RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

RBSE Solutions for Class 8 Sanskrit

Rajasthan Board RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

संस्कृत व्याकरण में शब्द तीन प्रकार के होते हैं-

  1. नाम
  2. धातु
  3. अव्यय।

नाम के तीन भेद होते हैं-

  1. संज्ञा
  2. सर्वनाम
  3. विशेषण।

वचन-संस्कृत में वचन भी तीन होते हैं-

  1. एकवचन
  2. द्विवचन
  3. बहुवचन।

लिंग-संस्कृत में तीन लिंग होते हैं-

  1. पुल्लिंग
  2. स्त्रीलिंग
  3. नपुंसकलिंग।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

संज्ञा शब्द दो प्रकार के होते हैं-

  1. अजन्त
  2. हलन्त।

अजन्त-जिनके अन्त में स्वर होता है वे अजन्त कहलाते हैं, उन्हें स्वरान्त भी कहते हैं, जैसे-राम, कवि, गुरु आदि। हलन्त-जिन शब्दों के अन्त में व्यंजन हों, वे हलन्त कहलाते हैं, उन्हें व्यंजनान्त भी कहते हैं, जैसे-राजन्, मरुत्, वणिज् आदि।

(i) संज्ञा शब्द-रूप प्रकरण

(1) अकारान्त पुंल्लिग ‘राम’ शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 1
नोट – इसी प्रकार अन्य अकारान्त पुल्लिंग शब्दों, जैसेबालक, कृष्ण, मोहन, पाठ, नृप, सूर्य, चन्द्र, गणेश, छात्र, पर्वत, खग, महेश आदि के रूप भी चलेंगे।

(2) इकारान्त पुंल्लिग ‘हरि’ (विष्णु) शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 2

नोट – (1) इसी प्रकार कवि, मुनि, ऋषि, विधि, असि, यति, भूपति, नरपति, श्रीपति, पृथ्वीपति, नृपति, गृहपति आदि शब्दों के रूप चलेंगे।
(2) पति शब्द का जब किसी शब्द के साथ समास होगा तभी उस समासयुक्त पति शब्द के रूप हरि के समान चलेंगे। जैसे- नरपति, भूपति, श्रीपति आदि। अन्यथा पति के रूप भिन्न चलते हैं, जो नीचे दिए जा रहे हैं।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

(3) उकारान्त पुंल्लिग ‘गुरु’ शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 3

नोट – इसी प्रकार भानु, साधु, शिशु, इन्दु, रिपु, शत्रु, शम्भु, विष्णु आदि शब्दों के रूप चलते हैं।

(4) आकारान्त स्त्रीलिंग ‘रमा’ (लक्ष्मी) शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 4

नोट – इसी प्रकार आकारान्त स्त्रीलिंग शब्द लता, गंगा, कन्या, सेवा, वेदना, बाला (लड़की), रक्षा, कथा (कहानी), क्रीडा (खेल), पाठशाला (विद्यालय), शीला, लीला, सीता, गीता, विमला, प्रमिला, प्रभा, विभा, सुधा (अमृत), चेष्टा (यत्न), विद्या, कक्षा, व्यथा (कष्ट) और बालिका (लड़की) आदि के रूप चलते हैं।

(5) इकारान्त स्त्रीलिंग ‘मति’ (बुद्धिा शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 5

नोट – इसी प्रकार गति, शक्ति आदि ‘क्तिन्’ प्रत्ययान्त शब्दों के रूप चलेंगे।

(6) ईकारान्त स्त्रीलिंग ‘नदी’ शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 6

नोट – इसी प्रकार स्त्री, सरस्वती, भगवती, देवी आदि शब्दों के रूप चलेंगे।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

(7) नकारान्त पुंल्लिग ‘आत्मन्’ (आत्मा) शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 7

नोट – इसी प्रकार राजन्, पथिन् के रूप चलेंगे ।

(8) ऋकारान्त पुंल्लिग ‘पितृ’ (पिता) शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 8

(9) ऋकारान्त स्त्रीलिंग ‘स्वसृ’ (बहिन) शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 9

(10) ऋकारान्त स्त्रीलिंग ‘मातृ’ शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 10

