RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

Rajasthan Board RBSE Class 6 Social Science Solutions Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

RBSE Solutions for Class 6 Social Science

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

RBSE Class 6 Social Science सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण Intext Questions and Answers

गतिविधि

पृष्ठ संख्या – 81

प्रश्न 1.
माना कि आपने एक मोबाइल खरीदा है, परन्तु वह दोषपूर्ण है। विक्रेता उसको बदलने या ठीक करने के लिए तैयार नहीं है। उसकी शिकायत करते हुए जिला उपभोक्ता मंच को एक प्रार्थना पत्र लिखिये।
उत्तर:
माननीय,
न्यायाधीश
जिला उपभोक्ता मंच
जिला ……………..
विषय : विक्रेता द्वारा दोषपूर्ण मोबाइल देने के सम्बन्ध में।
महोदय,
निवेदन है कि मैंने (विक्रेता/दुकानदार का नाम व पता) …………….. दुकानदार से दिनांक …………….. को एक मोबाइल खरीदा जिसके खरीदने के बिल की प्रति इस प्रार्थना – पत्र के साथ संलग्न है। यह मोबाइल एक वर्ष की समयावधि से पूर्व ही खराब हो गया है, मैंने उस विक्रेता से उसको बदलने या ठीक करने के लिए कहा, लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं है। आपसे निवेदन है कि उस विक्रेता से उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 में निहित प्रावधानों के अन्तर्गत या तो मेरे मोबाइल को ठीक करवायें या मुझे दूसरा सही मोबाइल दिलवाएँ या मुझे इसकी क्षतिपूर्ति दिलवाएँ।
सधन्यवाद।

दिनांक : ……………..

प्रार्थी
(अ ब स)

संलग्नक –
(1) खरीद का बिल (फोटो प्रति) पता ……………….
(2) प्रार्थना – पत्र की 5 प्रतियाँ
(3) दुकानदार/विक्रेता का नाम व पता

RBSE Class 6 Social Science सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण Text Book Questions and Answers

पाठ्यपुस्तक के प्रश्न

प्रश्न 1.
सही विकल्प को चुनिए।
(i) सहकारी समिति का पंजीकरण कराया जाता है ……………..
(अ) कलेक्टेट में
(ब) तहसील में
(स) सहकारिता विभाग में
(द) गृह विभाग में
उत्तर:
(स) सहकारिता विभाग में

(ii) निम्नलिखित में से कौनसा मानक चिन्ह है ……………..
(अ) आई.एस.आई.
(ब) एगमार्क
(स) एफ.पी.ओ.
(द) उपर्युक्त तीनों ही
उत्तर:
(द) उपर्युक्त तीनों ही

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

प्रश्न 2.
अग्रलिखित वाक्यों में रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

  1. आप कोई वस्तु, उत्पाद या सेवा खरीदते हैं, तो आप एक ……………. कहलायेंगे।
  2. उपभोक्ता द्वारा बीस लाख रुपये से अधिक एवं एक करोड़ रुपये तक की राशि से सम्बन्धित विवाद की शिकायत ……………. में की जा सकती है।
  3. प्राथमिक सहकारी समिति के गठन के लिए न्यूनतम सदस्यों की संख्या ……………. होनी चाहिए।

उत्तर:

  1. उपभोक्ता
  2. राज्य उपभोक्ता आयोग
  3. 15

प्रश्न 3.
सहकारिता के मूल मन्त्र क्या हैं?
उत्तर:
सहकारिता के मूल मन्त्र हैं “एक सबके लिए, सब एक के लिए” और “सबके हित में ही हमारा हित है।”

प्रश्न 4.
किन्हीं तीन प्रकार की सहकारी समितियों के नाम लिखिये।
उत्तर:
तीन प्रकार की सहकारी समितियों के नाम ये हैं –

  1. कृषि सहकारी समिति
  2. दुग्ध सहकारी समिति
  3. उपभोक्ता सहकारी समिति।

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

प्रश्न 5.
दादाजी ने विक्रेता की शिकायत कहाँ पर की?
उत्तर:
जिला उपभोक्ता मंच पर।

प्रश्न 6.
उपभोक्ता के शोषण के तीन उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
उपभोक्ता के शोषण के तीन उदाहरण ये हैं –

  1. विक्रेता द्वारा खराब या घटिया वस्तु दे देना।
  2. विक्रेता द्वारा माप या तौल में वस्तु कम देना।
  3. निर्धारित ब्राण्ड की वस्तु के स्थान पर अन्य ब्राण्ड की वस्तु या नकली वस्तु देना।

