RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

RBSE Solutions for Class 8 Sanskrit

Rajasthan Board RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

दस से अधिक की संख्या संस्कृत में लिखने के लिए एक, दो, तीन आदि का संस्कृत शब्द दश, विंशति, त्रिंशत्, चत्वारिंशत्, पञ्चाशत् आदि से पहले रख दिया जाता है। जैसे छियालीस – छः ऊपर चालीस- इसे संस्कृत में लिखते समय पहले छः की संस्कृत ‘षट्’ लिखेंगे, उसके बाद चालीस की संस्कृत ‘चत्वारिंशत्’ लिखेंगे और मिलकर शब्द बनेगा ‘षट्चत्वारिंशत्’। इसी प्रकार से अन्य शब्दों को भी बनाया जा सकता है।

ध्यातव्य : (1) संस्कृत में संख्या उल्टे क्रम से लिखना शुरू करते हैं जैसे – 88 को लिखना है तो पहले इकाई अंक 8 की संस्कृत ‘अष्ट’ लिखेंगे बाद में 80 को ‘अशीतिः लिखेंगे, दोनों को मिलाकर एक शब्द बनेगा ‘अष्टाशीतिः’। इसी प्रकार 75 (पिचहत्तर) को लिखते समय पहले इकाई अंक 5 को संस्कृत में लिखकर पुनः 70 को संस्कृत में लिखेंगे तो शब्द सामने आयेगा ‘पंचसप्ततिः’।

विद्यार्थी ध्यान रखें संख्या को पहले ऊपर बताए अनुसार बदलें अर्थात् इकाई अंक को पहले तथा दहाई अंक को बाद में लिखें । जैसे-

  1. 88 = उल्टा क्रम – आठ + अस्सी = अष्ट + अशीतिः = अष्टाशीतिः
  2. 75 = उल्टा क्रम – पाँच सत्तर = पंच + सप्ततिः पंचसप्ततिः
  3. 67 = उल्टा क्रम – सात+साठ = सप्त + षष्टिः = सप्तषष्टिः
  4. 31 = उल्टा क्रम – एक+तीस = एक + त्रिंशत् = एकत्रिंशत्

