RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

RBSE Solutions for Class 7 Hindi

Rajasthan Board RBSE Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन (कविता)

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन पाठ्य-पुस्तक के प्रश्नोत्तर

पाठ से

सोचें और बताएँ

प्रश्न 1.
उजियारे का सपूत किसे कहा गया है ?
उत्तर:
ज्ञान का दीपक जलाने वाले और प्रकाश फैलाने वाले को उजियारे का सपूत कहा गया है।

प्रश्न 2.
मानवता का माली किसे बताया गया है ?
उत्तर:
लोगों की भलाई करने वाले, सभी के कष्टों और बाधाओं को दूर करने वाले व्यक्ति को मानवता का माली बताया गया है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

प्रश्न 3.
कविता में किसे नमन किया गया है?
उत्तर:
कविता में लोगों में ज्ञान का प्रकाश फैलाने वाले, मार्ग सँवारने वाले, सहारा देने वाले, जीवन को सँवारने वाले तथा मातृभूमि की खातिर शहीद होने वाले को नमन किया गया है।

लिखें

प्रश्न – उचित पद चुनकर रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –
(सहारा, पहला, जय, तिलक)

  1. जिसने ……….”हाथ बढ़ाकर सबको दिया …….. है।
  2. जिसने पहला ……… लगाकर ……… का मन्त्र उचारा

उत्तर:
रिक्त स्थान के लिए सही शब्द –

  1. पहला, सहारा।
  2. तिलक, जय।

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
कवि ने किन-किन को सादर नमन किया है ?
उत्तर:
कवि ने अपने देश और समाज में ज्ञान और खुशहाली फैलाने वाले, सही रास्ता बताने वाले, कष्टों व बाधाओं से पार लगाने वाले, मानवों का जीवन सँवारने वाले और मातृभूमि के लिए शहीद होने वाले लोगों को सादर नमन किया है।

प्रश्न 2.
कविता में कौनसे माँझी को नमन किया गया है ?
उत्तर:
जो जीवन रूपी धारा के बीच में कष्टों एवं बाधाओं से फंस जाते हैं, उन्हें सहायता देकर पार लगाने वाले व्यक्ति को कविता में माँझी कहा गया है। क्योंकि माँझी बीच धारा से नाव को पार लगा देता है। वह पूरी सहायता और सहारा देने का प्रयास करता है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

प्रश्न 3.
आपके अनुसार इस कविता का ‘सादर नमन’ के अतिरिक्त और क्या शीर्षक हो सकता है ?
उत्तर:
अन्य शीर्षक-सादर स्मरण या प्रथम वन्दनीय।

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन  लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
“जिसने पहला दीप जलाकर अँधियारे को ललकारा है।” यहाँ पहला दीप जलाने से क्या आशय है ?
उत्तर:
पहला दीप अर्थात् सर्वप्रथम प्रकाश का आविष्कार और ज्ञान का प्रसार इसका मूल आशय है।।

प्रश्न 2.
“मानवता का माली” पद में ‘माली’ शब्द का क्या आशय है ?
उत्तर:
‘माली’ शब्द का आशय है सँवारने वाला, मानवता रूपी फूल को सब तरह से खिलाने वाला अर्थात् मानवता को फैलाने वाला।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

प्रश्न 3.
“पहला शूल हटाकर फूलों को सत्कारा है” का आशय स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
आशय-सामने आयी बाधाओं और कष्टों को दूर करके जिसने लोगों के जीवन रूपी फूलों को सुन्दर बनाया है।

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन  दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
“जिसने सबसे पहले चुनौती स्वीकार कर विजय दिलवाई है, प्राण न्यौछावर करने वाले मातृभूमि के उस वीर को हमारा प्रणाम है।” उक्त भाव जिन पंक्तियों में है, उन्हें लिखकर व्याख्या कीजिए।
उत्तर:
जिसने पहला तिलक लगाकर जय का मंत्र उचारा है मातृभूमि के उस शहीद को सादर नमन हमारा है।
व्याख्या – कविता की व्याख्या (5) में दी गई है, इसमें मातृभूमि की रक्षा के लिए शहीद होने वाले को नमन किया गया है।

