
इस कविता में कवि सोए हुए को जगाने का अनुरोध क्यों करता है?
उत्तर:
कवि इसलिए ऐसा अनुरोध करता है कि सोया हुआ व्यक्ति आलसी हो जाता है। वह सच्चाई से अनजान रहता है। वह कोरे सपनों को देखता है और स्वयं असावधानअचेत रहकर जीवन में उन्नति नहीं कर पाता है। वह अपना काम समय पर पूरा नहीं कर पाता है और घबराहट में जाग जाने से गलती भी करता है। कवि चाहता है कि सोया हुआ व्यक्ति जाग जावे, जागरूक रहकर अपने जीवन में उन्नति करे, सफलता प्राप्त करे।।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

प्रश्न 2.
बेवक्त जागने का क्या परिणाम होता है?
उत्तर:
बेवक्त जागने का यह परिणाम होता है कि ऐसा व्यक्ति हड़बड़ाहट में अपना काम पूरा करना चाहता है। उसे काम समय पर न होने की चिन्ता सताती है। इस कारण वह काम करते समय पूरी सावधानी भी नहीं रख पाता है। इससे उसका काम बिगड़ जाता है, उसे असफलता मिलती है। ऐसे व्यक्ति को लोग धिक्कारते हैं। इस तरह बेवक्त जागने से समय का सही उपयोग नहीं होता है और गया | हुआ समय वापिस न आने से अच्छा अवसर चला जाता है।

प्रश्न 3.
इस कविता में कवि ने किस-किससे सोए हुए को जगाने का आग्रह किया है?
उत्तर:
इस कविता में कवि भवानीप्रसाद मिश्र ने सोए हुए | व्यक्ति को जगाने के लिए पहले सूर्य से, फिर वायु से और पक्षी से आग्रह किया है। भाव यह है कि कवि ने प्रातः काल की प्रकृति से आग्रह किया है।

प्रश्न 4.
घबराकर भागना क्षिप्र गति से अलग कैसे है?
उत्तर:
क्षिप्र अर्थात् तेज गति से भागने या दौड़ने से मन में एक ही लक्ष्य रहता है, दौड़ने वाला सावधानी भी रखता है। परन्तु घबराकर भागने में सावधानी पूरी नहीं रहती है, दौड़ने वाले के मन में बेचैनी रहती है और वह अपने शरीर व मन पर नियन्त्रण नहीं रख पाता है। इस प्रकार घबराकर भागना क्षिप्र गति से पूरी तरह अलग है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
“जो सच से बेखबर है, सपनों में खोया पड़ा है” पंक्ति का आशय स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
सपनों में खोया रहने वाला व्यक्ति कोरी कल्पनाओं से घिरा रहता है। ऐसे व्यक्ति को सच्चाई या वास्तविकता का ज्ञान नहीं रहता है। इस कारण वह कार्य के अनुसार सावधान भी नहीं रहता है। वास्तविकता और कल्पना ये दोनों बातें परस्पर विरोधी हैं। सच्चाई से परिचित व्यक्ति कभी कोरी बातें या कोरे सपने नहीं सोचता है। वास्तविकता से परिचित व्यक्ति सदा जागरूक और सावधान रहता है। अतः सच से बेखबर व्यक्ति जीवन में असफल रहता है, वह उचित कोशिश नहीं कर पाता है।

प्रश्न 2.
कविता का मूल भाव स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
‘इसे जगाओ’ कविता सावधान एवं जागरूक रहने की प्रेरणा देने वाली रचना है। इसका मूल भाव यह है कि प्रत्येक व्यक्ति को जीवन से आलस्य को त्याग कर सचेत रहना चाहिए, कोरे सपने देखने की बजाय सच्चाई का सामना करना चाहिए। समय पर सचेत होकर काम करने वाला सफल रहता है। वास्तविक स्थिति से परिचित व्यक्ति सदैव जागरूक रहता है। कवि ने इस कविता में सदा सचेत एवं जागरूक रहने का सन्देश देकर मानवतावादी संवेदना व्यक्त की है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