(11) अकारान्त नपुंसकलिंग ‘फल’ शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 11

नोट – अकारान्त नपुंसकलिंग पत्र, पुस्तक, गृह, वन आदि के रूप इसी प्रकार चलेंगे।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

अभ्यासः – 1

निर्देशानुसारं शब्द-रूपं लिखत
(निर्देशानुसार शब्द-रूप लिखिए-)

प्रश्ना 1.
(i) धेनु – (तृतीया विभक्ति बहुवचन)
(ii) प्रासाद – (सप्तमी विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) धेनुभिः
(ii) प्रासादे

प्रश्ना 2.
(i) स्वसृ – (चतुर्थी विभक्ति एकवचन)
(ii) विधातृ – (पुल्लिंग सप्तमी विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) स्वस्रे
(ii) विधातृषु

प्रश्ना 3.
(i) पितृ – (षष्ठी विभक्ति बहुवचन)
(ii) तनु – (प्रथमा विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) पितृणाम्
(ii) तनवः

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 4.
(i) फलम् – (सप्तमी विभक्ति बहुवचन)
(ii) रमा – (तृतीया विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) फलेषु
(ii) रमया

प्रश्ना 5.
(i) जगत् – (षष्ठी विभक्ति बहुवचन)
(ii) धेनु – (प्रथमा विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) जगताम्
(ii) धेनवः

प्रश्ना 6.
(i) नदी – (प्रथमा विभक्ति बहुवचन)
(ii) मातृ – (तृतीया विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) नद्यः
(ii) मात्रा

प्रश्ना 7.
(i) भ्रातृ – (पंचमी विभक्ति द्विवचन)
(ii) आशु – (सप्तमी विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) भ्रातुः
(ii) आशौ

प्रश्ना 8.
(i) प्रासाद – (द्वितीया विभक्ति एकवचन)
(ii) पितृ – (तृतीया विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) प्रासादम्
(ii) पितृभिः

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 9.
(i) वेदना – (पंचमी विभक्ति एकवचन)
(ii) धातृ – (द्वितीया विभक्ति द्विवचन)
उत्तर:
(i) वेदनायाः
(ii) धातरों

प्रश्ना 10.
(i) अहिंसा – (षष्ठी विभक्ति एकवचन)
(ii) दातृ – (चतुर्थी विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) अहिंसाया
(ii) दात्रे।

अभ्यासः – 2

प्रश्ना 1.
व्यासः विरचिता ………… पुण्यकथा अस्ति।
(अ) महाभारत
(ब) रामायण
(स) गीताञ्जलि
(द) कादम्बरी
उत्तर:
(अ) महाभारत

प्रश्ना 2.
विद्ययाः अर्थात् ज्ञानेन ………… प्राप्ति भवति।
(अ) बलस्य
(ब) अमरतायाः
(स) विवादस्य
(द) परिवारस्य
उत्तर:
(ब) अमरतायाः

प्रश्ना 3.
एषः मम …………… कौस्तुम।
(अ) गौः
(ब) अरिः
(स) मित्रम्
(द) श्वान
उत्तर:
(स) मित्रम्

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 4.
पुत्रस्य ………….. अश्रुधारा प्रवहति स्म।
(अ) नासिक
(ब) मुखात्
(स) प्रवाहेण
(द) नेत्राभ्याम्
उत्तर:
(द) नेत्राभ्याम्

प्रश्ना 5.
हरिः ………….. सुधां मनाति।
(अ) सागरं
(ब) पृथ्वीम्
(स) तडागं
(द) नद्यां।
उत्तर:
(अ) सागरं

