RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

RBSE Solutions for Class 7 Hindi

Rajasthan Board RBSE Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर (कहानी)

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर पाठ्य-पुस्तक के प्रश्नोत्तर

पाठ से

सोचें और बताएँ –

प्रश्न 1.
छोटे जादूगर ने मेले में क्या-क्या देखा?
उत्तर:
छोटे जादूगर ने मेले में चूड़ी फेंकते, खिलौनों पर निशाना लगाते, तीर से नम्बर छेदते और ताश का खेल देखा।

प्रश्न 2.
छोटा जादूगर पर्दे के पीछे क्यों नहीं गया था?
उत्तर:
पर्दे के पीछे आने का टिकट लगता था और छोटे जादूगर के पास टिकट के पैसे नहीं थे। इसलिए वह पर्दे के पीछे नहीं गया था।

लिखें –

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर बहुविकल्पी प्रश्न

प्रश्न 1.
छोटे जादूगर के पिता उन दिनों थे –
(क) शहर में
(ख) जेल में
(ग) कार्निवाल में
(घ) खेत में।
उत्तर:
(ख) जेल में

प्रश्न 2.
छोटा जादूगर अपनी माँ के लिए ले जाना चाहता था –
(क) उपहार
(ख) धन
(ग) साड़ी
(घ) पथ्य
उत्तर:
(घ) पथ्य

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 3.
“मुझे शरबत न पिलाकर आपने मेरा खेल देखकर मुझे कुछ दे दिया होता, तो मुझे अधिक प्रसन्नता होती।” इस कथन से छोटे जादूगर के व्यक्तित्व के किस पहलू का पता चलता है –
(क) स्वार्थीपन का
(ख) याचना की प्रवृत्ति का
(ग) माँ के प्रति कर्त्तव्य निर्वाह का
(घ) खाने-पीने की प्रवृत्ति का
उत्तर
(ग) माँ के प्रति कर्त्तव्य निर्वाह का

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
छोटा जादूगर किसको कहा गया है?
उत्तर:
खिलौनों से साधारण खेल दिखाने वाले बालक को छोटा जादूगर कहा गया है?

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 2.
छोटे जादूगर ने कितने खिलौनों पर गेंद से निशाना लगाया?
उत्तर:
छोटे जादूगर ने बारह खिलौनों पर गेंद से निशाना लगाया।

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
छोटे जादूगर के पिता जेल में क्यों गए?
उत्तर:
उस समय देश की आजादी के आन्दोलन चल रहे थे। उसमें हजारों देशभक्त साथ दे रहे थे। छोटे जादूगर का पिता भी उस आन्दोलन में था। इसी से अंग्रेज सरकार ने उसे गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था।

प्रश्न 2.
लेखक की पत्नी ने छोटे जादूगर से क्या कहा?
उत्तर:
लेखक की पत्नी ने छोटे जादूगर से कहा कि तुम अपना खेल.हमें दिखलाओ। इससे हमारा मन बहल जायेगा और यहाँ पर हमारा मन भी लग जायेगा।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 3.
छोटे जादूगर का खेल उस दिन क्यों नहीं जमा?
उत्तर:
उस दिन छोटे जादूगर की माँ की तबीयत ज्यादा खराब थी। उसने कहा था कि तुरन्त चले आना। मेरी अन्तिम घड़ी समीप है। माँ के ऐसे कहने से छोटा जादूगर काफी दुःखी एवं उदास हो रहा था। इसी कारण उसका खेल नहीं जमा।

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
लेखक ने छोटे जादूगर की झोपड़ी में क्या देखा?
उत्तर:
लेखक जब छोटा जादूगर की झोंपड़ी में गया, तो उसने देखा कि एक कमजोर शरीर की स्त्री काँप रही थी। उसके शरीर पर फटे-पुराने कपड़े थे। वह बीमार थी। छोटे जादूगर ने अपनी माँ के ऊपर से एक कंबल डाला और वह उससे लिपट गया। उस दृश्य को देखकर अर्थात् उनकी गरीबी तथा छोटे जादूगर की बीमार माँ को देखकर लेखक की आँखों से आँसू निकल पड़े। लेखक जब अन्तिम बार उसकी झोंपड़ी में गया, तो उसने उसकी बीमार माँ का। प्राणान्त होते देखा।