भाषा की बात

प्रश्न 1.
सूची एक व दो के समान अर्थ वाले शब्दों का – मिलान कीजिए –
RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ - 1
उत्तर:
अग्नि – आग, पावक, अगन
आकाश – नभ, गगन, व्योम
पेड़ – वृक्ष, दरख्त, विटप
पानी – जल, वारि, तोय
बेटा – पुत्र, सुत, तनय।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित शब्दों के विलोम शब्द बताइएवक्त, सोना, सच, आगे।
उत्तर:
विलोम शब्द वक्तबेवक्त। सोना-जागना। सच-झूठ। आगे-पीछे।

प्रश्न 3.
‘भई, सूरज, इसे जगाओ’ पंक्ति में ‘भई’ शब्द का प्रयोग किया गया है। बोलचाल की हिन्दी में अक्सर ‘भई’ शब्द संबोधन के लिए उपयोग में लिया जाता है। नीचे दिए उदाहरण को पढ़कर आप भी ऐसे तीन वाक्य लिखिए, जैसेभई, तुम भी तो यह काम कर सकते थे।
उत्तर:
(1) भई, तुम भी तो मेहनत कर सकते थे।
(2) भई, तुम भी तो गा सकते थे।
(3) भई, तुम भी तो दौड़ सकते थे।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

प्रश्न 4.
अन्तर बताइए –
(क) ज़रा-जरा –
(ख) राज-राज।
उत्तर:
(क) ‘जरा-जरा’ में उर्दू-फारसी के कारण अन्तर आया है। ‘ज़’ वर्ण के नीचे नुक्ती लगाने से इसका उच्चारण कुछ बल के साथ किया जाता है।
(ख) ‘राज’ ‘राज’ में भी यही अन्तर है।

पाठ से आगे

प्रश्न 1.
‘इसे जगाओ’ कविता में कवि क्या यह कहना चाहता है कि आदमी सपने न देखे? तर्क सहित उत्तर दीजिए।
उत्तर:
इसमें कवि यह कहना चाहता है कि व्यक्ति सपने जरूर देखे, परन्तु ऐसे सपने देखे, जो सच हो सकते हों। जीवन में बड़ा आदमी बनने का सपना देखना उचित है, क्योंकि उस सपने के अनुसार काम करने से व्यक्ति बड़ा बन सकता है। परन्तु कोरे सपने नहीं देखने चाहिए। जो सपने कभी पूरे न हों, ऐसे सपने नहीं देखने चाहिए। कोरे सपनों से व्यक्ति का जीवन असफल रहता है। अतः आदमी ऐसे सपने न देखे।

प्रश्न 2.
कविता में सूरज, हवा और पक्षी प्रकृति के इन तीन अवयवों का वर्णन हुआ है। हम इनसे किन गुणों को सीख सकते हैं?
उत्तर:
हम इन तीनों से सदा जागरूक रहना, सदा गतिशील | रहना, कभी आलस्य न करना और खुशहाल जीवन के गीत गाना या प्रसन्न रहना आदि गुण सीख सकते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

यह भी करें

प्रश्न –
‘इसे जगाओ’ कविता सरल व सहज शब्दों में सपनों में खोए रहने वाले आदमी को वास्तविकता से परिचित करवाकर जागरूक बनाने का सन्देश देती है। कवि अपने संदेश के लिए प्रकृति को माध्यम बनाता है। आप भी सरल भाषा में ऐसी कविता की रचना करें जो भूले-भटकों को राह दिखा सके। उत्तर-कक्षा में अध्यापक की सहायता से स्वयं करें।

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ अन्य महत्त्वपूर्ण प्रश्न

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ वस्तुनिष्ठ प्रश्न

प्रश्न 1.
वक्त पर जगाने के लिए किसे कहा है?
(क) पंछी को
(ख) सूर्य को
(ग) पवन को
(घ) दिन को।
उत्तर:
(ख) सूर्य को

प्रश्न 2.
सही समय पर सजग रहता है –
(क) घबराकर चलने वाला
(ख) सपने में सोने वाला
(ग) क्षिप्र गति से चलने वाला
(घ) अच्छी तरह चलने वाला।
उत्तर:
(ग) क्षिप्र गति से चलने वाला