कोष्ठके दत्तान् संज्ञापदान् चित्वा रिक्तस्थानानि पूरयत-

  1. रावत रत्नसिंहस्य विवाहः हाडावती …………. सह अभवत्। (राजकुमारी/राजकुमार्या)
  2. भारतदेशः …………. एव वैज्ञानिकानां देशः अस्ति। (वैदिककालात्/वैदिककालेन)
  3. आर्यभट्टः. …………. गतिं सम्यक् जानाति स्म। (प्रकाशस्य/प्रकाशम्)
  4. अस्मिन् …………. सूर्यवेधस्य प्रक्रिया वर्णिता। (ग्रन्थानाम्/ग्रन्थे)
  5. एकदा नृपेण …………. कम्बलाः समर्पिताः। (चाणक्याय/चाणक्ययोः)
  6. ते एकदा रात्रौ …………. उटज प्राविशन्। (चाणक्यस्य/चाणक्याय)
  7. अन्येषां द्रव्यस्य …………. अधर्मः भवति। (उपयोगेन/उपयोगाय)
  8. तेषां उपयोगं कर्तुं…………..न अधिकारः। (मम/मया)
  9. विष्णोः परमधाम्नि भूरिश्रृङ्गा …………. न्यवसन्। (धेनुभि:/धेनवः)
  10. …………..वयं स्वगृहान् पवित्रीकुर्मः। (गोमस्य/गोमयेन)

उत्तर:

  1. राजकुमार्या
  2. वैदिककालात्
  3. प्रकाशस्य
  4. ग्रन्थे
  5. चाणक्याय
  6. चाणक्यस्य
  7. उपयोगेन
  8. मम
  9. धेनवः
  10. गोमयेन।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

(ii) सर्वनाम शब्द-रूप प्रकरण

परिभाषा-संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले शब्द सर्वनाम होते हैं-
(1) ‘सर्व’ (सब) पुँल्लिग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 12

नोट – सर्वनाम शब्दों का सम्बोधन नहीं होता।

(2) ‘सर्व’ (सब) स्त्रीलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 13

(3) ‘सर्व’ (सब) नपुंसकलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 14

नोट – तृतीया विभक्ति से सप्तमी विभक्ति तद ‘सर्व’ शब्द के शेष रूप पुल्लिंग के समान चलेंगे।

(4) ‘इदम्’ (यह) पुँल्लिग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 15

(5) ‘इदम्’ (यह) स्त्रीलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 16

(6) ‘इदम्’ (यह) नपुंसकलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 17

नोट – शेष रूप पुल्लिग के समान ही चलेंगे।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

(7) ‘अस्मद्’ (मैं)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 18

नोट – अस्मद् के रूप तीनों लिंगों में एकसमान ही चलते हैं।

(8) ‘युष्मद्’ (तुम)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 19

नोट – युष्मद् के रूप तीनों लिंगों में एक समान ही चलते हैं।

(9) तद्-तत् (वह) पुंल्लिग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 20

(10) तद्-तत् (वह) स्त्रीलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 21

(11) तद्-तत् (वह) नपुंसकलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 22

नोट – शेष विभक्तियों के रूप पुल्लिंग के समान ही होते हैं।

(12) यत् (जो) पुंल्लिग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 23

(13) यत् (जो) स्त्रीलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 24

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

(14) यत् (जो) नपुंसकलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 25

नोट – शेष विभक्तियों के रूप पुल्लिंग की तरह होते हैं।

(15) किम् (कौन) पुंल्लिग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 30
(16) “किम्’ (कौना) स्त्रीलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 26

(17) किम् (क्या) नपुंसकलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 27

नोट – शेष विभक्तियों के रूप पुल्लिंग के समान ही चलेंगे।

(18) भवत् (आप) पुंल्लिग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 28

(19) भवती (आप) स्त्रीलिंग
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 29

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

अभ्यासः – 1

निर्देशानुसारं सर्वनाम शब्दानां रूपं लिखत
(निर्देशानुसार सर्वनाम शब्दों के रूप लिखिए-)

प्रश्ना 1.
(i) सर्व – (पुल्लिंग प्रथमा विभक्ति बहुवचन)
(ii) तत् – (नपुंसकलिंग सप्तमी विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) सर्वे
(ii) तस्मिन्

प्रश्ना 2.
(i) भवती – (तृतीया विभक्ति एकवचन)
(ii) यत् – (पुल्लिंग षष्ठी विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) भवत्या
(ii) येषाम्

प्रश्ना 3.
(i) इदम् – (स्त्रीलिंग द्वितीया विभक्ति बहुवचन)
(ii) एतत् – (पुल्लिग पंचमी विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) इमाः
(ii) एतस्मात्