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

संस्कृत में संख्यावाचक शब्द 1 से 100 तक इस प्रकार हैं-

  1. एकः, एका, एकम्
  2. द्वौ, द्वे द्वे
  3. त्रयः, तिस्रः, त्रीणि
  4. चत्वारः, चतस्त्रः, चत्वारि
  5. पञ्च
  6. षट्
  7. सप्त
  8. अष्ट, अष्टौ
  9. नव
  10. दश
  11. एकादश
  12. द्वादश
  13. त्रयोदश
  14. चतुर्दश
  15. पञ्चदश
  16. षोडश
  17. सप्तदश
  18. अष्टादश
  19. नवदश, एकोनविंशतिः
  20. विंशतिः
  21. एकविंशतिः
  22. द्वाविंशतिः
  23. त्रयोविंशतिः
  24. चतुर्विंशतिः
  25. पञ्चविंशतिः
  26. षड्विंशतिः
  27. सप्तविंशतिः
  28. अष्टाविंशतिः
  29. नवविंशतिः, एकोनत्रिंशत्
  30. त्रिंशत्
  31. एकत्रिंशत्
  32. द्वात्रिंशत्
  33. त्रयस्त्रिंशत्
  34. चतुस्त्रिंशत्
  35. पञ्चत्रिंशत्
  36. षट्त्रिंशत्
  37. सप्तत्रिंशत्
  38. अष्टत्रिंशत्
  39. नवत्रिंशत् एकोनचत्वारिंशत्
  40. चत्वारिंशत्
  41. एकचत्वारिंशत्
  42. द्विचत्वारिंशत्, द्वाचत्वारिंशत्
  43. त्रिचत्वारिंशत्, त्रयश्चत्वारिंशत्
  44. चतुश्चत्वारिंशत्
  45. पञ्चचत्वारिंशत्
  46. षट्चत्वारिंशत्
  47. सप्तचत्वारिंशत्
  48. अष्टचत्वारिंशत्
  49. नवचत्वारिंशत्, एकोनपञ्चाशत्
  50. पञ्चाशत्
  51. एकपञ्चाशत्
  52. द्विपञ्चाशत्,
  53. त्रिपञ्चाशत्,
  54. चतुःपञ्चाशत्
  55. पञ्चपञ्चाशत्
  56. षट्पञ्चाशत्
  57. सप्तपञ्चाशत्
  58. अष्टपञ्चाशत्, अष्टापञ्चाशत्
  59. नवपञ्चाशत्, एकोनषष्टिः
  60. षष्टिः
  61. एकषष्टिः
  62. द्विषष्टिः, द्वाषष्टिः
  63. त्रिषष्टिः, त्रयःषष्टिः
  64. चतुष्षष्टिः
  65. पञ्चषष्टिः
  66. षट्षष्टिः
  67. सप्तषष्टिः
  68. अष्टषष्टिः, अष्टाषष्टिः
  69. नवषष्टिः, एकोनसप्ततिः
  70. सप्ततिः
  71. एकसप्ततिः
  72. द्विसप्ततिः, द्वासप्ततिः
  73. त्रिसप्ततिः, त्रयस्सप्ततिः
  74. चतुःसप्ततिः
  75. पंचसप्ततिः
  76. षट्सप्ततिः
  77. सप्तसप्ततिः
  78. अष्टसप्ततिः, अष्टासप्ततिः
  79. नवसप्ततिः, एकोनाशीतिः
  80. अशीतिः
  81. एकाशीतिः
  82. द्वयशीतिः
  83. त्रयशीतिः
  84. चतुरशीतिः
  85. पञ्चाशीतिः द्वापञ्चाशत्
  86. षडशीतिः
  87. सप्ताशीतिः त्रयःपञ्चाशत्
  88. अष्टाशीतिः
  89. नवाशीतिः एकोननवतिः
  90. नवतिः
  91. एकनवतिः
  92. द्विनवतिः, द्वानवतिः
  93. त्रिनवतिः, त्रयोनवतिः
  94. चतुर्नवतिः
  95. पञ्चनवतिः
  96. षष्णनवतिः
  97. सप्तनवतिः
  98. अष्टनवतिः, अष्टानवतिः
  99. नवनवतिः, एकोनशतम्
  100. शतम्

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

शतम् (100) से ऊपर के संख्यावाची शब्द

नियम – (1) ‘शत’ आदि संख्यावाचक शब्दों के साथ लघु संख्या के मिलाने के लिए लघु संख्या के साथ अधिक या ‘उत्तर’ शब्द भी वृहत्तर संख्या के पहले लगा दिया जाता है। यथा- ‘एक सौ पन्द्रह’, यहाँ लघु संख्या ‘पन्द्रह’ है, इसकी संस्कृत है- ‘पञ्चदश’। इसके आगे अधिक लगाकर इसके बाद वृहत्तर (बड़ी संख्या ‘शतम् ‘लगाने से ‘एक सौ पन्द्रह’ की संस्कृत हुई’पञ्चदशाधिकशतम्।

(2) शत्, सहस्र इत्यादि संख्याओं के साथ यदि उनका आधा (50,500 आदि) और साथ हो तो सार्द्ध, चौथाई (25250 आदि) हो तो सपादम् और शत् सहस्र इत्यादि से चौथाई कम हो (75,750 आदि) हो तो पादोन शतम्, पादोन सहस्रम् लिखा जाएगा। यथा – 450 ‘सार्द्ध-शत्चतुष्टयम्’ इसी प्रकार 125 को सपादशतम् लिखते हैं। 175 को ‘पादोन द्विशतम्’ तथा 1750 को ‘पादोन सहस्रद्वयम्’ लिखा जाएगा।