प्रश्न 3.
‘इसे जगाओ’ कविता के रचयिता हैं –
(क) रामचन्द्र शुक्ल
(ख) गोपालसिंह ‘नेपाली’
(ग) यतीश अग्रवाल
(घ) भवानीप्रसाद मिश्र।
उत्तर:
(घ) भवानीप्रसाद मिश्र।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

प्रश्न 4.
सोए हुए आदमी को हिलाने के लिए किसे कहा गया है?
(क) पवन को
(ख) पंछी को
(ग) सूरज को
(घ) सचेत को।
उत्तर:
(क) पवन को

रिक्त स्थानों की पूर्ति

प्रश्न 5.
नीचे रिक्त स्थानों की पूर्ति कोष्ठक में दिए सही शब्दों से कीजिए –
(क) जो …………. से बेखबर है। (झूठ / सच)
(ख) इसके ……….. पर चिल्लाओ। (आँखों / कानों)
(ग) उन्हें पाने घबरा के ……… यह। (चलेगा / भागेगा)
(घ) सपनों में ………… पड़ा है। (खोया / सोया)
उत्तर:
(क) सच
(ख) कानों
(ग) भागेगा
(घ) खोया।

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 6.
‘इसे जगाओ’ कविता के रचयिता का नाम बताइये।
उत्तर:
‘इसे जगाओ’ कविता के रचयिता का नाम पं. भवानीप्रसाद मिश्र है।

प्रश्न 7.
‘सूरज’ और ‘पंछी’ शब्द के तत्सम रूप लिखिए।
उत्तर:
सूरज-सूर्य, पंछी-पक्षी।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

प्रश्न 8.
सही क्षण में सजग किसे बताया गया है?
उत्तर:
जो सदा सावधान रहकर क्षिप्र गति से आगे बढ़ता है, उसे ही सही क्षण में सजग बताया गया है।

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 9.
‘इसे जगाओ’ शीर्षक कविता में क्या सन्देश दिया गया है?
उत्तर:
‘इसे जगाओ’ कविता जागरण भाव पर आधारित है। इस संसार में कुछ लोग केवल कोरे सपने देखते हैं, मन में कोरी कल्पनाएँ करते हैं, परन्तु काम करने में आलसी एवं असावधान रहते हैं। इस कारण वे जीवन में असफल रहते हैं। अतः इस कविता में कवि ने सन्देश दिया है कि कोरे सपनों में न खोकर वास्तविकता से परिचित होना चाहिए और सदा जागरूक रहना चाहिए। समय पर सचेत होने वाला ही सफलता पाता है।

प्रश्न 10.
‘वक्त पर जगाओ’ इससे कवि क्या कहना चाहता है?
उत्तर:
कवि कहना चाहता है कि प्रत्येक काम का समय तय रहता है। रात में सोया जाता है, तो दिन में जागकर कई काम किये जाते हैं। परन्तु जो आदमी दिन में सोया रहता है और | सुबह समय पर नहीं जागता है, वह काम करने में दूसरों से पिछड़ जाता है। वह समय का महत्त्व नहीं समझता है और समय पर न जागने से अपना ही नुकसान करता है। अतः व्यक्ति को समय पर जागना चाहिए, सदा जागरूक रहना चाहिए।

RBSE Class 7 Hindi इसे जगाओ निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 11.
‘इसे जगाओ’ कविता का भावार्थ लिखिए।
उत्तर:
‘इसे जगाओ’ शीर्षक कविता में कवि ने सूर्य से कहा है कि दिन हो गया है, परन्तु आलसी एवं असावधान व्यक्ति सो रहा है, वह सोते समय कोरे सपने देख रहा है। अतः इसे जगाओ। इसी प्रकार कवि पवन से कहता है कि तुम इस सोए हुए व्यक्ति को हवा का झोंका देकर, इसे हिलाकर जगा दो। प्रात:काल होते ही पक्षी चहचहाने लगते हैं। कवि पक्षी को कहता है कि तुम सोए हुए व्यक्ति के कानों में जोर से चहचहाओ, जोर से चिल्लाओ, ताकि इसकी नींद टूट जावे और यह जाग जावे। जो व्यक्ति समय पर नहीं जागता है, वह जीवन में उन्नति की दौड़ में पिछड़ जाता है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