प्रश्न 2.
अच्छे कार्य करने वाले व्यक्ति के प्रति हमारी भावनाएँ कैसी होती हैं ? उदाहरण सहित लिखिए।
उत्तर:
अच्छे कार्य करने वाले लोगों के प्रति हम आदरभाव रखते हैं, उन्हें सम्मान देते हैं तथा उनके जीवन से प्रेरणा लेते हैं। हम उनके कार्यों की प्रशंसा कर स्वयं भी वैसा करना चाहते हैं। जैसे स्वामी विवेकानन्द ने युवाओं को ज्ञान और देश-भक्ति का सन्देश दिया, जागरण की प्रेरणा दी। इस कारण हम उनका सादर स्मरण करते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

भाषा की बात

प्रश्न 1.
कविता में ‘सादर’ शब्द आया है। सादर शब्द ‘आदर’ में ‘स’ जोड़ने पर (स + आदर = सादर) बना है। इसका अर्थ होता है – आदर सहित। नीचे लिखे शब्दों में ‘स’ जोड़कर नए शब्द बनाइए और उनके अर्थ लिखिएप्रेम, विनय, हर्ष, परिवार, कुशल।
उत्तर:
प्रेम-सप्रेम = प्रेम सहित। विनय-सविनय = विनय।। हर्ष-सहर्ष = हर्ष सहित। परिवार-सपरिवार = परिवार सहित।। कुशल-सकशल = कुशल सहित।

प्रश्न 2.
जिसने पहला पाँव बढ़ाकर पथ का रूप सँवारा है। वाक्य में रेखांकित शब्द का अर्थ है बढ़ा करके। जब किसी वाक्य में दो क्रियाएँ प्रयुक्त हुई हों तथा उनमें से एक क्रिया दूसरी क्रिया से पहले सम्पन्न हुई हो तो पहले सम्पन्न होने वाली क्रिया पूर्वकालिक क्रिया कहलाती है। इसे ‘कर’ प्रत्यय से पहचाना जाता है। आप भी कविता में से पूर्वकालिक क्रिया शब्द छाँटकर लिखिए।
उत्तर:
जलाकर, हटाकर, लगाकर।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

पाठ से आगे

प्रश्न 1.
इस कविता में ‘सादर नमन हमारा है’ बार-बार आया है। आप किन लोगों के लिए ‘सादर नमन हमारा है’ लिखना चाहेंगे और क्यों? लिखिए।
उत्तर:
हम सबसे पहले अपने गुरुजनों के लिए ‘सादर नमन हमारा है’ लिखना चाहेंगे, क्योंकि वे हमें तथा सभी छात्रों को ज्ञान देते हैं, हमें मानवता का पाठ पढ़ाते हैं। हम अपने माता-पिता के लिए ऐसा लिखेंगे, क्योंकि वे हमारे जीवन का निर्माण करते हैं। इसी प्रकार हम हमारे देश को आजादी दिलाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले देश – भक्तों को ‘सादर नमन हमारा’ है लिखेंगे। देश की वैज्ञानिक प्रगति करने वाले वैज्ञानिकों एवं तकनीकी प्रतिभाशाली लोगों को हम ‘सादर नमन हमारा है’ लिखेंगे। देश की सुरक्षा के लिए बलिदान होने वाले सैनिकों-सिपाहियों एवं सैन्य अधिकारियों के लिए हम ‘सादर नमन हमारा है’ लिखेंगे। क्योंकि उक्त सभी देश के सच्चे सपूत माने जाते हैं।