ध्यातव्यः – संस्कृत में संख्या को उल्टे क्रम से लिखना शुरू करते हैं। जैसे – 101 का पहले एक और फिर सौ को लिखेंगे, बीच में ज्यादा का शब्द ‘अधिक’ लिखेंगे। जैसे हमारे बुजुर्ग लोग गिनती बताते थे। 130 को = तीस ज्यादा सौ या तीस ऊपर सौ, 19 को = एक कम बीस, 540 को = चालीस ज्यादा पाँच सौ या चालीस ऊपर पाँच सौ’ यही तरीका संस्कृत का है। जैसे –

  1. 101 = उल्टा क्रम – एक अधिक सौ = एक + अधिक + शतम् = एकाधिकशतम्।
  2. 140 = उल्टा क्रम – चालीस अधिक सौ = चत्वारिंशत् + अधिक + शतम् = चत्वारिंशतधिकशतम्।।
  3. 165 = उल्टा क्रम – पाँच साठ अधिक सौ = पंचषष्टिः + अधिक + शतम् = पंचषष्टिः अधिकशतम्।
  4. 1965 = उल्टा क्रम – पाँच साठ अधिक एक कम बीस सौ = पंच षष्टिः + अधिक + एकोनविंशति शतम् = पंचषष्टिः अधिकैकोनविंशतिशतम्।

हिन्दी अर्थ सहित संख्यावाची शब्द

शतम् – सौ
खर्वन् – दस अरब
सहस्रम् – हजार
निखर्वन् – खरब
अयुतम् – दस हजार
महापद्म – दस खरब
लक्षम् – लाख
शंकु – नील
प्रयुतम् – दस लाख
जलधि – दस नील
कोटिः – करोड़
अन्त्यम् – पद्म
अर्बुदम् – दस करोड़
मध्यम् – दस पद्म
अब्जम् – अरब
परार्धम् – शंख

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

(i) संख्यावाचक शब्द-रूप

(1) एक (एक) (एकवचनान्त)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 1
नोट – ‘एक’ शब्द के रूप तीनों लिंगों में केवल एकवचन में ही चलते हैं। संख्यावाचक शब्दों के सम्बोधन विभक्ति के रूप नहीं चलते हैं।

(2) द्वि (दो)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 2
नोट – द्वि (दो) शब्द के रूप तीनों लिंगों में केवल द्विवचन में ही चलते हैं।

(3) त्रि (तीन)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 3
नोट – 3 से 18 तक की संख्याओं के रूप केवल बहुवचन में ही चलते हैं।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

(4) चतुर् (चार)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 4

(5) पञ्च (पाँच), (6) षट् (छः), (7) सप्त (सात)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 5
नोट – पञ्च से लेकर दशम् तक के सभी संख्यावाची शब्दों के रूप तीनों लिंगों में समान चलते हैं।