प्रश्न 2.
कहानी के आधार पर छोटे जादूगर की दशा का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
प्रस्तुत कहानी में छोटा जादूगर को तेरह-चौदह वर्ष का बालक बताया गया है। उसके पिताजी देश की खातिर जेल में बन्द हैं, तो उसकी माँ असाध्य बीमार है। वह बालक स्वावलम्बी व स्वाभिमानी है। वह भीख न माँगकर अपना खेल दिखाता है और उससे जो कुछ मिलता है, उसी से अपना पेट भरता है और अपनी बीमार माँ की देखभाल करता है। वह बालक चंचल भी है तो पक्का निशानेबाज कलाकार भी है। वह अपनी माँ से अत्यधिक प्यार करता है। वह एकदम गरीब एवं बेसहारा बालक है।

भाषा की बात –

प्रश्न 1.
निम्नलिखित मुहावरों का अर्थ स्पष्ट करते हुए उनका वाक्य में प्रयोग कीजिए –
(क) लोट-पोट होना
(ख) अंतिम घड़ी समीप आना
(ग) नौ दो ग्यारह होना
(घ) आँखें बदलना।
उत्तर:
(क) लोट – पोट होना = बहुत प्रसन्न होना।
प्रयोग – उस छोटे-से बालक की नटखट बातें व तमाशा देखकर सभी लोग लोट-पोट हो गये।।

(ख) अन्तिम घड़ी समीप आना = मृत्यु निकट आना।
प्रयोग – अन्तिम घड़ी समीप आते ही जबान लड़खड़ा जाती कान दूध

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

(ग) नौ दो ग्यारह होना = तुरन्त भाग जाना।
प्रयोग – पुलिस को देखते ही लुटेरे नौ-दो ग्यारह हो गये।

(घ) आँखें बदलना = स्वार्थी आचरण करना।
प्रयोग – स्वार्थी लोग अपना काम बनते ही आँखें बदल देते हैं।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित तत्सम शब्दों के तद्भव रूप लिखिए –
कर्ण, दुग्ध, नृत्य, रात्रि।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर - 1

प्रश्न 3.
निम्नलिखित शब्दों का उनके सामने लिखे अर्थ से मिलान कीजिए –
जैसे –
तिरस्कार – उपेक्षा
समग्र – बंदीगृह
स्वीकार – रास्ता
पथ – आवास
कारावास – मंजूर
निकेतन – पूरा
उत्तर:
समग्र – पूरा,
स्वीकार – मंजूर।
पथ – रास्ता
कारावास – बन्दीगृह।
निकेतन – आवास।

पाठ से आगे
प्रश्न 1.
छोटे जादूगर की माँ अपने पुत्र के बारे में क्या सोचती होगी?
उत्तर:
एक गरीब एवं बीमार माँ अपने बालक को लेकर सोचती होगी, वह कैसे रहेगा, पैसा कहाँ से कमायेगा और मेरी मृत्यु के बाद उसका सहारा कौन बनेगा? तब वह पूरी तरह अकेला रह जायेगा। भगवान् ऐसे बेसहारा बालक की रक्षा करे।

प्रश्न 2.
छोटे जादूगर के स्थान पर आप होते तो माँ के लिए क्या-क्या करते और कैसे?
उत्तर:
यदि हम छोटे जादूगर के स्थान पर होते तो माँ के लिए दवा की व्यवस्था करते और उसका इलाज किसी सरकारी अस्पताल में कराते। इसलिए हम लोगों से सहायता पाने या पथ्य की व्यवस्था करने की कोशिश करते। हम माँ की पूरी देखभाल करते, रात में उसके हाथ-पैरों की मालिश करते और उसके पथ्य का पूरा ध्यान रखते। दिन में कहीं मजदूरी करके या जादू का खेल दिखा करके कुछ रुपये कमाने की पूरी कोशिश करते। माँ के इलाज के लिए जीजान से प्रयास करते।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

यह भी करें –
प्रश्न 1.
क्या आपने कभी जादू का खेल देखा है। एक जादूगर कौन-कौनसे खेल दिखाता है? अपने अनुभव के आधार पर लिखिए।
उत्तर:
हमने एक बार किसी जादूगर को खेल दिखाते हुए देखा। उसने ये खेल दिखाये –