प्रश्ना 4.
(i) भवत् – (तृतीया विभक्ति द्विवचन)
(ii) किम् – (पुल्लिंग षष्ठी विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) भवद्भ्याम्
(ii) कस्य

प्रश्ना 5.
(i) सर्व – (स्त्रीलिंग चतुर्थी विभक्ति एकवचन)
(ii) किम् -(नपुंसकलिंग सप्तमी विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) सर्वस्यैः
(ii) केषु

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 6.
(i) युष्मद् – (द्वितीया विभक्ति बहुवचन)
(ii) एतत् – (नपुंसकलिंग सप्तमी विभक्ति द्विवचन)
उत्तर:
(i) युष्मान्
(ii) एतयोः

प्रश्ना 7.
(i) सर्व – (नपुंसकलिंग चतुर्थी विभक्ति द्विवचन)
(ii) किम् – (स्त्रीलिंग पंचमी विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) सर्वाभ्याम्
(i) काभ्यः

प्रश्ना 8.
(i) इदम् – (पुल्लिग प्रथमा विभक्ति बहुवचन)
(ii) यत् – (स्त्रीलिंग पंचमी विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) इमे
(ii) याभ्यः

प्रश्ना 9.
(i) इदम् – (नपुंसकलिंग तृतीया विभक्ति बहुवचन)
(ii) तत् – (पुल्लिग षष्ठी विभक्ति एकवचन)
उत्तर:
(i) एभिः
(ii) तस्य

प्रश्ना 10.
(i) अस्मद् – (चतुर्थी विभक्ति एकवचन)
(ii) एतत् – (स्त्रीलिंग सप्तमी विभक्ति बहुवचन)
उत्तर:
(i) मह्यम्
(ii) एतासु।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

अभ्यासः – 2

मञ्जूषात् सर्वनामपदानि चित्वा रिक्तस्थानानि पूरयत
1. सा, अहम्, ते, यूयम्।

(अ) …………..कि विद्यालयं गच्छथ।
(ब) …………प्रतिदिनं पाठं पठामि।
(स) ………….बालिका अस्ति।
(द) …………बालकाः क्रीडन्ति।
उत्तर:
(अ) यूयम्
(ब) अहम्
(स) सा
(द) ते।

2. यः, आवां, तेभ्यः, त्वं

(अ) ……………. विद्यालयम् गच्छावः।
(ब) ………….. किं करोषि।
(स) पिता ………….. किं ददाति।
(द) …………… परिश्रमं करोति सः सफलं भवति।
उत्तर:
(अ) आवां
(ब) त्वं
(स) तेभ्यः
(द) यः।

3. युस्माकं, अयम्, तयोः एतेषां

(अ) ……………. एको विद्यालयः अस्ति।
(ब) ……………. कृषकाणाम् सम्पत्ति विनष्टा।
(स) अद्य ………….. अग्नि-परीक्षा भविष्यति।
(द) ………… उभयोः मध्ये अद्य वाद-विवादो भविष्यति।
उत्तर:
(अ) अयम्
(ब) एतेषां
(स) युस्माकम्
(द) तयोः

4. अस्माकं, वयं, अस्य, त्वम्

(अ) ……………. अभ्यासपुस्तके उत्तराणि लिखसि।
(ब) सर्वेजना …………… भवनस्य विशालतां रमणीयतां च प्रशंसन्ति।
(स) ………….. सर्वे मिलित्वा देशस्य रक्षणकार्यं करणीयम्।
(द) …………… दूरदर्शनम् सत्यं शिवं सुन्दरं प्रस्तौति।।
उत्तर:
(अ) त्वम्
(ब) अस्य
(स) वयं
(द) अस्माकं।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

5. वयं, भवान्, तेन, सः

(अ) अत्रान्तरे ………….. रामनाथपुरं प्रस्थितवान।
(ब) ……….प्रेरिताः सर्वे नेतारः।
(स) अतः ………….. अवश्यमेव राजस्थानम् आगच्छतु।
(द) ……..कन्दुकेन क्रीडामः।
उत्तर:
(अ) सः
(ब) तेन
(स) भवान्
(द) वयं।