प्रश्न 2.
इस कविता को याद करके बाल-सभा में सुनाएँ।
उत्तर:
स्वयं याद करके सुनाएँ।

सृजन 

प्रश्न 1.
कविता के प्रत्येक चरण के अन्त में ‘सादर नमन हमारा है’ लिखा हुआ है। आप भी ऐसे चरण जोड़कर कविता को आगे बढ़ाइए।
उत्तर:
(1) देश-सेवा में मर-मिटने वालों को
सादर नमन हमारा है।

(2) दलितों के रक्षक लोगों को
सादर नमन हमारा है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

प्रश्न 2.
इसी भाव की कोई अन्य कविता ढूँढ़कर ‘मेरा संकलन’ में लिखिए।
उत्तर:
‘मेरा संकलन’ स्वयं बनावें।

प्रश्न 3.
गद्य में कर्ता, कर्म और क्रिया के क्रम को ध्यान में रखा जाता है और पद्य में लय और तुक मिलाई जाती है। गद्य और पद्य में मुख्य रूप से यही अन्तर होता है। आप भी दी गई पद्य पंक्तियों को गद्य में बदलकर लिखिए –

  1. हम पंछी उन्मुक्त गगन के पिंजरबद्ध न गा पाएंगे।
  2. हम भारत के भरत खेलते शेरों की संतान से।
  3. सबसे प्यारा जग से न्यारा भारत देश हमारा है।

उत्तर:

  1. हम उन्मुक्त गगन के पंछी हैं, हम पिंजरबद्ध न गा पाएँगे।
  2. हम भारत के शेरों से खेलते भरत की सन्तान (हैं)।
  3. हमारा देश भारत सवये प्यारा, जग से न्यारा है।

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन  अन्य महत्त्वपूर्ण प्रश्न

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन  वस्तुनिष्ठ प्रश्न

प्रश्न 1.
जिसने पहला ………… पथ को सँवारा है।
(क) दीप जलाकर
(ख) पाँव बढ़ाकर
(ग) हाथ बढ़ाकर
(घ) शूल हटाकर।
उत्तर:
(ख) पाँव बढ़ाकर

प्रश्न 2.
अँधियारे को कौन ललकारता है?
(क) पथ बनाने वाला
(ख) ज्ञान का दीपक जलाने वाला
(ग) फूलों को सँवारने वाला
(घ) चुनौती स्वीकार करने वाला।
उत्तर:
(ख) ज्ञान का दीपक जलाने वाला

प्रश्न 3.
जय का मन्त्र कौन कहता है ?
(क) खेती करने वाला
(ख) सड़क बनाने वाला
(ग) नाव पार करने वाला
(घ) सीमा पर लड़ने वाला।
उत्तर:
(घ) सीमा पर लड़ने वाला।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

प्रश्न 4.
मँझधारों का माँझी किसे कहा गया है ?
(क) विपदा में सहायता करने वाला।
(ख) मानवता का आचरण करने वाला।
(ग) मातृभूमि की खातिर शहीद होने वाला।
(घ) नये निर्माण से खुशहाली लाने वाला।
उत्तर:
(क) विपदा में सहायता करने वाला।

रिक्त स्थानों की पूर्ति

प्रश्न 5.
कोष्ठक में दिये गये सही शब्दों से रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –
(क) मातृभूमि के उस …………….. को। (शहीद / माली)
(ख) शूल हटाकर ………….. को सत्कारा है। (लोगों / फूलों)
(ग) निर्जना ……….. के उस पथिक को। (घर / वन)
(घ) पहला ………… बढ़ाकर पथ का रूप सँवारा है। (पाँव/कदम)
उत्तर:
(क) शहीद
(ख) फूलों
(ग) वन
(घ) पाँव।।

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन  अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 6.
अँधियारे को कौन ललकारता है?
उत्तर:
दीपक का प्रकाश फैलाने वाला अंधियारे को ललकारता

प्रश्न 7.
मातृभूमि के लिए शहीद कौन होता है?
उत्तर:
जो शत्रुओं की चुनौतियों को स्वीकार कर विजय दिलवाता है, वह शहीद होता है।