  1. कागज के टुकड़े को सौ का नोट बनाया
  2. डिब्बे में बन्द एक कबूतर को गायब कर दिया
  3. अपने मुँह से बड़े-बड़े गोले निकालता रहा और
  4. अपनी जेब से मेंढक निकालने का दृश्य दिखाया।

हमें उस जादूगर के खेल को देखकर काफी आश्चर्य और प्रसन्नता हुई। इससे हमें ताजगी और फुर्ती का अनुभव हुआ।

प्रश्न 2.
छोटे बच्चों को विभिन्न प्रकार के कामों में लगाना बालश्रम कहलाता है। बाल मजदूरी कानूनी तौर पर मना है। क्या इस कहानी में छोटे बालक का खेल दिखाना उचित माना जाएगा? अपनी कक्षा में इसकी चर्चा करें।
उत्तर:
जब कोई बच्चा अपने घर का काम करता है, तो वह मजदूरी करना नहीं माना जाता है। छोटा बालक अपनी माँ की व अपने पेट की खातिर खेल दिखा रहा था। स्वावलम्बन की दृष्टि से वह उचित ही था। वह यदि भीख माँगने लगता, तो वह गलत था। अपना कोई भी काम स्वयं करने। में गर्व होना चाहिए और स्वाभिमान रखना चाहिए।

यह भी जानें –

प्रश्न – जयशंकर प्रसाद की ‘छोटा जादूगर’ कहानी का मुख्य पात्र एक तेरह-चौदह वर्षीय किशोर है। प्रेमचंद द्वारा रचित ‘ईदगाह’ कहानी का मुख्य पात्र भी एक बालक है। अपने विद्यालय के पुस्तकालय से ‘ईदगाह’ तलाश कर पढ़िए।
उत्तर:
पुस्तकालय से प्रेमचन्द की कहानियों की पुस्तकें लेकर पढ़िए।

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर अन्य महत्त्वपूर्ण प्रश्न

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर वस्तुनिष्ठ प्रश्न

प्रश्न 1.
छोटा जादूगर की अवस्था कितनी बताई गई है?
(क) तेरह – चौदह वर्ष
(ख) सात – आठ वर्ष
(ग) दस – ग्यारह वर्ष
(घ) पाँच – सात वर्ष
उत्तर:
(क) तेरह – चौदह वर्ष

प्रश्न 2.
माँ बीमार है, इसलिए छोटा जादूगर आया था –
(क) भीख माँगने
(ख) तमाशा दिखाने
(ग) खेल-कूद करने
(घ) सैर करने
उत्तर:
(ख) तमाशा दिखाने

प्रश्न 3.
“बाबूजी जेल में हैं।” इस कथन से छोटा जादूगर ने व्यक्त किया –
(क) विषाद
(ख) निराशा
(ग) क्रोध
(घ) गर्व
उत्तर:
(ग) क्रोध

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 4.
निशाना लगाकर छोटा जादूगर ने कितने खिलौने बटोरे?
(क) दस
(ख) आठ
(ग) बारह
(घ) तेरह
उत्तर:
(घ) तेरह

प्रश्न 5.
“दिखलाओ जी, तुम तो अच्छे आए।” यह किसने कहा?
(क) लेखक ने
(ख) लेखक की पत्नी ने
(ग) छोटा जादूगर ने
(घ) दर्शकों ने
उत्तर:
(ख) लेखक की पत्नी ने

रिक्त स्थानों की पूर्ति –
प्रश्न 6.
निम्न रिक्त स्थानों की पूर्ति कोष्ठक में दिये गये सही शब्दों से कीजिए –
(क) जेब में कुछ ………….. के पत्ते थे। (ताश / खेल)
(ख) हम दोनों ………. पीकर निशाना लगाने चले। (पानी / शरबत)
(ग) उसने बारह …………. को बटोर लिया। (गेंदों / खिलौनों)
(घ) जादूगर की …………. में प्रसन्नता नहीं थी। (कला / वाणी)
उत्तर:
(क) ताश
(ख) शरबत
(ग) खिलौनों
(घ) वाणी।