अभ्यासः – 3

प्रश्ना 1.
“तस्य मन्त्री चाणक्यः तपोधनः राजतन्त्रज्ञः च आसीत्।” अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) मन्त्री
(ख) तस्य
(ग) चाणक्यः
(घ) तपोधनः।
उत्तर:
(ख) तस्य

प्रश्ना 2.
भोः तिष्ठतु भवान्। अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) भोः
(ख) तिष्ठतु
(ग) भवान्
(घ) सिंहः।
उत्तर:
(ग) भवान्

प्रश्ना 3.
“कृपया वदतु, अस्माकं भारते गणित विषये किं प्रमुखं कार्यम् अभवत्?” अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) कृपया
(ख) प्रमुखं
(ग) अस्माकं
(घ) कार्यम्।
उत्तर:
(ग) अस्माकं

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 4.
“चिकित्सालये स्वच्छतायाः सर्वेषाम् दायित्वम्” अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) चिकित्सालये
(ख) स्वच्छतायाः
(ग) सर्वेषाम्
(घ) दायित्वम्।
उत्तर:
(ग) सर्वेषाम्

प्रश्ना 5.
“अहम् एव मार्जयामि।” अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) एव
(ख) मार्जयामि
(ग) अहम्
(घ) क ख उभयोः एव।
उत्तर:
(ग) अहम्

प्रश्ना 6.
अस्माकं प्रधानाचार्य अपि स्वगृहे कार्याणि करोति। अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) प्रधानाचार्य
(ख) स्वगृहे
(ग) अस्माकं
(घ) करोति।
उत्तर:
(ग) अस्माकं

प्रश्ना 7.
‘सर्वे प्रणमन्ति, प्रणमावः पितामह!’ अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) प्रणमन्ति
(ख) प्रणमावः
(ग) सर्वे
(घ) पितामह।
(ग) सर्वे

प्रश्ना 8.
सः चतुरः क्रोधितः सम्भूय अकथयत्। अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) चतुरः
(ख) क्रोधितः
(ग) सः
(घ) सम्भूय।
उत्तर:
(ग) सः

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 9.
तयोः पार्वे एकं कम्बलम् एका च महिषी आसीत्। अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) पार्वे
(ख) कम्बलम्
(ग) तयोः
(घ) एकम्।
उत्तर:
(ग) तयोः

प्रश्ना 10.
एषा बाला विद्यालयात् गृहं गच्छति। अस्मिन् वाक्ये सर्वनाम पदं किम्?
(क) एषा
(ख) बाला
(ग) गृहं
(घ) गच्छति।
उत्तर:
(क) एषा

(iii) धातु-रूप प्रकरण

(क) परस्मैपदी धातु रूप
(1) भू -भव् धातु (होना) लट्लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 31
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 32

नोट – पठ् (पढ़ना), क्रीड् (खेलना), वद् (बोलना),जीव् (जीना), पत् (गिरना), खाद् (खाना) आदि धातुओं के रूप भी पाँचों लकारों में भू धातु के समान ही बनते हैं।

2. गम्-गच्छ (जाना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 33

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

3. दृश्-पश्य् (देखना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 34
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 35

4. यच्छ (देना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 36

5. प्रच्छ् – पृच्छ् (पूछना) धातु, लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 37
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 38

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

6. कृ (करना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 39

7. अस् (होना) धातु, लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 40

8. कथ् – कथय (कहना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 41
विधिलिङ् लकार (प्रेरणार्थक, ‘चाहिए’ के अर्थ में)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 42

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

9. शक् (सकना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 43

10. इष् – इच्छ् (इच्छा करना) लट् लकार
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 44
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 45

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

(ख) आत्मनेपदी धातु रूप

(1) सेव् (सेवा करना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 46

(2) रुच् (अच्छा लगना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 47
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 48

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

(3) याच् (माँगना) धातु लट् लकार (वर्तमान काल)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण 49

अभ्यासः – 1

निर्देशानुसारं धातु-रूपं लिखत
(निर्देशानुसार धातु-रूप लिखिए-)