पाठ-परिचय
इस कविता के रचयिता कवि भवानीप्रसाद मिश्र हैं। इसमें कवि ने आलसी एवं सोये हुए व्यक्ति को जगाने के लिए कहा है। सपनों में खोए रहने वाले आदमी को सच्चाई से परिचित कराने का सन्देश दिया गया है।

सप्रसंग व्याख्याएँ –

(1) भई, सूरज ……….. चिल्लाओ।
कठिन-शब्दार्थ:
पवन = हवा। बेखबर = अनजान । जरा = थोड़ा।

प्रसंग:
यह पद्यांश ‘इसे जगाओ’ शीर्षक पाठ से लिया गया है। इसके रचयिता कवि भवानीप्रसाद मिश्र हैं। इसमें सचेत न रहने वाले व्यक्ति को जगाने व सावधान होने के लिए कहा गया है।

व्याख्या – कवि कहता है कि हे भाई सूर्य, सपनों में सोए हुए इस व्यक्ति को जगा दो। हे प्रिय वायु, तुम थोडासा इस सोये हुए या आलस में पड़े हुए आदमी को हिलाओ, अर्थात् सचेत करो। यह आदमी आलसी एवं असावधान है और सच से अनजान बनकर सोया हुआ है, इसे तुम जागरूक करो।

यह अभी भी सपनों में अर्थात् कोरी कल्पनाओं में पड़ा हुआ है, इसे वास्तविकता का जरा भी पता नहीं है। हे प्रिय पक्षी, तुम इस सोये हुए व्यक्ति के कानों पर चिल्लाओ, अर्थात् तेज आवाज में चहचहाओ, ताकि यह जाग जावे। भाव यह है कि कोरे सपनों को लेकर आलसी एवं असावधान नहीं रहना चाहिए। व्यक्ति को सच्चाई का ध्यान रखकर जागरूक रहना चाहिए।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

(2) भई, सूरज …… भागेगा यह।

कठिन-शब्दार्थ:
बेवक्त = बेसमय, बुरा समय।

प्रसंग – यह पद्यांश कवि भवानीप्रसाद मिश्र के द्वारा रचित ‘इसे जगाओ’ शीर्षक कविता से लिया गया है। इसमें असावधान और सोए हुए व्यक्ति को जागरूक रहने के लिए कहा है। ___

व्याख्या – कवि कहता है कि हे प्रिय सूर्य! इस सोए हुए आदमी को जरा जगा दो। इसे तुम समय पर जगा दो। यदि यह गलत समय पर जागेगा, अर्थात् सही समय पर नहीं जागेगा, तो इसे नुकसान उठाना पड़ेगा। क्योंकि इससे पहले जो लोग जाग जायेंगे, वे काफी आगे निकल जायेंगे। उन लोगों की बराबरी तक पहुँचने के लिए यह घबराकर भागेगा। ऐसा करने से इसे ही हानि होगी। भाव यह है कि समय पर जाग जाने से प्रत्येक काम ठीक तरह से हो जाता है और हानि नहीं उठानी पड़ती है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 3 इसे जगाओ

(3) घबरा के भागना …………. चिल्लाओ।

कठिन-शब्दार्थ:
क्षिप्र = तेज, तीव्र। गति = चाल। सजग = सचेत।

प्रसंग – यह पद्यांश ‘इसे जगाओ’ शीर्षक कविता वाले पाठ से लिया गया है। इसके रचयिता कवि भवानीप्रसाद मिश्र हैं। इसमें सही समय पर जागने और सावधानी से आगे बढ़ने का भाव प्रकट किया गया है।

व्याख्या – कवि कहता है कि घबरा कर भागना अलग बात है और तेज चाल से आगे बढ़ना अलग बात है। अर्थात् घबराहट में भागने से गलती हो सकती है। तेज गति से वही व्यक्ति चलता है, जो सही समय पर जाग जाता है और सदा सचेत या सावधान रहता है। ऐसे ही सजग व्यक्ति को जीवन में सफलता मिलती है। इसलिए हे सूर्य, इस सोए हुए व्यक्ति को समय पर जगाओ, हे पवन, इसे जगाने के लिए हिलाओ और हे पक्षी, तुम इसके कानों पर चिल्लाओ ताकि इसे चेत हो जाये।

Leave a Comment