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 7.
छोटा जादूगर ने अपने पिता के बारे में क्या बताया?
उत्तर:
छोटा जादूगर ने बताया कि पिताजी आजादी के आन्दोलन में भाग लेने से इस समय जेल में हैं।

प्रश्न 8.
छोटा जादूगर चाहकर भी स्वयं जेल क्यों नहीं गया?
उत्तर:
उसकी माँ बीमार थी, उसकी देखभाल करने वाला और कोई नहीं था। इसी कारण वह जेल नहीं गया।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 9:
“और तुम तमाशा देख रहे हो?” इस कथन का छोटा जादूगर ने क्या उत्तर दिया?
उत्तर:
उसने उत्तर दिया कि तमाशा देखने नहीं दिखाने निकला हूँ। कुछ पैसे ले जाऊँगा, तो माँ को पथ्य दूँगा।

प्रश्न 10.
“आज तुम्हारा खेल जमा क्यों नहीं?” इस प्रश्न का छोटा जादूगर ने क्या उत्तर दिया?
उत्तर:
उसने उत्तर दिया कि माँ बीमार है, उसने कहा कि आज तुरन्त चले आना। मेरी अन्तिम घड़ी समीप है।

प्रश्न 11.
श्रीमतीजी ने पूछा कि तुम इस एक रुपये का क्या करोगे? तब छोटा जादूगर ने क्या कहा?
उत्तर:
छोटा जादूगर ने कहा कि मैं पहले भरपेट पकौड़ी खाऊँगा, फिर माँ के लिए एक सूती कम्बल लूँगा।

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 12.
जब लेखक वनस्पति उद्यान में बैठा था, तो उसे छोटा जादूगर कैसे दिखाई पड़ा?
उत्तर:
उस समय लेखक को छोटा जादूगर ऐसे दिखाई पड़ा”हाथ में चार-खाने का खादी का झोला, साफ जांघिया और आधी बाँहों का कुर्ता, सिर पर मैला रुमाल सूत की रस्सी से बँधा था। वह मस्तानी चाल से झूमता हुआ आ रहा था।” अर्थात वह साधारण पहनावे में मस्ती से आता दिखाई पडा।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 13.
लेखक की पत्नी के आग्रह पर छोटा जादूगर ने कौन-से खेल दिखाये?
उत्तर:
छोटा जादूगर ने लेखक की पत्नी के कहने पर ये खेल दिखाये – भालू मनाने लगा तो बिल्ली रूठने लगी। बन्दर घुड़कने लगा। गुड़िया का ब्याह हुआ। गुड्डा वर काना निकला। इस तरह वह खेल दिखाते हुए अपनी वाणी की चतुराई से सारा अभिनय कर रहा था।

प्रश्न 14.
“यही तो संसार है।” लेखक ने ऐसा कब और क्यों कहा?
उत्तर:
छोटा जादूगर तेरह-चौदह वर्ष का बालक था। पिता के जेल चले जाने और माँ के बीमार पड़ने से उसके सामने जीविका चलाने का और माँ की देखभाल का प्रश्न था । इसी से वह जरूरत के अनुसार स्वयं को ढाल रहा था और आत्मविश्वास से खेल-तमाशा दिखाने में चतुर बन गया था। संसार में जिम्मेदारी पड़ने पर व्यक्ति सब कुछ सीख लेता है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 15.
“ओह! कितना स्वार्थी हूँ मैं।” लेखक ने ऐसा कब और क्यों सोचा?
उत्तर:
लेखक की पत्नी ने छोटा जादूगर का खेल देखकर उसे एक रुपया दिया। तब उसने कहा कि मैं पहले पकौड़ी खाऊँगा, फिर एक सूती कंबल लूँगा। उसकी ये बातें सुनकर लेखक ऐसा सोचने लगा और छोटा जादूगर से ईर्ष्या करने के | बाद अपनी कमजोरी को लेकर उसने ऐसा सोचा।