प्रश्न 8.
माँझी कौन-सा कार्य करता है ?
उत्तर:
माँझी नदी में नाव को खेवने का कार्य करता है, अर्थात् वह केवट होता है।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन  लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 9.
सबको सहारा कौन देता है ?
उत्तर:
जिसमें सदा दूसरों से सहयोग की भावना रहती है, जो सदा दूसरों की सहायता के लिए तैयार रहता है और बिना कहे ही लोगों को आगे बढ़ने या बाधाओं से पार करने में मदद करता है, ऐसा व्यक्ति सबको सहारा देता है।

प्रश्न 10.
मानवता का माली किसे कहा गया है?
उत्तर:
जो व्यक्ति दूसरों के कष्टों को दूर करता है तथा बिना कहे दूसरों की भलाई करने में लगा रहता है और मानव-समाज की कमियों को दूर कर उसे अच्छा बनाने की कोशिश करता रहता है, ऐसे व्यक्ति को मानवता का माली कहा गया है।

प्रश्न 11.
अँधियारे को ललकारने वाले कौन हो सकते हैं?
उत्तर:
अज्ञानी-अनपढ़ लोगों को पढ़ाने या शिक्षा सुविधा दिलाने वाले और निराश लोगों के हृदय में आशा जगाने वाले अँधियारे को ललकारने वाले हो सकते हैं। समाज की बुरी दशा को सुधारने वाले भी वे हो सकते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

RBSE Class 7 Hindi सादर नमन  निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 12.
‘सादर नमन’ कविता के माध्यम से क्या सन्देश दिया गया है?
उत्तर:
‘सादर नमन’ कविता से यह सन्देश दिया गया है कि हमें देश और समाज की भलाई करने वालों का सम्मान करना चाहिए। जो लोग दूसरों की सहायता करते हैं, मानवता का आचरण करते हैं और मातृभूमि की रक्षा के लिए प्राणों की बाजी लगाने को तैयार रहते हैं, अथवा देश की प्रगति में सदा प्रयत्नशील रहते हैं, ऐसे लोगों का हमें आदर करना चाहिए तथा उनके प्रति आभार जताकर सम्मान करना चाहिए।

प्रश्न 13.
‘सादर नमन’ कविता से क्या शिक्षा मिलती है ?
उत्तर:
इस कविता से यह शिक्षा मिलती है कि निराशा और अज्ञान से ग्रस्त लोगों को आशा और ज्ञान का प्रकाश देना हमारा कर्त्तव्य है। हमें राह से भटके लोगों और कष्टों में फँसे लोगों की सच्चे मन से सहायता करनी चाहिए। देशभक्ति रखना और त्याग-भावना अपनाना हमारा कर्त्तव्य है। इससे शिक्षा मिलती है कि मानव और मानवता का भला करने से ही संसार का अच्छा स्वरूप उभरता है। इसलिए हमें स्वयं भी अच्छे काम करने चाहिए और अच्छे काम करने वाले लोगों का सम्मान भी करना चाहिए।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

पाठ-परिचय
यह कविता संकलित है। इसमें उन लोगों को सादर प्रणाम किया गया है, जिन्होंने ज्ञान का प्रकाश फैलाया, पथ का निर्माण किया, मानव कल्याण की भावना फैलायी और मातृभूमि की खातिर शहीद हो गये।

सप्रसंग व्याख्याएँ –

(1) जिसने पहला ………… हमारा है।

कठिन-शब्दार्थ:
दीप = दीपक। उजियारे = प्रकाश। सपूत = सुपुत्र। ललकारा = चुनौती दी।

प्रसंग:
यह पद्यांश ‘सादर नमन’ कविता से लिया गया है। यह संकलित कविता का अंश है। इसमें कृतज्ञता का भाव व्यक्त किया गया है।