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

प्रश्न 7.
खरीददारी करते समय रखी जाने वाली कम-सेकम तीन सावधानियों के बारे में लिखिए।
उत्तर:
खराददारी करते समय रखी जाने वाली तीन प्रमुख सावधानियाँ ये हैं –

  1. खरीदे गए माल या वाँछित सेवा के भुगतान का बिल अथवा रसीद और गारण्टी/वारण्टी कार्ड अवश्य लेना चाहिए।
  2. सामान पर उसका नाम, मात्रा, बैच नम्बर, उत्पादन अवधि एवं अवधि समाप्ति की तिथि, कीमत कर सहित/रहित तथा निर्माता का पूरा नाम व पता अच्छी तरह जाँच कर खरीदना चाहिए।
  3. वस्तु की गुणवत्ता को प्रमाणित करने वाले आई.एस.आई., एगमार्क, एफ.पी.ओ. आदि मानक-चिन्हों को देखकर खरीदना चाहिए।

RBSE Class 6 Social Science सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण Important Questions and Answers

वस्तुनिष्ठ प्रश्न

Question 1.
कम-से-कम कितने व्यक्ति मिलकर एक सहकारी समिति का गठन कर सकते हैं?
(अ) 5
(ब) 10
(स) 3
(द) 15
उत्तर:
(द) 15

Question 2.
सहकारी समिति का संचालन किया जाता है …………….
(अ) सहकारी विभाग द्वारा
(ब) रजिस्ट्रार द्वारा
(स) सहकारी इन्स्पेक्टर द्वारा
(द) सदस्यों में से चुने हुए प्रतिनिधियों द्वारा।
उत्तर:
(द) सदस्यों में से चुने हुए प्रतिनिधियों द्वारा।

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

Question 3.
उपभोक्ता द्वारा बीस लाख रुपये तक की शिकायत की जा सकती है …………….
(अ) राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग में।
(ब) ग्राम पंचायत में।
(स) राज्य उपभोक्ता आयोग में।
(द) जिला उपभोक्ता मंच में।
उत्तर:
(द) जिला उपभोक्ता मंच में।

Question 4.
वस्तु या सेवा में दोष होने पर शिकायत दर्ज कराना जरूरी है …………….
(अ) दो वर्ष की अवधि में
(ब) 5 वर्ष की अवधि में
(स) 3 वर्ष की अवधि में
(द) 10 वर्ष की अवधि में
उत्तर:
(अ) दो वर्ष की अवधि में

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

Question 5.
निम्न में से शिकायतकर्ता उपभोक्ता को न्यायालय अथवा आयोग कौनसी राहत नहीं दिलवा सकता है?
(अ) विवादास्पद सामान में सुधार करवाना।
(ब) उस सामान के स्थान पर वैसा ही नया सामान दिलवाना।
(स) उपभोक्ता को होने वाली क्षति/हानि की क्षतिपूर्ति दिलवाना।
(द) विक्रेता को कारावास की सजा देना।
उत्तर:
(द) विक्रेता को कारावास की सजा देना।

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए

  1. उपभोक्ताओं के अधिकारों की रक्षा एवं उनको शोषण से बचाने के लिए सरकार द्वारा …………….. बनाया गया है।
  2. मिल-जुलकर कार्य करना …………….. का आधार है।
  3. सहकारिता में सदस्यता …………….. होती है।
  4. उपभोक्ता को …………….. से भ्रमित नहीं होना चाहिए।
  5. बीस लाख रुपये तक की शिकायत …………….. में की जा सकती है।

उत्तर:

  1. उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986
  2. सहकारिता
  3. ऐच्छिक
  4. विज्ञापनों
  5. जिला उपभोक्ता मंच।

स्तम्भ ‘अ’ को स्तम्भ ‘ब’ से सुमेलित कीजिए

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

उत्तर:
RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
सहकारिता का आधार क्या है?
उत्तर:
मिलजुल कर कार्य करना सहकारिता का आधार है।

प्रश्न 2.
सहकारिता किसे कहते हैं?
उत्तर:
संगठित रूप से व्यक्ति आपसी सहयोग के साथ जो कार्य करते हैं, उसे हम सहकारिता कहते हैं।

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

प्रश्न 3.
उपभोक्ता कौन कहलाता है?
उत्तर:
जब कोई व्यक्ति अपने उपभोग के लिए कोई वस्तु अथवा सेवा खरीदता है, तो वह उपभोक्ता कहलाता है।

प्रश्न 4.
उपभोक्ताओं को शोषण से बचाने के लिए सरकार ने कौनसा कानून बनाया है?
उत्तर:
उपभोक्ता संरक्षण कानून-1986