प्रश्न 16.
छोटा जादूगर में कौन-सा गुण था?
उत्तर:
छोटा जादूगर का पिता जेल में था, उसकी माँ असाध्य बीमार थी। तब वह लोगों से भीख न माँगकर बडे धैर्य से अपनी जीविका चलाना चाहता था। उसने खेल-तमाशा दिखाकर 230 कुछ पैसे कमाना शुरू कर दिया था। इस प्रकार उसमें आत्मविश्वास और स्वावलम्बन का गुण सर्वाधिक रूप में था।

RBSE Class 7 Hindi छोटा जादूगर निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 17.
‘छोटा जादूगर’ कहानी से क्या सन्देश दिया गया है?
उत्तर:
‘छोटा जादूगर’ कहानी में उस समय की घटना का वर्णन हुआ है, जब देश पराधीन था। छोटा जादूगर नाम का बालक पिता के साथ ही जेल जाना चाहता था। इस तरह वह देश-भक्ति की भावना वाला बालक था। अपनी बीमार माँ की देखभाल करने और अपनी जीविका चलाने का प्रयास करता हुआ वह स्वावलम्बी व स्वाभिमानी दिखाया गया है। इस कहानी से यह सन्देश दिया गया है कि स्वदेश-प्रेम की भावना रखनी चाहिए और आत्मविश्वास के साथ स्वावलम्बी बनने का प्रयास करना चाहिए।

प्रश्न 18.
छोटा जादूगर के चरित्र की विशेषताएँ बताइये।
उत्तर:
छोटा जादूगर तेरह-चौदह वर्ष का बालक था। वह चंचल स्वभाव का था, परन्तु काफी चतुर था। वह निशाना लगाने में, जादू का खेल दिखाने में काफी चतुराई एवं वाचालता दिखाता था। वह मेहनती था, अपनी बीमार माँ की देखभाल करता था और उससे स्वाभाविक प्रेम रखता था। वह ईमानदार व स्वावलम्बी बालक था। वह सच्चा देशभक्त था और देश की खातिर अपने पिता के जेल जाने पर गर्व करता था। वह लेखक से आत्मीयता रखता था। उसमें आत्मविश्वास काफी था। इसी से वह भीख न माँगकर मेहनत से जीविका चलाना चाहता था।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 19.
निम्नलिखित गद्यांश की सप्रसंग व्याख्या कीजिए उसके मुँह पर तिरस्कार की हँसी फूट पड़ी। उसने कहा, “तमाशा देखने नहीं, दिखाने निकला हूँ। कुछ पैसे ले जाऊँगा, तो माँ को पथ्य दूंगा। मुझे शरबत न पिलाकर आपने मेरा खेल देखकर मुझे कुछ दे दिया होता, तो मुझे अधिक प्रसन्नता होती।” मैं आश्चर्य से उस तेरह-चौदह वर्ष के लड़के को देखने लगा।

प्रसंग – यह गद्यांश ‘छोटा जादूगर’ पाठ से लिया गया है। इसके लेखक जयशंकर प्रसाद हैं। कार्निवाल के मैदान में लेखक ने छोटा जादूगर से कहा कि तुम्हारी माँ बीमार है, तो तुम यहाँ तमाशा देखने क्यों आये? तब उसने जो उत्तर दिया उसका वर्णन इसमें किया गया है।

व्याख्या – छोटा जादूगर ने लेखक की बात सुनी, तो उसके मुख पर उपेक्षा की हँसी फैल गई। उसने लेखक से कहा कि मैं यहाँ पर तमाशा देखने नहीं आया हूँ, बल्कि लोगों को तमाशा दिखाकर कुछ पैसे कमाने आया हूँ। मैं यहाँ से कुछ पैसे कमाकर ले जाऊँगा, तो बीमार माँ को पथ्य अर्थात् दवा एवं उचित भोजन दूंगा।