(8) अष्ट (आठ), (9) नव (नौ), (10) दश (दस)
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 6
नोट- ‘दश’ शब्द के रूपों के समान ही ‘एकादश’ (ग्यारह), द्वादर्श’ (बारह), ‘त्रयोदश’ (तेरह), ‘चतुर्दश’ (चौदह), ‘पञ्चदश’ (पन्द्रह), ‘षोडश’ (सोलह), ‘सप्तदश’ (सत्रह) और ‘अष्टादश’ (अठारह) शब्दों के रूप चलते हैं। एकोनविंशति (19) से नवनवति (99) तक के सभी शब्दों के रूप स्त्रीलिंग एकवचन में ही बनते हैं। इकारान्त शब्दों (विंशति और षष्टि) के रूप ‘मति’ की तरह तथा तकारान्त शब्दों (त्रिंशत्, चत्वारिंशत् पञ्चाशत्) के रूप ‘सरित्’ की तरह बनते हैं, जो निम्न प्रकार हैं-
नित्य एकवचनान्त
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 7
नोट – (i) चत्वारिंशत् तथा पंचाशत् के रूप ‘त्रिंशत्’ के समान चलेंगे। सप्तति, अशीति और नवति के रूप ‘विंशति’ के समान चलेंगे।
(ii) शतम्, सहस्रम्, अयुतम्, लक्षम् इत्यादि शब्द नित्य एकवचनान्त ही प्रयुक्त होते हैं। उपर्युक्त संख्यावाची शब्दों के रूप नपुंसकलिंग में होते हैं तथा सातों विभक्तियों में ‘फल’ शब्द के एकवचन की तरह ही चलते हैं।
(iii) कोटि तथा दशकोटि शब्द के रूप स्त्रीलिंग में ‘मति’ शब्द के समान बनेंगे। यथा
‘शत्,’ “सहस्र,’ ‘लक्ष,’ ‘कोटि’ और ‘दसकोटि’ संख्यावाची शब्द
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 8
संख्या जानने के लिए ‘कति’ (कितने) शब्द से प्रश्न बनाया जाता है। अतः विद्यार्थियों की सुविधा के लिए ‘कति’ शब्द के रूप दिए जा रहे हैं-
प्रथमा – कति
पंचमी – कतिभ्यः
द्वितीया – कति
षष्ठी – कतीनाम्
तृतीया – कतिभिः
सप्तमी – कतिषु
चतर्थी – कतिभ्यः

नोट – (i) ‘कति’ के रूप तीनों लिंगों में एक समान चलते हैं।
(ii) कति शब्द के रूप नित्य बहुवचनान्त बनते हैं।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

(ii) क्रमवाची शब्द

त्रिंशत् (तीस), चत्वारिंशत् (चालीस),पंचाशत् (पचास), षष्टिः (साठ), सप्ततिः (सत्तर), अशीतिः (अस्सी), नवतिः (नब्बे) आदि सभी शब्दों में ‘तम’ जोड़ने पर क्रमवाची शब्द बन जाते हैं।

जैसे- त्रिंशत् से त्रिंशत्तम (तीसवाँ), चत्वारिंशत् से चत्वारिंशत्तम (चालीसवाँ), पंचाशत् से पंचाशत्तम (पचासवाँ), षष्टि से षष्टितम (साठवा), सप्तति से सप्ततितम (सत्तरवाँ), अशीति से अशीतितम (अस्सीवा), नवति से नवतितम (नब्बेवाँ), शतम् से शततम (सौवाँ) इत्यादि क्रमवाची शब्द बनते हैं।
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 9
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 10
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 11
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 12
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 13
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 14
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 15
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 16
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 17
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 18
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 19
RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द 20
नोट – क्रमवाचक शब्द पुल्लिंग एवं नपुंसकलिंग में अकारान्त होते हैं, अतः पुल्लिंग में ‘राम’ की तरह तथा नपुंसकलिंग में फल की तरह रूप चलते हैं। स्त्रीलिंग में ‘प्रथमा’, ‘द्वितीया’, ‘तृतीया’ – ये. तीन आकारान्त शब्द ‘लता’ की तरह चलते हैं तथा शेष ‘नदी’ के समान चलते हैं।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

अभ्यासः – 1

अधोलिखितं संख्यावाची क्रमवाची च शब्दान् संस्कृत-भाषायाम् लिखत-
(निम्नलिखित संख्यावाची एवं क्रमवाची शब्दों को संस्कृत भाषा में लिखिए-)

प्रश्न 1.

  1. पैंतालीसवाँ
  2. 93 (तिरानवे)

उत्तर:

  1. पञ्चचत्वारिंशत्तम
  2. त्रयोनवति

प्रश्न 2.

  1. बाईसवाँ
  2. 95 (पिचानवे)

उत्तर:

  1. द्वाविंशतितम
  2. पञ्चनवति

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

प्रश्न 3.