प्रश्न 5.
उपभोक्ता कितने दिन की अवधि में न्याय के लिए ऊपरी न्यायालय में अपील कर सकता है?
उत्तर:
30 दिन की अवधि में।

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

प्रश्न 6.
उपभोक्ताओं की शिकायतों की सुनवाई के लिए कौन-कौनसे उपभोक्ता न्यायालयों का गठन किया गया है?
उत्तर:
उपभोक्ताओं की शिकायतों की सुनवाई के लिए तीन प्रकार के उपभोक्ता न्यायालयों का गठन किया गया है। ये हैं –

  1. जिला उपभोक्ता मंच
  2. राज्य उपभोक्ता आयोग
  3. राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग।

लघूत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
उपभोक्ता शिकायत किस प्रकार कर सकता है?
उत्तर:
उपभोक्ता सादे कागज पर.4-5 प्रतियों में शिकायत लिखकर डाक से, किसी प्रतिनिधि द्वारा या स्वयं उपभोक्ता न्यायालय में प्रस्तुत होकर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है। इसका 100 रु. शुल्क होता है। शिकायत में उपभोक्ता का नाम व पता, शिकायत का (विवरण एवं शिकायतकर्ता जो कुछ चाहता है, उसका पूरा विवरण होना चाहिए। साथ ही बिल/रसीद आदि की प्रति भी साथ होनी चाहिए।

प्रश्न 2.
सहकारी समिति का गठन कैसे होता है?
उत्तर:
सहकारी समिति का गठन-किन्हीं समान आर्थिक या सामाजिक हित वाले क्रिया-कलापों के उद्देश्यों से कम| से-कम 15 व्यक्ति मिलकर एक सहकारी समिति का गठन कर सकते हैं। वे उस कार्य के लिए अपने साधन या पूँजी समिति में लगाते हैं। समिति का पंजीकरण सहकारिता विभाग से करवाया जाता है। इसका संचालन सदस्यों में से ही चुने हुए प्रतिनिधियों द्वारा होता है।

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

प्रश्न 3.
सहकारी समिति किस प्रकार कार्य करती है?
उत्तर:
सहकारी समिति में समिति के सभी सदस्य मिलकर कार्य करते हैं। समिति के आय-व्यय का उचित तरीके से हिसाब रखा जाता है। समिति अपने सदस्यों की पूँजी के अतिरिक्त अन्य स्थानों से भी ऋण और सहायता प्राप्त कर सकती है। लाभ-हानि में सभी सदस्य सामूहिक रूप से उत्तरदायी होते हैं।

प्रश्न 4.
न्यायालय अथवा आयोग शिकायतकर्ता को क्या-क्या राहत दिलवा सकता है?
उत्तर:
शिकायतकर्ता को न्यायालय अथवा आयोग जो राहत दिलवा सकता है, उनमें से प्रमुख सम्मिलित हैं –

  1. विवादास्पद सामान में सुधार करवाना।
  2. उस सामान के स्थान पर वैसा ही नया सामान दिलवाना।
  3. उपभोक्ता को होने वाली हानि या क्षति की क्षतिपूर्ति दिलवाना।
  4. उपभोक्ता को हर्जाना/खर्चा दिलवाना।

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

प्रश्न 5.
सहकारिता के मूल तत्त्व क्या हैं?
उत्तर:
सहकारिता के मूल तत्त्व निम्नलिखित हैं –

  1. सहकारिता में सदस्यता स्वैच्छिक होती है।
  2. इसका संचालन एवं प्रबन्ध सभी सदस्यों की सहमति से होता है।
  3. सभी सदस्यों को समान अधिकार व अवसर प्राप्त होते हैं।
  4. इसमें आर्थिक उद्देश्य के साथ – साथ नैतिक एवं सामाजिक उद्देश्यों को भी शामिल किया जाता है।

निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
उपभोक्ता किसे कहते हैं? उपभोक्ता का शोषण कितने प्रकार से किया जाता है?
उत्तर:
उपभोक्ता – जब कोई व्यक्ति अपने उपभोग के लिए कोई वस्तु अथवा सेवा खरीदता है, तो वह उपभोक्ता कहलाता है। वह वस्तु एवं सेवा का प्रत्यक्ष एवं अन्तिम उपभोग करने वाला व्यक्ति होता है। उपभोक्ता का शोषण-उपभोक्ता का शोषण कई प्रकार से किया जाता है। यथा –