यदि आप मुझे शरबत नहीं पिलाते और मेरा खेल देख लेते तथा उसके बदले कुछ पैसे दे देते, तो मुझे अत्यधिक प्रसन्नता होती। छोटा जादूगर के कहने का आशय यह था कि वह अपनी बीमार माँ के इलाज के लिए कुछ पैसा कमाना चाहता है। लेखक ने जब उस तेरह-चौदह वर्ष के बालक से इस तरह की समझदारी वाली बातें सुनीं, तो उसे आश्चर्य होने लगा कि यह कैसी बातें कर रहा है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न 20.
निम्नलिखित गद्यांशों को पढ़कर नीचे दिये गये प्रश्नों के उत्तर दीजिए –
(क) मैदान में बिजली जगमगा रही थी। हँसी और विनोद का कलनाद गूंज रहा था। मैं खड़ा था। उस छोटे फुहारे के पास, जहाँ एक लड़का चुपचाप शरबत पीने वालों को देख रहा था। उसके गले में फटे कुरते के ऊपर से एक मोटी-सी सूत की रस्सी पड़ी थी और जेब में कुछ ताश के पत्ते थे। उसके मुँह पर गंभीर विषाद के साथ धैर्य की रेखा थी।

प्रश्न – (क) यह गद्यांश किस पाठ से लिया गया है?
(ख) रेखांकित शब्दों के अर्थ लिखिए।
(ग) लड़का कहाँ पर खड़ा था और क्या कर रहा था?
(घ) लड़के के चेहरे पर क्या झलक रहा था?
उत्तर:
(क) यह गद्यांश ‘छोटा जादूगर’ पाठ (कहानी) से लिया गया है।
(ख) कलनाद-मधुर आवाज। विषाद-उदासी, दु:ख।
(ग) लड़का फुहारे के पास खड़ा था और शरबत पीने वालों को देख रहा था।
(घ) लड़के के चेहरे पर गम्भीर विषाद के साथ धैर्य झलक रहा था।
(ख) कुछ ही मिनटों में मैं झोंपड़ी के पास पहुँचा।

जादूगर दौड़कर झोंपड़ी में माँ-माँ पुकारते हुए घुसा। मैं पीछे था, किंतु स्त्री के मुँह से ‘बे ………… निकलकर रह गया, उसके दुर्बल हाथ उठकर गिर गए। जादूगर उससे लिपटा रो रहा था। मैं स्तब्ध था। उस उज्ज्वल धूप में समग्र संसार जैसे जादू-सा मेरे चारों ओर नृत्य करने लगा।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

प्रश्न – (क) यह गद्यांश किस पाठ से लिया गया है?
(ख) रेखांकित शब्दों के अर्थ लिखिए।
(ग) स्त्री के मुख से क्या निकलकर रह गया?
(घ) उस समय लेखक को संसार कैसा लगा?
उत्तर:
(क) यह गद्यांश ‘छोटा जादूगर’ शीर्षक पाठ (कहानी) से लिया गया है।
(ख) स्तब्ध = हैरान, चुप। समग्र = सम्पूर्ण, सारा।
(ग) स्त्री के मुख से ‘बेटा’ कहने के लिए केवल : बे’ निकलकर रह गया।
(घ) उस समय लेखक को संसार जादू के खेल की तरह एकदम असत्य एवं भ्रम बढ़ाने वाला लग रहा था।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 10 छोटा जादूगर

पाठ-परिचय:
‘छोटा जादूगर’ कहानी के लेखक जयशंकर प्रसाद हैं। इसमें एक ऐसे बालक का वर्णन हुआ है, जो मेहनत की कमाई से अपनी बीमार माँ की देखभाल करता है। वह स्वयं को छोटा जादूगर बताता है।

कठिन-शब्दार्थ:
कार्निवाल = मेला, खेल-तमाशे आदि का स्थान। कलनाद = मधुर कोलाहल, मीठी आवाज। विषाद = उदासी, दु:ख। आकृष्ट = खिंचाव होना, लगाव रखना। तिरस्कार = उपेक्षा, अपमान। पथ्य = स्वास्थ्यप्रद चीजें, दवा आदि। व्यग्र = बेचैन। अकस्मात् = अचानक। सुरम्य = खूबसूरत। उद्यान = बगीचा। जलपान = नाश्ता। वाचालता = बोलने की चतुराई। अस्ताचलगामी = पश्चिम के पर्वत की ओर जाने वाला, अस्त होने वाला। निर्मल = स्वच्छ। चेष्टा = प्रयास। स्फूर्तिमान = ताजगी से भरा हुआ, फुर्तीला। अविचल = स्थिर। संपूर्णता = पूरापन। स्तब्ध = चुप, हैरान। दुर्बल = कमजोर। समग्र = सारा, सम्पूर्ण।

Leave a Comment