प्रश्ना 1.
(i) भू (लोट् लकार मध्यम पुरुष बहुवचन)
(ii) पठ् (लट् लकार उत्तम पुरुष एकवचन)
उत्तर:
(i) भवत
(ii) पठामि

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 2.
(i) अस् (लङ् लकार प्रथम पुरुष द्विवचन)
(ii) तुद् (विधिलिङ् लकार प्रथम पुरुष बहुवचन)
उत्तर:
(i) आस्ताम्
(ii) तुदेयुः

प्रश्ना 3.
(i) कथ् (लृट् लकार उत्तम पुरुष बहुवचन)
(ii) वस् (लोट् लकार प्रथम पुरुष एकवचन)
उत्तर:
(i) कथयिष्यामः
(ii) वसतु

प्रश्ना 4.
(i) दृश् (लट् लकार मध्यम पुरुष एकवचन)
(ii) मिल् (लङ् लकार उत्तम पुरुष बहुवचन)
उत्तर:
(i) पश्यसि
(ii) अमिलाम

प्रश्ना 5.
(i) पत् (लोट् लकार प्रथम पुरुष द्विवचन)
(ii) स्पृश् (लृट् लकार मध्यम पुरुष एकवचन)
उत्तर:
(i) पतताम्
(ii) स्प्रक्ष्यसि

प्रश्ना 6.
(i) गम् (विधिलिङ् लकार उत्तम पुरुष द्विवचन)
(ii) चिन्त् (लट् लकार मध्यम पुरुष द्विवचन)
उत्तर:
(i) गच्छेव
(ii) चिन्तयथः

प्रश्ना 7.
(i) यच्छ् (लङ् लकार उत्तम पुरुष द्विवचन)
(ii) वह् (लोट् लकार प्रथम पुरुष बहुवचन)
उत्तर:
(i) अयच्छाव
(ii) वहन्तु

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 8.
(i) गम् (लृट् लकार मध्यम पुरुष द्विवचन)
(ii) सेव् (लट् लकार मध्यम पुरुष बहुवचन)
उत्तर:
(i) गमिष्यथ:
(ii) सेवध्वे

प्रश्ना 9.
(i) वद् (लङ् लकार उत्तम पुरुष एकवचन)
(ii) श्रु (लोट् लकार प्रथम पुरुष एकवचन)
उत्तर:
(i) अवदम्
(ii) शृणोतु

प्रश्ना 10.
(i) कृ (विधिलिङ् लकार उत्तम पुरुष एकवचन)
(ii) नी (लट् लकार प्रथम पुरुष बहुवचन)
उत्तर:
(i) कुर्याम्।

अभ्यासः – 2

प्रश्ना 1.
‘कृ’ धातोः विधिलिङ्लकार-उत्तमपुरुष-एकवचने रूपं भविष्यति
(अ) कुर्याम्
(ब) कुरुत
(स) करोति
(द) कुर्वन्ति
उत्तर:
(अ) कुर्याम्

प्रश्ना 2.
‘गम्’ धातोः लुट्लकार-मध्यमपुरुष-द्विवचने रूपं भविष्यति
(अ) गमिष्यति
(ब) गमिष्यथः
(स) गमिष्यामि
(द) गमिष्यन्ति।
उत्तर:
(ब) गमिष्यथः

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

प्रश्ना 3.
‘मिल्’ धातोः लङ्लकार-उत्तमपुरुष-बहुवचने रूपं भविष्यति
(अ) मिलति
(ब) मिलष्यति
(ब) अमिलाम
(द) मिलन्ति
उत्तर:
(ब) अमिलाम

प्रश्ना 4.
‘कथ्’ धातो लुट्लकार-उत्तमपुरुष बहुवचने रूपं भविष्यति
(अ) कथयति
(ब) अकथयत्
(स) कथयतु
(द) कथयिष्यामः
उत्तर:
(द) कथयिष्यामः

प्रश्ना 5.
‘भू’ धातो लोट्लकार-मध्यमपुरुष-बहुवचने रूपं भविष्यति|
(अ) भवत
(ब) भवतु
(स) अभवत्
(द) भवति
उत्तर:
(अ) भवत

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण शब्द-रूप प्रकरण

Leave a Comment