  1. अठारहवाँ
  2. 110 (एक सौ दस)

उत्तर:

  1. अष्टदश
  2. दशाधिकशतम्.

प्रश्न 4.

  1. सत्रहवाँ
  2. 106 (एक सौ छ:)

उत्तर:

  1. सप्तदश
  2. षडधिकशतम्

प्रश्न 5.

  1. तीसवाँ
  2. 81 (इक्यासी)

उत्तर:

  1. त्रिंशत्तम
  2. एकाशीति

प्रश्न 6.

  1. दशवाँ
  2. 70 (सत्तर)

उत्तर:

  1. दशम्
  2. सप्ततिः

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

प्रश्न 7.

  1. पच्चीसवाँ
  2. 67 (सरसठ)

उत्तर:

  1. पंचविंशतितम
  2. सप्तषष्टि

प्रश्न 8.

  1. बत्तीसवाँ
  2. 98 (अठानवें)

उत्तर:

  1. द्वात्रिंशत्तम
  2. अष्टानवति

प्रश्न 9.

  1. छियालीसवाँ
  2. 87 (सतासी)

उत्तर:

  1. षट्चत्वारिंशत्तम
  2. सप्ताशीति

प्रश्न 10.

  1. इक्कीसवाँ
  2. 53 (तिरेपन)

उत्तर:

  1. एकविंशतितम
  2. त्रयःपञ्चाशत्।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

अभ्यासः – 2

प्रश्न 1.
“स्वच्छ भारतम्” पाठस्य क्रमास्ति
(अ) प्रथम
(ब) दशम
(स) पञ्चदशः
(द) एकादशः
उत्तर:
(स) पञ्चदशः

प्रश्न 2.
“ध्येयवाक्यानि” पाठस्य क्रमास्ति
(अ) एकादशः
(ब) दशम
(स) तृतीय
(द) द्वितीय
उत्तर:
(स) तृतीय

प्रश्न 3.
“भारतीय कालगणना” पाठस्य क्रमास्ति
(अ) चतुर्दशः
(ब) अष्टम्
(स) चतुर्थः
(द) पञ्चदशः
उत्तर:
(अ) चतुर्दशः

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

प्रश्न 4.
“सूर्यो न तु तारा” पाठस्य क्रमास्ति
(अ) सप्तम्
(ब) पञ्चदशः
(स) द्वितीय
(द) द्वादशः
उत्तर:
(द) द्वादशः

प्रश्न 5.
“वीराङ्गना हाडीरानी” पाठस्य क्रमास्ति
(अ) प्रथम
(ब) द्वितीय
(स) तृतीय
(द) चतुर्थ
उत्तर:
(द) चतुर्थ

अभ्यासः – 3

प्रश्न 1.
उदाहरणानुसारं क्रमवाची संख्या लिखतउनतीसवीं छात्रा-नवविंशी छात्रा
(क) सैंतीसवीं छात्रा
(ख) चालीसवीं छात्रा।
उत्तर:
(क) सप्तत्रिंशी छात्रा
(ख) चत्वारिंशी छात्रा

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

प्रश्न 2.
उदाहरणानुसारं क्रमवाची संख्या लिखतबाईसवाँ पत्र-द्वाविंशम् पत्रम्
(क) तीसवाँ पत्र
(ख) अड़तीसवाँ पत्र
उत्तर:
(क) त्रिंशम् पत्रम्
(ख) अष्टत्रिंशम् पत्रम्।

प्रश्न 3.
उदाहरणानुसारं क्रमवाची संख्या लिखततेईसवाँ बन्दर-त्रयोविंशः वानरः
(क) छब्बीसवाँ बन्दर
(ख) चौंतीसवाँ बन्दर
उत्तर:
(क) षडविंशः वानरः
(ख) चतुस्त्रिंशः वानरः।

RBSE Class 8 Sanskrit व्याकरण संख्यावाची शब्द

Leave a Comment