  1. खराब या घटिया वस्तु देना।
  2. मात्रा या तौल में वस्तु का कम देना।
  3. अवधि पार वस्तु देना।
  4. निर्धारित ब्राण्ड की वस्तु के स्थान पर अन्य ब्राण्ड की वस्तु या नकली वस्तु देना।
  5. विक्रेता द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक राशि वसूलना।
  6. वस्तु का बताए गए मानकों पर खरा नहीं उतरना।
  7. गारण्टी की अवधि में वस्तु के खराब हो जाने पर गारण्टी की शर्तों के अनुसार उसे नहीं बदलना अथवा वारण्टी की अवधि में उसमें सुधार नहीं करना।
  8. घटिया सेवा देना या समय पर सेवा नहीं देना या भुगतान प्राप्त करने के बावजूद सेवा नहीं देना आदि।

RBSE Solutions for Class 6 Social Science Chapter 11 सहकारिता एवं उपभोक्ता सशक्तीकरण

प्रश्न 2.
उपभोक्ता अपने अधिकारों की रक्षा तथा शोषण से बचने के लिए शिकायत कहाँ पर और कैसे कर सकते हैं?
उत्तर:
उपभोक्ता शिकायत कहाँ करें?-उपभोक्ताओं के अधिकारों की रक्षा एवं उनको शोषण से बचाने के लिए सरकार द्वारा ‘उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986’ बनाया गया है। इस कानून के अनुसार उपभोक्ताओं की शिकायतों की सुनवाई के लिए उपभोक्ता न्यायालयों का गठन किया गया है। उपभोक्ता. इन उपभोक्ता न्यायालयों में अपनी शिकायतें निम्न प्रकार कर सकते हैं –

  1. बीस लाख रुपये तक की शिकायत वे ‘जिला उपभोक्ता मंच’ में कर सकते हैं।
  2. वे बीस लाख से अधिक और एक करोड़ रुपये तक की राशि से सम्बन्धित विवाद राज्य उपभोक्ता आयोग में कर सकते हैं।
  3. वे एक करोड़ रुपये से अधिक राशि से सम्बन्धित शिकायत राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग में कर सकते हैं।
  4. उपभोक्ता प्रत्येक स्तर पर 30 दिन की अवधि में न्याय के लिए ऊपरी अदालत में अपील कर सकता है।

उपभोक्ता शिकायत कैसे करें?

  1. उपभोक्ता, सादे कागज पर 4-5 प्रतियों में शिकायत लिखकर डाक से, किसी प्रतिनिधि द्वारा या स्वयं उपभोक्ता न्यायालय में प्रस्तुत होकर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है। इसका कोई शुल्क नहीं होता है।
  2. वस्तु या सेवा में दोष होने पर दो वर्ष की अवधि में शिकायत दर्ज कराना जरूरी है।
  3. शिकायत में उपभोक्ता का नाम व पता, विक्रेता का नाम व पता, शिकायत का विवरण एवं शिकायतकर्ता जो कुछ चाहता है, उसका पूरा विवरण होना चाहिए। साथ ही बिल/रसीद आदि भी संलग्न करनी चाहिए।

प्रश्न 3.
उपभोक्ता को खरीददारी करते समय किन-किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए?
उत्तर:
उपभोक्ता को शोषण से बचने के लिए खरीददारी करते समय निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखना चाहिए –

  1. उसे खरीदे हुए माल या वाँछित सेवा के भुगतान का बिल अथवा रसीद और गारण्टी/वारण्टी कार्ड अवश्य लेना चाहिए। शिकायत दर्ज करते समय यह रसीद व कार्ड प्रस्तुत करना आवश्यक होता है।
  2. समाज पर उसका नाम, मात्रा, बैच नम्बर, उत्पादन एवं अवधि समाप्ति की तिथि, कीमत कर सहित रहित तथा निर्माता का पूरा नाम व पता अच्छी तरह जाँच कर खरीदना चाहिए।
  3. वस्तु की गुणवत्ता को प्रमाणित करने वाले आई.एस.आई., एगमार्क; एफ.पी.ओ. आदि मानक-चिन्हों को देखकर खरीदना चाहिए।
  4. यह सावधानी रखनी चाहिए कि नापने या तौलने के लिए प्रमाणीकृत बाट या माप का ही उपयोग किया गया है।
  5. वस्तु के पैकिंग का वजन वस्तु के वजन में शामिल नहीं होना चाहिए।
  6. उसे विज्ञापन से भ्रमित नहीं होना चाहिए तथा बहुत अच्छी तरह देख-परख कर ही वस्तु खरीदनी चाहिए।

Leave a Comment