व्याख्या:
कवि कहता है कि जिसने पहला दीपक जलाकर अंधेरे को चुनौती दी अर्थात् उसे दूर करने की कोशिश की है और प्रकाश को फैलाने में लगा रहा है, उस धरती के सुपुत्र को हम सादर प्रणाम करते हैं। भाव यह है कि मानवों को ज्ञान का प्रकाश देने वाला और जीवन को खुशहाल बनाने वाला सच्चा सुपुत्र है। ऐसे व्यक्ति को हम आदर के साथ प्रणाम करते हैं।

(2) जिसने पहला ……….. हमारा है।

कठिन-शब्दार्थ:
पथ = रास्ता। निर्जन = सुनसान। पथिक = राहगीर।

प्रसंग:
यह पद्यांश ‘सादर नमन’ शीर्षक पाठ से लिया गया है। इसमें सुनसान वन में मार्ग बनाने वाले के प्रति आदर प्रकट किया गया है।

व्याख्या:
कवि कहता है कि जिस व्यक्ति ने पहला कदम बढ़ाकर रास्ते के रूप को आकार दिया है, सही रास्ता बताया है तथा सुनसान वन को चलने योग्य बनाया है, ऐसे पथिक को सादर प्रणाम करते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

(3) जिसने पहला हाथ …………… हमारा है।

कठिन-शब्दार्थ:
मंझधारों = बीच धाराओं में। मांझी = केवट, मल्लाह।

प्रसंग:
यह पद्यांश ‘सादर नमन’ संकलित पाठ से लिया गया है। इसमें बीच धारा से पार लगाने वाले को प्रणाम किया गया है।

व्याख्या:
कवि कहता है कि जिस व्यक्ति ने सबसे पहले अपना हाथ बढ़ाकर सबको सहारा दिया है, सभी का पूरा सहयोग व सहायता की है, जो बीच धारा में फँसे लोगों को पार लगा देता है, उसे हमारा सादर प्रणाम है। भाव यह है कि मल्लाह जैसे बीच धारा में फँसी हुई नाव को चतुराई से पार लगा देते हैं, लोगों का जीवन बचा देते हैं, ऐसे ही जो व्यक्ति लोगों की जिन्दगी को कष्टों एवं बाधाओं से पार कर देते हैं, वे वन्दनीय हैं।

(4) जिसने पहला शूल ………… हमारा है।

कठिन-शब्दार्थ:
शूल = काँटा। सत्कारा = सम्मान दिया।

प्रसंग:
यह पद्यांश ‘सादर नमन’ संकलित पाठ से लिया गया है। इसमें लोगों के जीवन को मानवता से भरने वाले व्यक्ति को प्रणाम किया गया है।

व्याख्या:
कवि कहता है कि जिसने काँटे हटाकर फूलों को संवारा है, सभी बाधाओं एवं कष्टों को मिटाकर लोगों के जीवन रूपी फूलों को सम्मान दिया है, ऐसे मानवता के माली अर्थात् भलाई करने वाले को हम सादर प्रणाम करते हैं।

RBSE Solutions for Class 7 Hindi Chapter 1 सादर नमन

(5) जिसने पहला तिलक …………. हमारा है।

कठिन-शब्दार्थ:
उचारा = उच्चारण करना, कहना। शहीद = प्राणों से अर्पित करने वाला।

प्रसंग:
यह पद्यांश ‘सादर नमन’ संकलित पाठ से लिया गया है। इसमें देश की खातिर शहीद होने वाले को प्रणाम करने को कहा गया है।

व्याख्या:
कवि कहता है कि जिसने सबसे पहले विदाई का तिलक लगाकर देश की विजय का मन्त्र अर्थात् ओज से युक्त वचन कहा है, जो मातृभूमि की खातिर शहीद हो गया है, हम उसे सादर प्रणाम करते हैं। भाव यह है कि घर से तिलक लगाकर विदा होने वाले और शत्रुओं से मुकाबला कर, जीत दिलाकर मातृभूमि की रक्षा के लिए शहीद होने वाले देश-भक्त को हम प्रणाम करते हैं।

Leave a Comment