RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

RBSE Solutions for Class 7 Hindi

Rajasthan Board RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

प्रश्न 1.
समास की परिभाषा सोदाहरण लिखिए।
उत्तर:
दो अथवा दो से अधिक शब्दों के संयोग से बना एक सार्थक शब्द ‘समास’ कहलाता है। जैसे- रसोईघर (रसोई के लिए घर), राजा-रानी (राजा और रानी) आदि।

RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

प्रश्न 2.
समास के कितने भेद होते हैं? उनके नाम लिखिए।।
उत्तर:
समास के छः भेद होते हैं-

  1. अव्ययीभाव समास
  2. तत्पुरुष समास
  3. कर्मधारय समास
  4. द्विगु समास
  5. द्वन्द्व समास
  6. बहुव्रीहि समास।

RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

प्रश्न 3.
निम्नलिखित समासों की सोदाहरण परिभाषा लिखिए
(1) अव्ययीभाव
(2) तत्पुरुष
(3) कर्मधारय
(4) द्विगु|
(5) द्वन्द्व
(6) बहुव्रीहि।
उत्तर:
(1) अव्ययीभाव-जिस समास में पहला पद अव्यय और दूसरा पद संज्ञा हो, उसे अव्ययी भाव समास कहते हैं। जैसे-प्रतिदिन (दिन-दिन), यथाविधि (विधि के अनुसार), प्रत्येक, आमरण, निडर आदि।

(2) तत्पुरुष-जिस समास का उत्तर पद अर्थात् बाद वाला पद प्रधान हो तथा पहले पद के साथ लगी विभक्ति का लोप हो, उसे तत्पुरुष समास कहते हैं। जैसे- यशप्राप्त (यश को प्राप्त), ईश्वरप्रदत्त, वाक्युद्ध, विद्यालय, भयभीत, सेनापति, आपबीती आदि।

RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

(3) कर्मधारय-जिस समास में विशेष्य और विशेषण का मेल होता है उसे कर्मधारय समास कहते हैं। जैसे नीलकमल (नीला है जो कमल), पीताम्बर (पीत है जो अम्बर), महापुरुष (महान है जो पुरुष) आदि।

(4) द्विगु समास-जिस समास का पहला पद संख्यावाचक होता है और जिससे समुदाय का बोध होता है, उसे द्विगु समास कहते हैं। जैसे- त्रिलोक (तीन लोकों का समाहार), नवग्रह, चौराहा, नवरत्न आदि।

(5) द्वन्द्व समास-जिस समस्त पद में दोनों पद प्रधान होते हैं, उसे द्वन्द्व समास कहते हैं। जैसे- दिन-रात (दिन और रात), पाप-पुण्य, आटा-दाल, भाई-बहन आदि।

(6) बहुव्रीहि-जिस समस्त पद के दोनों पद अप्रधान हों और जिसके शब्दार्थ के अतिरिक्त सांकेतिक अर्थ ही प्रधान हो, उसे बहुव्रीहि समास कहते हैं। जैसे- दशानन (दश हैं आनन जिसके रावण), लम्बोदर, पीताम्बर, त्रिनेत्र, दिगम्बर आदि।

RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

प्रश्न 4.
दो पदों के मध्य विभक्ति का लोप होता है
(क) द्वन्द्व समास में
(ख) तत्पुरुष समास में
(ग) अव्ययीभाव समास में
(घ) कर्मधारय समास में।
उत्तर:
(ख) तत्पुरुष समास में

प्रश्न 5.
‘चन्द्रमुख’ समास के विग्रह का सही रूप है
(क) चन्द्र-सा मुख
(ख) चन्द्ररूपी मुख।
(ग) चन्द्र का मुख
(घ) चंद्र रूपी मुँह वाली।
उत्तर:
(ख) चन्द्ररूपी मुख।

RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

प्रश्न 6.
‘चरणकमल’ में समास है
(क) अव्ययीभाव
(ख) तत्पुरुष
(ग) द्विगु
(घ) कर्मधारय।
उत्तर:
(घ) कर्मधारय।

प्रश्न 7.
द्वन्द्व समास किसमें है
(क) देश-विदेश
(ख) पंचवटी
(ग) जलमग्न
(घ) अनुष्ट।।
उत्तर:
(क) देश-विदेश

RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

प्रश्न 8.
निम्नलिखित सामासिक पदों का विग्रह कर समास का नाम बताइये।
उत्तर:
कच्ची-मिट्टी = कच्ची है जो मिट्टी (कर्मधारय)
जीवन-निर्वाह = जीवन का निर्वाह (तत्पुरुष)
रात-दिन = रात और दिन (द्वन्द्व समास)
रोजी-रोटी = रोजी और रोटी (द्वन्द्व समास)
यथाशीघ्र = जितना शीघ्र हो सके। (अव्ययीभाव)
घर-घर = प्रत्येक घर। (अव्ययी भाव)
यज्ञशाला = यज्ञ की शाला। (तत्पुरुष)
देश–भक्त = देश का भक्त। (तत्पुरुष)
वनवास = वन में वास। (तत्पुरुष)
सद्धर्म = सत् है जो धर्म। (कर्मधारय)
तिरंगा = तीन रंगों का समूह। (द्विगु समास)
चवन्नी = चार आनों का समूह। (द्विगु समास)
चल-अचल = चल और अचल। (द्वन्द्व)

RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

ऊँच-नीच = ऊँच और नीच। (द्वन्द्व)
चतुर्भुज = चार भुजाओं वाला (विष्णु) (बहुव्रीहि)
त्रिलोचन = तीन हैं लोचन जिसके (शिव)। (बहुव्रीहि)
सप्ताह = सात दिनों का समूह। (द्विगु)
कमलनयन = कमल के समान नयन। (कर्मधारय)
पंचवटी = पाँच वटों का समूह। (द्विगु)
जन्मरोगी = जन्म से रोगी। (तत्पुरुष)
विद्याधन = विद्या रूपी धन। (कर्मधारय)
लेन-देन = लेन और देन। (द्वन्द्व)
दानवीर = दान में वीर। (तत्पुरुष)
आपबीती = आप पर बीती। (तत्पुरुष)
नराधम = नर है जो अधम। (कर्मधारय)

RBSE Class 7 Hindi व्याकरण समास

Leave a Comment